10 Line Shahid Diwas- शहीद दिवस पर निबंध

10 Line Shahid Diwas– देश की आजादी के लिए अपने प्राणों की आहुति देने वाले वीर योद्धाओं की याद में शहीद दिवस हर साल मनाया जाता हैं वैसे तो अनेक वीर योद्धाओं ने स्वतंत्रता संग्राम में शहादत दी है जिसमें प्रमुख भगतसिंह, सुखदेव, राजगुरु, चन्द्र शेखर आजाद इत्यादि शामिल है।

अक़्सर हमें स्कूलों व कॉलेजों में निबंध व भाषण लिखने के लिए दिए जाते है इसलिए आज हम आपको शहीद दिवस पर 10 लाइन में छोटे निबंध प्रदान करें रहे हैं उम्मीद है आपको हमारे द्वारा लिखे गए निबंध पसंद आयगे

10 line Shahid Diwas short essay hindi

औऱ आप भी हमें शहीद दिवस- Shahid Diwas पर 10 लाइन निबंध लिखकर भेज सकते हैं जोकि यूनिक व ओरिजनल होना चाहिए जिसकों हमारी वेबसाइट के माध्यम से हजारों लोग पढ़ेगें इसके लिए हमारे इस फेसबुक पेज पर मैसज करें।

10 Line Shahid Diwas Short Essay Hindi- 1

1. शहीद दिवस उन सपूतों को याद करने का दिन है जिन्होने मातृभूमि की रक्षा के लिये अपने प्राण न्योछावर किये हैं।

2. हमारे देश में शहीद दिवस दो दिन मनाया जाता है पहला 30 जनवरी को और दूसरा 23 मार्च को।

3. 23 मार्च को भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु की कुर्बानी को याद करते हुए शहीद दिवस मनाया जाता है।

4. 30 जनवरी को महात्मा गाँधी की पुण्यतिथि पर भी शहीद दिवस मनाया जाता है।

5. 30 जनवरी 1948 को नत्थू राम गोडसे ने महात्मा गाँधी पर गोली चलाई थी तब से हर वर्ष राजघाट पर उनको श्रद्धांजली देकर याद किया जाता है।

6. 23 मार्च 1931 को भगत सिंह सुखदेव और राजगुरु को फांसी की सज़ा हुई थी इसलिए इस दिन को शहीद दिवस के रूप में मनाया जाता है।

7. इस दिन शहीदों की याद में जगह-जगह भाषण, वार्ताएं, वाद-विवाद आदि आयोजित किये जाते है।

8. इस दिन राष्ट्रपति प्रधानमंत्री और अन्य सभी नेतागण शहीदों की प्रतिमाओं पर फूल मालाएं अर्पित करके उन्हें श्रद्धांजली अर्पित करते है।

9. ऐसे ही अनेको क्रांतिकारियों के बलिदान के कारण ही हम सैंकड़ो वर्षो की गुलामी से आज़ाद हुआ जिनको शहीद दिवस के दिन याद किया जाता है।

10. इस दिन सभी वीरों को श्रद्धांजली देकर उनके प्रति कृतज्ञता और राष्ट्र के प्रति कर्तव्य का निर्वाह करें।

10 Line Shahid Diwas Short Essay Hindi- 2

1. शहीद दिवस हर वर्ष 23 मार्च के दिन मनाया जाता है।

2. आज से 90 साल पहले सन 1931 में इसी दिन भारत माता के तीन लाल भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव ने स्वतंत्रता की बलिवेदी पर अपने प्राणों की आहुति दी थी।

3. भगत सिंह ने केंद्रीय विधान सभा में बम फैंक कर ब्रिटिश साम्राज्य को चुनौती दी थी।

4. उन्हें गिरफ्तार करके उनपर और उनके साथ राजगुरु और सुखदेव पर मुकदमा चलाया गया।

5. फिर 23 मार्च 1931 को उन्हें फाँसी पर लटका दिया गया जबकी उनकी फाँसी की तारीख 24 मार्च तय की गई थी।

6. अंग्रेज सरकार ने 23 मार्च की रात को ही तीनो को फाँसी दे दी और रातो-रात सतलुज के किनारे उनके शव भी जला दिये।

7. उन क्रांतिकारियों के बलिदान का मोल हम जीवन भर श्रद्धांजली देकर भी नही चुका पायेंगे।

8. हाँ, अगर हम उनके अटूट और आत्म निर्भर भारत के सपने को साकार बनाए रखे जिसे वह अपनी आंखो में लेकर इस दुनिया से चले गए तो शायद उनकी आत्मा को शांति मिल सके।

9. हमारे देश में 30 जनवरी को भी शहीद दिवस मनाया जाता है क्योंकि इसी दिन 1948 में नत्थू राम गोडसे ने महात्मा गाँधी की गोली मारकर हत्या की थी।

10. इसलिए 30 जनवरी को हम सत्य अहिंसा की मूर्ति प्रिय बापू को श्रद्धांजली समर्पित करते है।

10 Line Shahid Diwas Short Essay Hindi- 3

1. हमारे देश में शहीद दिवस साल में कई बार मनाया जाता है क्रमशः 13 जुलाई, 17 नवंबर, 19 नवंबर, 21 अक्टूबर, 30 जनवरी और 23 मार्च।

2. 13 जुलाई 1931 को कश्मीर में 22 लोगो को ब्रिटिश सैनिको द्वारा मार दिया गया था।

3. 17 नवंबर 1928 को पंजाब केसरी कहे जाने वाले लाला लाजपत राय शहीद हुए थे।

4. 19 नवंबर को झांसी में रानी लक्ष्मी बाई की याद में शहीद दिवस मनाया जाता है उनका जन्म 19 नवंबर 1828 में हुआ था।

5. 21 अक्टूबर को पुलिस शहीद दिवस मनाया जाता है क्योंकि 1959 में लद्दाख में पुलिस के जवानों ने चीनी सैना के साथ लोहा लेते हुए अपने प्राणों का बलिदान दिया था।

6. 30 जनवरी 1948 को महात्मा गांधी की पुण्यतिथि भी शहीद दिवस के रूप में मनाई जाती है।

7. 23 मार्च को भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव के बलिदान को याद करके पूरे भारत में शहीद दिवस मनाया जाता है।

8. हमारे देश की आज़ादी के लिये न जाने कितने क्रांतिकारियों ने अपने प्राणों की आहुति दी है तब कही जाकर आज हम आज़ादी की हवा में साँस ले रहे है।

9. शहीद दिवस के दिन स्कूलो, कॉलेजों में निबंध और भाषण प्रतियोगिताएं होती है ताकि आज की पीड़ी अवगत हो सके उस पीड़ा से जो उन आज़ादी के दीवानों ने सही थी।

10. आज जरुरी है कि नई पीड़ी मुफ्त में मिली हुई इस स्वतंत्रता का मोल पहचाने और अनेको बलिदानियों के जतन से संवारे इस देश को किसी भी कीमत पर बिखरने से बचाएँ।

10 Line Shahid Diwas Short Essay Hindi- 4

1. हम हर वर्ष शहीद दिवस मनाते है क्योंकि हम इस दिन यह याद करते हैं कि आज हम किनकी बदौलत अपने देश में और दुनिया में सिर उठाकर जी रहे है।

2. वैसे तो हमारे देश में कई बार शहीद दिवस मनाया जाता है परन्तु प्रमुख रूप से हम 23 मार्च को शहीद दिवस मनाते है।

3. यह वह दिन था जब ब्रिटिश सरकार ने अपना खौफ कायम रखने के लिये तीन भड़कते हुए अंगारों को जो उनके हाथ जला रहे थे अपनी शक्तियों से कुचल डाला था यह जलते हुए अंगारे थे भगत सिंह, शिवराम राजगुरु और सुखदेव

4. 17 दिसंबर 1928 को लाहौर में भगत सिंह ने सैंडर्स नामक अंग्रेज पुलिस अफसर की गोली मार कर हत्या कर दी क्योंकि वह लाल लाजपत राय की मौत का जिम्मेदार था।

5. उसके बाद 8 अप्रैल 1929 को ‘पब्लिक सेफ्टी’ और ‘ट्रेड डिस्प्यूट बिल’ के विरोध में केंद्रीए संसद में बम फेंका और अपनी गिरफ्तारी दे दी।

6. अंग्रेज सरकार ने इस मामले में भगत सिंह और उनके साथियों राजगुरु और सुखदेव को फाँसी की सज़ा सुनाने में देर नही लगाई।

7. इतना ही नही क्रांति की धधकती आग को दबाने के लिये उन्होने रातो-रात तीनो को फाँसी पर चढ़ा दिया और सतलुज के किनारे उनका अन्तिम संस्कार कर दिया।

8. परन्तु उनके ऐसा करने से क्रांति की वह आग बुझी नही बल्कि उन शहीदों की इस कुर्बानी ने इस आग में घी का काम किया और आखिर क्रांति की इस भीषण आग ने अंग्रेज शासन का खात्मा कर दिया।

9. इस दिन हर वर्ष शहीदों की प्रतिमाओं पर मालाएं चढ़ा कर और मौन रख सभी देशवासी उनको भावभीनी श्रद्धान्जली अर्पित करते है।

10. आज भी सतलुज के पास हुसैनीवाला बॉर्डर पर बने हुए शहीदी स्मारक पर हर वर्ष शहीद दिवस पर मेला लगता है और लोग दूर-दूर से उस पावन धरती के दर्शन करने आते है।

10 Line Shahid Diwas Short Essay Hindi- 5

1. हमारा देश उन 15 देशों में से एक है जहाँ हर वर्ष देश पर मर मिटने वाले फ़रिश्तों की याद में शहीद दिवस मनाया जाता है।

2. हमारे देश में शहीदों की याद में साल में कई बार शहीद दिवस मनाया जाता है परन्तु मुख्य रूप से 30 जनवरी और 23 मार्च को शहीद दिवस मनाया जाता है।

3. 30 जनवरी 1948 में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की नत्थू राम गोडसे ने गोली मार कर हत्या कर दी थी इसलिए इस दिन को भी शहीद दिवस के रूप में मनाया जाता हैं।

4. इस दिन राजघाट पर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धाँजलि दी जाती है और उनकी स्मृति में प्रार्थना सभाएं और भजन कीर्तन आदि किया जाता है।

5. 23 मार्च को शहीद दिवस तीन क्रांति वीरों भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव की याद में मनाया जाता है।

6. भगत सिंह ने चंद्रशेखर आज़ाद की योजना के अनुसार 8 अप्रैल 1928 को लाला लाजपत राय की हत्या का प्रतिशोध लेने के लिये ब्रिटिश पुलिस अधिकारी सैंडर्स की हत्या कर दी।

7. फिर उन्होने विधानसभा में बम फैंक कर अपना विरोध ज़ाहिर किया पर उस धमाके में किसी की जान नही गई थी।

8. इसके बाद भगत सिंह राजगुरु और सुखदेव को ब्रिटिश सरकार ने 23 मार्च 1931 की रात को फांसी पर लटका कर मार डाला और उनके शव उनके परिजनों को न देकर सतलुज के किनारे जला दिये।

9. ऐसे ही लाखों क्रांतिकारियों ने भारतमाता को गुलामी की बेडियों से आज़ाद कराने के लिये खून बहाया है और अब हमारा फर्ज है कि जान देकर भी अपनी भारतमाता की शान बनाये रखें।

10. कहते है शहीद कभी मरते नही वो चाहें आज हमारे बीच न हो पर हमारे दिलों में उनके नाम की ज्योति हमेशा जलती रहेगी।

छठ पूजा पर निबंध प्रदूषण समस्या पर निबंध
दीवाली पर निबंध सोशल मीडिया पर निंबध
बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ दहेज पर निबंध
जन्माष्टमी पर निबंध
ग्लोबल वार्मिंग निबंध
रक्षाबंधन पर निबंध
आज का पंचांग देखें
जन्माष्टमी पर निबंध
होली पर निबंध
ओणम पर निबंध
नवरात्रि पर निबंध

तो दोस्तों हमने आपको Shahid Diwas पर 10 लाइन निबंध अलग-अलग प्रकार के लिखे हैं अगर आपको हमारे यह निबंध पसंद आते हैं तो आप अपनी आवश्यकता के अनुसार स्कूलों में इनका इस्तेमाल कर सकते हैं और साथ ही आपको भी इसके बारे में लोगों को अवगत करना चाहिए।

हम उम्मीद करते हैं कि आपको हमारे द्वारा लिखा गया 10 Line Shahid Diwas निबंध काफी पसंद आए होंगे तो अगर आपको हमारा आर्टिकल पसंद आता है तो उसे सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें और अगर आपका कोई सवाल है तो हमे कमेंट करें

हर जानकारी अपनी भाषा हिंदी में सरल शब्दों में प्राप्त करने के हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे जहाँ आपको सही बात पूरी जानकारी के साथ प्रदान की जाती है हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें

मेरा नाम HP Jinjholiya है और इस Blog पर हर रोज नयी पोस्ट अपडेट करता हूँ। उमीद करता हूँ आपको मेरे द्वार लिखी गयी पोस्ट पसंद आयेगी और अगर आप भी हमारे साथ काम करना चाहतें है हमें मेल करें 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.