10 Line Imandari- ईमानदारी पर निबंध

10 Line Imandari – ईमानदारी व्यकितत्व केवल जीवन जीने का ही सही तरीका नहीं है बल्कि ईमानदारी वह गुण है जिसे जीवन मे बड़ी से बड़ी सफलता को प्राप्त किया जा सकता हैं अगर किसी भी कम को पूरी ईमानदारी से किया जा तो सफलता अपने आप चलकर आती हैं इसलिए ईमानदारी महान व्यक्तियों का गुण माना जाता है।

अक़्सर हमें स्कूलों व कॉलेजों में निबंध व भाषण लिखने के लिए दिए जाते है इसलिए आज हम आपको ईमानदारी पर 10 लाइन में छोटे निबंध प्रदान करें रहे हैं उम्मीद है आपको हमारे द्वारा लिखे गए निबंध पसंद आयगे।

10 Line Imandari Honesty short essay hindi

औऱ आप भी हमें ईमानदारी- Imandari पर 10 लाइन निबंध लिखकर भेज सकते हैं जोकि यूनिक व ओरिजनल होना चाहिए जिसकों हमारी वेबसाइट के माध्यम से हजारों लोग पढ़ेगें इसके लिए हमारे इस फेसबुक पेज पर मैसज करें।

10 Line Imandari Short Essay Hindi- पहला

1. ईमानदारी जीवन का सबसे सवश्रेष्ठ गुण है।

2. यदि व्यक्ति केवल ईमानदार रहने का प्रयास करें तो अन्य कई गुण उसमें स्वत: ही आ जाएंगे।

3. जब व्यक्ति अपने जीवन के सभी काम ईमानदारी से करना चाहेगा तो सत्यवादिता और कर्तव्यपरायणता जैसे गुण उसमें अवश्य ही उत्पन्न होंगे।

4. वास्तव में स्वाभिमान और आत्मसम्मान की भावना ही मनुष्य को ईमानदारी से जीवन यापन करने की ओर प्रेरित करती है।

5. यह मानव मात्र का धर्म है कि अपने आचरण में ईमानदारी को शामिल करे।

6. यदि आप ईमानदार है तो आपको सच बोलने की प्रेरणा मिलेगी।

7. सच बोलने वालों के साथ एक अच्छी बात यह होती है कि उन्हें यह याद नही रखना पड़ता कि उन्होनें कब, कहाँ, किससे क्या कहा था?

8. इसलिए उनके दिमाग पर अतिरिक्त बोझ नही पड़ता हैं।

9. जिसका पूरा लाभ शरीर को मिलेगा व दिमाग तरोताज़ा रहेगा और अन्य कामों में अधिक ध्यान लग पायेगा।

10. इस प्रकार ईमानदारी हमारे शरीर और मस्तिष्क को ऊर्जा प्रदान करेगी।


10 Line Imandari Short Essay Hindi- दूसरा

1. ईमानदारी अर्थात शुद्ध हिन्दी में सत्यपरायणता या धर्मपरायणता कहा जाने वाला गुण है।

2. धर्म ही सत्य है और सत्य ही धर्म है अर्थात यह सीधे-सीधे सत्य से जुड़ा हुआ है।

3. सत्य का पालन करने का अर्थ लोग केवल सत्यवादिता समझ लेते है परन्तु इसका अर्थ है मन, कर्म, वचन तीनो में सत्य का पालन करना।

4. मन से सत्य का पालन करना अर्थात अपने मन में कभी किसी के साथ अधर्म करने की इच्छा न करना।

5. कर्म में सत्यपालन अर्थात अपने कर्तव्यों का पूरी निष्ठा से पालन करना।

6. वचन में सत्य पालन का अर्थ है कि जैसा है वैसा ही बोला जाए घुमा-फिरा कर शब्दों में उलझाकर किसी को भ्रमित करना भी असत्य पालन ही कहलायेगा।

7. ईमानदारी अर्थात सत्यनिष्ठा को अपने जीवन में उतारना मनुष्य का परम कर्तव्य है।

8. ईमानदारी की राह से वही लोग भटक सकते है जिनके अन्दर स्वाभिमान नाम का कोई गुण ही न हो।

9. स्वाभिमानी व्यक्ति ही इस गुण के मह्त्व को समझते है और इसको अपने भीतर समाहित करते है।

10. ईमानदारी ही मनुष्य को सही अर्थों में मनुष्य बनाती है।


10 Line Imandari Short Essay Hindi- तीसरा

1. ईमानदारी वह सद्गुण है जिसे अपने अन्दर उत्पन्न करके व्यक्ति हर क्षेत्र में सम्मान प्राप्त करता है।

2. बेईमानी पर चलने वाले लोग समझते है कि छोटी-मोटी बेईमानी करने से कोई फर्क नही पड़ता मगर वह लोग धीरे-धीरे समाज की नज़रों में गिरते चलें जाते है।

3. कुछ लोग ऐसा समझते है कि वह बेईमानी सबसे छुपाके कर रहें है और किसी को नही पता कि वह बेईमान है।

4. लेकिन बेईमान लोगो के हाव-भाव और वाणी से ही लोग उनके बारे में जान जाते है और उनसे दूरी बनाकर रखते है।

5. कहते है कि झूठ के पाँव नही होते इसलिए बेईमान लोग कभी न कभी पकड़े ज़रुर जाते है और फिर जीवन भर लोगो का विश्वास नही जीत पाते हैं।

6. कई बार जल्दी तरक्की करने की चाह में लोग गलत रास्ता पकड़ लेते है और तरक्की की जगह पतन के रास्ते पर चले जाते है।

7. ईमानदारी के रास्ते पर चलने वाले देर से ही सही परन्तु अपनी मंज़िल ज़रुर पाते है।

8. ईमानदारी व्यक्ति के मन को इतना शक्तिशाली बनाती है कि वह हर विपत्ति से लड़ सके।

9. व्यक्ति को स्वयं को इतना कमज़ोर नही बनाना चाहिए कि थोड़ी सी असफलताएं उसे ईमानदारी के रास्ते से डिगा पाएं।

10. हर कठिनाई का सामना करके भी ईमानदारी की राह पर चलना ही सच्चा धर्म है।


10 Line Imandari Short Essay Hindi- चौथा

1. ईमानदारी अर्थात धर्म का पालन ही जीवन सत्य है।

2. धर्म का अर्थ यहाँ किसी मज़हब या अलग-अलग पन्थों से नही है।

3. कुछ हज़ार वर्ष पहले जब कोई भी पंथ, मज़हब अस्तित्व में नही था तब से हमारी संस्कृति में धर्म का अर्थ सत्य और सदाचार के मार्ग पर चलना बताया जाता रहा है।

4. कुछ लोग सत्यवादी बनने का ढोंग करते-करते चुगलखोर बन जाते है और दूसरों के झगड़े करवा देते है, क्या वह सही है?

5. दूसरी ओर कुछ लोग कई बार थोड़ा सा झूठ बोल कर किसी को मुसीबत से बचा लेते है तो क्या वह गलत है?

6. यहाँ मन की भावना महत्वपूर्ण है अगर आप सिर्फ जीभ से सत्य बोल रहे है वह भी किसी को अकारण नुक्सान पहचाने के लिए तो यह धर्म का पालन नही है।

7. जीभ से निकले दो झूठ शब्द अगर किसी निर्दोष को विपत्ति से बचा सकते है तो इसे धर्म का पालन कहा जायेगा।

8. धन आदि के मामले में ईमानदारी न बरतने वाले लोग तो अपने परिजनो का विश्वास भी खो देते है।

9. अपने काम के साथ बेईमानी करने वाले लोग अक्सर जीवन भर वही पाए जाते है जहाँ से उन्होने चलना शुरु किया था।

10. अपने कर्म को पूजा समझ कर जो ईमानदारी से पूरा करते है सफलता उनके कदम चूमती है।


10 Line Imandari Short Essay Hindi- पांचवा

1. जब तक जीवन है तब तक संघर्ष है संघर्ष ही जीवन है औऱ संघर्ष से बचने के लिये ईमानदारी को छोड़ना सच्चे मनुष्य का कर्तव्य नही है।

2. ईमानदारी की राह मतलब सत्य की राह काँटों से भरी है इस पर चलना बच्चों का खेल नही है।

3. इस राह पर हर दिन मुसीबते आपको घेरेंगी, विपत्तियों के पहाड़ भी टूटेंगे।

4. कभी-कभी हौसले भी टूटेंगे, हृदय भी टूटेगा और उत्साह भी छूटेगा।

5. कई बार जब ईमानदारी से काम करने के बावजूद उसका श्रेय कोई और ले जाता है तो लगता है कि क्या फायदा हुआ जीवन भर ईमानदारी को सिर पर ढोते फिरने का।

6. पर ऐसे नाज़ुक वक्त में भी जो लोग स्वयं को परिस्थितियों के हवाले नही करते और अपनी ईमानदारी की टेक कठिनाईयों की अग्नि में स्वाहा नही होने देते वही सच्चा सोना कहलाते है।

7. ऐसा सच्चा सोना ही विपत्तियों की आग में जल कर कुंदन बनता है।

8. बेईमानी को अपना जीने का तरीका बनाने वाले लोग कोयले की तरह होते है जो विपत्तियों की आग में जाते ही राख हो जाया करते है।

9. हमारे धार्मिक ग्रंथों के अनुसार जो मनुष्य धर्म का पालन नही करता वह मनुष्य पशु के ही समान है।

10. धर्म अर्थात सत्याचरण, सदाचार या ईमानदारी इन सब का एक ही अर्थ है।

छठ पूजा पर निबंध प्रदूषण समस्या पर निबंध
दीवाली पर निबंध सोशल मीडिया पर निंबध
बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ दहेज पर निबंध
जन्माष्टमी पर निबंध
ग्लोबल वार्मिंग निबंध
रक्षाबंधन पर निबंध
आज का पंचांग देखें
जन्माष्टमी पर निबंध
होली पर निबंध
ओणम पर निबंध
नवरात्रि पर निबंध

तो दोस्तों हमने आपको Imandari पर 10 लाइन निबंध अलग-अलग प्रकार के लिखे हैं अगर आपको हमारे यह निबंध पसंद आते हैं तो आप अपनी आवश्यकता के अनुसार स्कूलों में इनका इस्तेमाल कर सकते हैं और साथ ही आपको भी इसके बारे में लोगों को अवगत करना चाहिए।

हम उम्मीद करते हैं कि आपको हमारे द्वारा लिखा गया 10 Line Imandari निबंध काफी पसंद आए होंगे तो अगर आपको हमारा आर्टिकल पसंद आता है तो उसे सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें और अगर आपका कोई सवाल है तो हमे कमेंट करें।

हर जानकारी अपनी भाषा हिंदी में सरल शब्दों में प्राप्त करने के हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे जहाँ आपको सही बात पूरी जानकारी के साथ प्रदान की जाती है हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें

मेरा नाम HP Jinjholiya है और इस Blog पर हर रोज नयी पोस्ट अपडेट करता हूँ। उमीद करता हूँ आपको मेरे द्वार लिखी गयी पोस्ट पसंद आयेगी और अगर आप भी हमारे साथ काम करना चाहतें है हमें मेल करें 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.