Hosting मतलब क्या है औऱ कौनसी होस्टिंग ख़रीदे

Hosting Meaning अर्थात होस्टिंग्ग का मतलब क्या होता है यह बहुत लोगो के लिए पहेली सी बन चुकी हैं औऱ खासकर उन्ह लोगों के लिए जो अपना ऑनलाइन बिज़नेस शरू करना चाहते है जिसके लिए एक वेबसाइट की आवश्यकता होती है।

क्योंकि इन्टरनेट पर कोई भी काम वेबसाइट के माध्यम से ही संभव है अब चाहे कोई जानकारी लेनी हो, ऑनलाइन शॉपिंग करनी हो, सरकारी नौकरी के लिए फॉर्म भरना हो इत्यादि बहुत से काम वेबसाइट के जरिये ही संभव हो पाते हैं।

hosting meaning kya hai hindi

किसी भी वेबसाइट को बनाने के लिए दो महत्वपूर्ण चीजों की जरूरत पड़ती हैं 1. होस्टिंग और 2. डोमेन वेबसाइट को बनाने के लिए होस्टिंग का होना बहुत ही जरूरी होता है लेकिन ये Hosting Meaning क्या होता है? वेबसाइट बनाने के लिए होस्टिंग क्यों जरूरी है औऱ कोनसी होस्टिंग ख़रीदे इत्यादि।

आज आपको इन्ह सभी सवालों के जवाब बिल्कुल सरल भाषा मे मिलने वाले हैं और अगर आप एक बार यह आर्टिकल पूरा पढ़ लेते हैं तो फ़िर आपके मन मे Hosting से जुड़ शायद ही कोई सवाल बाकी रहेगा।

Web Hosting की सम्पूर्ण जानकारी

जो लोग वेबसाइट बनाने की सोच रहे होते हैं उनके मन में Web Hosting को लेकर यही सवाल आते हैं ज्यादातर लोगों होस्टिंग के बारे में ज्यादा जानकारी नही होती इसलिए वह गलत होस्टिंग का चुनाव कर लेते हैं जिससे उनकी वेबसाइट ठीक तरह से गूगल पर रैंक नही करती है।

इसीलिए हम आपको वेब होस्टिंग के बारे सम्पूर्ण जानकारी देने जा रहा हैं साथ ही आपको टॉप 3 वेब होस्टिंग के बारे में भी बतायेगें जिससे आप अपनी साईट के लिए सही होस्टिंग का चुनाव कर सके।

Hosting Meaning-होस्टिंग का मतलब क्या है

Hosting का हिंदी में अर्थ होता है “मेजबानी” और मेजबान उसके कहते हैं जो घर पर आये हुए मेहमान का स्वागत सत्कार करता है ठीक उसी प्रकार से Web Hosting का मतलब हैं इन्टरनेट पर मेजबानी करना।

इन्टरनेट पर जो भी यूजर हमारी वेबसाइट को यूज़ करने आता है तो हमे बेस्ट सर्विस प्रोवाइड करनी होती है अगर वह हमारे ब्लॉग/वेबसाइट पर कोई इनफार्मेशन लेने आया है तो हमे अच्छी इनफार्मेशन देनी चाहिए जिससे वह पूरी तरह से setisfied हो सके।

Web Hosting क्या होती हैं

किसी भी वेबसाइट को जब हम देखते हैं तो हमे उसमे बहुत सारा टेक्स्ट, फोटोज और विडियो देखने को मिलते हैं यहाँ तक उसकी खुद वेबसाइट भी कोडिंग की फाइल होती है।

इन सारे डाटा को इन्टरनेट पर लाने के लिए ऐसी जगह पर स्टोर करने की जरूरत होती है जिसे कोई भी यूजर इन्टरनेट के माध्यम से इस डाटा को एक्सेस कर सके औऱ वह जानकारी प्राप्त कर सकें।

सरल शब्दों में जैसे आपके मोबाइल में मेमोरी कार्ड व कंप्यूटर में रोम यानी स्टोरेज होता हैं उसी तरह Web Hosting आपको एक स्पेस व स्टोरेज प्रदान करती है जिसमें आपकी वेबसाइट पर डालने वाले टेक्स्ट, फोटोज और विडियो के लिए स्थान प्रदान करती है।

आप चाहे तो खुद अपने कंप्यूटर को सर्वर बनाकर इन्टरनेट के माध्यम से अपनी वेबसाइट के डाटा को होस्ट कर सकते हैं लेकिन ऐसा करना बहुत ही मुश्किल है और इसके लिए हमे बहुत ज्ञान की भी जरूरत होती है।

साथ ही रख रखाव और मेंटिनेंस की भी बहुत जरूरत होती है खुद के कंप्यूटर से वेबसाइट को होस्ट करने में सबसे बड़ी प्रॉब्लम है की अगर आपका सिस्टम बंद हो गया तो कोई भी यूजर आपकी वेबसाइट को एक्सेस ही नही कर पायेगा।

वेबसाइट को होस्ट करने के लिए बहुत सी ऐसी कंपनी है जो पैसे लेकर आपकी वेबसाइट को होस्ट करती है इन कंपनियों के सर्वर बहुत पावरफुल होते हैं जिससे आपकी साईट कभी भी बंद नही होती है और यूजर भी आपकी वेबसाइट या ब्लॉग को आसानी से एक्सेस कर सकता है।

Web Hosting कैसे काम करती है

Web Hosting का काम हमारे डाटा को इन्टरनेट पर लाना होता है जिससे कोई भी यूजर हमारी वेबसाइट को एक्सेस कर सके और हमारे कंटेंट को देख सके, हमारी वेबसाइट को इस्तेमाल करके सके..

किसी भी वेबसाइट को बनाने के लिए हमे उस वेबसाइट के नाम यानि डोमेन नेम को वेब होस्टिंग के सर्वर से कनेक्ट करना होता हैं जिससे हमारी वेबसाइट बन जाती है और वेबसाइट का यूआरएल मिल जाता है।

किसी भी वेबसाइट को एक्सेस करने के लिए हमे उस वेबसाइट का यूआरएल पता होना चाहिए यूआरएल उस वेबसाइट का पता होता है जब यूआरएल हम किसी वेब ब्राउज़र में डालते हैं तो वेब ब्राउज़र इन्टरनेट पर होने की वजह से हमारी वेबसाइट को इन्टरनेट पर खोजता है।

चूँकि हमारी हमारी वेबसाइट का डाटा Web Hosting की वजह से इन्टरनेट पर मौजूद हैं तो वेब ब्राउज़र पर हमारी वेबसाइट लाइव हो जाती है और इस तरह से Web Hosting काम करती है।

Web Hosting Type- होस्टिंग के प्रकार

इन्टरनेट पर कई तरह की वेबसाइट मौजूद है और उनका काम भी अलग-अलग है इसलिए सभी वेबसाइट को किसी एक तरह की होस्टिंग की जरूरत नही पड़ती है बल्कि वेबसाइट के हिसाब से कई तरह की होस्टिंग कंपनियां उपलब्ध करवाती है।

Web Hosting को उनकी परफोर्मेंस, रेट, बैंडविथ, स्पीड आदि के आधार पर भी बांटा गया है इन्टरनेट पर मुख्यता 4 होस्टिंग बहुत पोपुलर हैं जैसे – शेयर्ड, VPS होस्टिंग, डेडिकेटेड होस्टिंग और क्लाउड होस्टिंग।

लेकिन इन सब टाइप्स की होस्टिंग के आलावा होस्टिंग कंपनियां कुछ और टाइप्स की वेब होस्टिंग भी प्रोवाइड करती है जैसे – वर्डप्रेस होस्टिंग, Reseller Hosting, Woocommerce Hosting इत्यादि

एक वेबसाइट या ब्लॉग बनाने के लिए इन सब होस्टिंग में से किस होस्टिंग को कब और क्यों लेना चाहिए ये जानकारी आपको जरूर पता होनी चाहिए जिससे होस्टिंग खरीदते समय आपसे कोई भी गलती न हो तो चलिए बरी-बरी इनके बारे में जानते है।

1. Shared Hosting- यह होस्टिंग उन लोगों के लिए बिल्कुल सही रहेगी जो वेबसाइट या ब्लॉग को बनाना सीख रहे हैं या फिर उनके ब्लॉग या वेबसाइट पर ज्यादा लोग विजिट नही करते हैं व नये है और वेबसाइट बना चाहतें है।

यह होस्टिंग का एक सामान्य रूप हैं और कम पैसे में ही अपनी वेबसाइट को होस्ट कर सकते हैं इंटरनेट पर अलग-अलग कंपनियां शेयर्ड होस्टिंग के लिए अलग-अलग चार्ज करती है।

शेयर्ड वेब होस्टिंग में एक बड़े सर्वर को छोटे-छोटे अकाउंट में बांटा जाता है और एक ही सर्वर में कई वेबसाइट होस्ट की जाती हैं तो अगर आपकी साईट पर ट्रैफिक बहुत बढ़ (एक साथ कई सारे लोगों का आपकी वेबसाइट पर आना) जाता है तो यह सर्वर उस ट्रैफिक को झेल नही पाता है।

और बाकी लोगों की वेबसाइट पर इफ़ेक्ट न पड़े इसलिए वेब होस्टिंग कंपनी आपकी साईट को डाउन कर देती हैं इसलिए यह प्लान उन लोगों को बिलकुल भी नही लेना चाहिए जिनकी वेबसाइट पर अच्छा खासा ट्रैफिक आता है।

2. VPS Hosting- यह होस्टिंग प्लान उनके लिए बिलकुल सही रहेगा जिनकी वेबसाइट में हजारों की संख्या में विजिटर आते हैं VPS hosting का server, Shared Hosting के मुकाबले बहुत पावरफुल होता है लेकिन इसमें भी आपकी साईट किसी बड़े सर्वर के अन्दर कई वेबसाइट के साथ होस्ट की जाती है।

VPS hosting की कीमत भी शेयर्ड होस्टिंग से ज्यादा होती हैं लेकिन इसमें आपको ज्यादा Ram, ज्यादा Storage, Bandwidth और प्रोसेसर की परफोर्मेंस भी अच्छी दी जाती है जिससे वेबसाइट पर जायदा ट्रैफिक आने पर भी सर्वर डाउन नही होता है।

3. Dedicated Server- इसमें आपको एक पूरे सिस्टम का पूरा सर्वर दे दिया जाता है जिसमे सिर्फ आपकी ही वेबसाइट होस्ट होती है और उस सर्वर पर सिर्फ आपका ही अधिकार होता है यह प्लान सबसे महंगा होता है।

यह सर्वर उन लोगो को लेना बहुत सही रहेगा जिनकी वेबसाइट एक बिज़नस वेबसाइट हैं और बहुत फेमस भी अगर वेबसाइट पर हर सेकंड हजारों की संख्या में लोग विजिट भी करते हैं तो Dedicated Server ले सकते हैं।

4. Cloud hosting- किसी वेबसाइट को जब हम किसी सर्वर पर होस्ट करते हैं तो वो सर्वर की लोकेशन सिर्फ एक ही जगह पर होती है जिससे किसी दूर बैठे यूजर को आपकी वेबसाइट को एक्सेस करने में थोडा समय लग सकता है।

मान लीजिये अगर अपने इंडिया का सर्वर लिया है तो अमेरिका, चाइना और जापान से जब कोई यूजर आपकी वेबसाइट को एक्सेस करने की कोशिश करता है तो सर्वर दूर होने की वजह से साईट लोड होने में थोडा टाइम ले लेती है अगर वेबसाइट खुलने में काफी समय लगाती है तो विजिटर आपकी साईट से वापिस चला जाता है।

लेकिन क्लाउड होस्टिंग सर्वर का एक समूह होता है और अलग अलग जगहों पर इसके सर्वर होते हैं जिस पर आपकी वेबसाइट का डेटा सेव होता है इस वजह से अगर कोई अमेरिका का विजिटर आपकी साईट पर विजिट करता है तो उसको आपकी साईट का कंटेंट पास वाले सर्वर से ही मिल जाता है और आपकी साईट बहुत जल्दी लोड हो जाती है।

क्लाउड होस्टिंग में आपकी साईट की स्पीड तो बहुत अच्छी रहती है साथ ही अलग-अलग सर्वर होने की वजह से किसी एक सर्वर को हानि पहुचने पर भी आपकी साईट को कोई प्रॉब्लम फेस नही करनी पड़ती है।

5. WordPress hosting- यह होस्टिंग प्लान उन लोगों के लिए हैं जिनकी वेबसाइट या ब्लॉग वर्डप्रेस पर बना हुआ है इस होस्टिंग प्लान में जो सर्वर मिलता है वो ख़ासतौर पर वर्डप्रेस पर बनी वेबसाइट के लिए ही है और इसको इस तरह से ऑप्टिमाइज़ किया जाता है जिससे वर्डप्रेस वेबसाइट की परफोर्मेंस बहुत ही अच्छी हो जाती है।

इस सर्वर में आपको गुड स्पीड और परफोर्मेंस भी बहुत अच्छी मिलती है लेकिन इसके प्लान शेयर्ड होस्टिंग के मुकाबले थोड़े महंगे होते हैं लेकिन कुछ कंपनियां इस प्लान को शेयर्ड होस्टिंग के प्लान के बराबर प्राइस पर भी देती हैं।

6. Reseller Hosting- यह सर्वर का एक बहुत बड़ा भाग है जिसमे छोटे-छोटे सर्वर होते हैं इस सर्वर को खरीदकर हम अपने क्लाइंट को दोबारा बेच सकते हैं।

बहुत से लोग जो दूसरों के लिए वेबसाइट डिज़ाइन का काम करते हैं वह लोग Reseller Hosting खरीदकर और उसमे अपने क्लाइंट के लिए वेबसाइट बनाकर उसको अच्छे दामों में बेच देते हैं आप चाहे तो छोटे-छोटे सर्वर को भी अलग-अलग लोगों को बेच सकते हैं।

7. Woocommerce Hosting- यह होस्टिंग खास तौर पर उनके लिए हैं जो Woocommerece Plugin और Theme का इस्तेमाल करके ecommerce वेबसाइट बनाते हैं।

Woocommerce theme और pluging की वजह से website का लोड टाइम बहुत बढ़ जाता है और परफोर्मेंस में भी कमी आती है।

Woocommerce Hosting को इस तरह से ऑप्टिमाइज़ किया जाता है जिससे Woocommerce theme और pluging से बनी आपकी ecommerce वेबसाइट की परफोर्मेंस में कोई कमी न आ पाए और उसका लोड टाइम भी कम न होने पाए।

Top 3 Web Hosting इंडिया ब्लॉगर के लिए

अगर आप ब्लॉग्गिंग में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो आपको होस्टिंग का चुनाव ठीक तरह से करना बहुत जरूरी हैं क्योंकि एक ब्लॉगर के लिए बेहतरीन होस्टिंग ही उसके ब्लॉग्गिंग करियर को सक्सेसफुल बनानें में योगदान देती है।

यहाँ हम आपको हिंदी और इंग्लिश ब्लॉगर दोनों के लिए बेस्ट होस्टिंग के बारे में बतायेगें साथ ही यह भी बतायेगें की आपको ये होस्टिंग क्यों लेनी चाहिए जिससे आपको सारी चीजें ठीक तरह से समझ में आ जाये।

Hostgator –

यह कंपनी एक भरोसेमंद कंपनी है और लगभग सभी बड़े ब्लॉगर इसी वेब होस्टिंग को लेने के लिए कहते हैं इस कंपनी के सर्वर इंडिया और अमेरिका में मौजूद हैं।

अगर आप ब्लॉग्गिंग में बिल्कुल नये हैं और ब्लॉग्गिंग करियर की शुरुवात करना चाहते हैं तो इस कंपनी की वेब होस्टिंग को लेना आपके लिए बिलकुल सही रहेगा क्योंकि इसका सपोर्टिंग सिस्टम काफ़ी मदतगार होता है।

यह होस्टिंग उनके लिए भी बिलकुल सही है जिनकी वेबसाइट या ब्लॉग पर अच्छा खासा ट्रैफिक आता है और वह अच्छी खासी इनकम भी कर रहे हैं।

फीचर –

1- यह कंपनी कई तरह की होस्टिंग जैसे Shared Hosting, WordPress Hosting, Cloud Hosting, Reseller Hosting, VPS Hosting, Dedicated Server प्रदान करती है।

2- Hostgrator पर आप Linux और Windows दोनों तरह के सर्वर खरीद सकते हो इसके साथ आप यहाँ पर डोमेन भी खरीद सकते है।

3- यह होस्टिंग कंपनी 24×7 टेक्निकल सपोर्ट, 99.9% Uptime की गारंटी, 45 दिनों में पैसे वापिस गारंटी की सुविधा देती है।

4- अगर आप 1 साल के लिए इस कंपनी का कोई भी होस्टिंग प्लान लेते हैं तो आपको कई बार ऑफर के तहत एक टॉप लेवल डोमेन फ्री में दिया जाता है जिसकी वैलिडिटी एक साल तक की होती है।

5. होस्टिंग को खरीदने के लिए PayU, CCAvenue, Paytm, freecharge, Mobikwik, Cheque, Demand Draft, Direct Deposit जैसे पेमेंट मैथड का इस्तेमाल कर सकते हैं CCAvenue से पेमेंट करने पर आपको UPI एप्प के माध्यम से पेमेंट करने का भी आप्शन मिल जाता है।

प्राइस –

1- शेयर्ड होस्टिंग की बात करें तो इंडिया के सर्वर के तुलना में अमेरिका का सर्वर आपको कम पैसे में मिल जायेगा इंडिया सर्वर के लिए शेयर्ड होस्टिंग आपको 1 साल के लिए 3228 रूपए में मिलेगी जो की 269रूपए/ month के हिसाब से पडती है।

2- जबकि अमेरिका का सर्वर एक साल के लिए 2148 रूपए में मिल जाता है जो की 179 रूपए / Month के हिसाब पड़ता है तो अगर आपके वेबसाइट या ब्लॉग पर आने वाले विजिटर अमेरिका या यूरोप के देशो से हैं तो आपको अमेरिका का सर्वर लेना चाहिए।

3- इस कंपनी के क्लाउड सर्वर की बात करें तो इस कंपनी के क्लाउड सर्वर का बेसिक प्लान भी उपलब्ध हैं।

फायदे –

1- यह एक ऐसी होस्टिंग कंपनी है जो आपको 1, 3 or 6 month तक अपनी वेबसाइट को होस्ट करने की सुविधा देती है तो अगर आपके पास होस्टिंग के लिए ज्यादा बजट नही है तो आप 3 या 6 Month के लिए भी होस्टिंग ले सकते है।

2- इस होस्टिंग कंपनी का सपोर्ट भी काफी अच्छा है और आपको हिंदी में सपोर्ट मिलता है तो अगर आपको इंग्लिश नही आती तो चिंता करने की कोई जरूरत नही है।

3. पेमेंट के लिए UPI, Paytm, freecharge, और डेबिट कार्ड का यूज़ कर सकते है।

Bluehost –

यह एक बहुत ही पोपुलर वेब होस्टिंग कंपनी है बड़े ब्लॉगर इस होस्टिंग की सिफारिश जरूर करते हैं अगर आप अपनी वेबसाइट को लम्बे समय तक चलने वाली एक बढ़िया होस्टिंग चाहते हैं तो इसे आप ले सकते हैं।

फीचर

1- यह कंपनी आपको Shared Hosting, WordPress Hosting, Cloud Hosting, VPS Hosting, Dedicated Server, Woocommerce Hosting प्रदान करती है।

2- यह होस्टिंग कंपनी WordPress.org द्वारा सन 2005 से सिफारिश पर हैं इस कंपनी की होस्टिंग लेने पर आपको एक साल के लिए फ्री डोमेन भी मिल सकता है।

3. Bluehost कंपनी होस्टिंग के साथ Free SSL Certificate, 1 Click wordpress install और 24/7 सपोर्ट, 30 दिन Money Back Guarantee की सुविधा भी देती है।

4. यहाँ पर आपको 24×7 सपोर्ट मिलता है किसी भी प्रकार की जानकारी या टेक्निकल सपोर्ट के लिए कंपनी मोबाइल नंबर और लाइव चैट की सुविधा भी प्रदान करती है।

प्राइस –

1- जब आप इस कंपनी से इंडिया में सर्वर खरीदते हैं तो Bluehost आपसे Shared Web hosting के लिए 299/month के हिसाब से 1 साल के लिए 3588 रूपए तक चार्ज करती हैं जिसमे आपको 1 साल के लिए फ्री टॉप लेवल डोमेन भी मिलता है।

2. लेकिन अगर आप 3 साल के लिए Shared Web hosting लेते हैं तो आपको 199/month के हिसाब से 7164 रूपए चुकाने होंगे।

3. यहाँ पर shared hosting का जो प्लान बताया है यह एक बेसिक प्लान है Shared hosting के और भी प्लान है जिसमे आपको एक साथ अधिक website host करने की सुविधा के साथ और भी सुविधा प्रदान की जाती है।

फायदे –

1- इस होस्टिंग को लेने का सबसे बड़ा फायदा ये हैं की इस होस्टिंग को लेने के बाद आपको किसी और होस्टिंग को लेने की जरूरत नही पड़ेगी अगर आपका ट्रैफिक बढ़ता भी है तो भी आपको चिंता करने की जरूरत नही पड़ेगी।

2- इस होस्टिंग कंपनी का सपोर्ट भी काफी अच्छा है और आपको हिंदी में सपोर्ट मिलता है तो अगर आपको इंग्लिश नही आती तो चिंता करने की कोई जरूरत नही है।

3. होस्टिंग लेते समय अगर आप किसी एक डोमेन के लिए होस्टिंग लेना नही चाहते हैं तो आप “I will Create My Domain leter” पर क्लिक करके सिर्फ होस्टिंग खरीद सकते हैं और बाद आप किसी भी डोमेन को कनेक्ट करके वेबसाइट बना सकते हैं।

4. पेमेंट के लिए PayU की सुविधा दी गयी है और जब आप PayU के माध्यम से पेमेंट करते हैं तो आपको Cards (Debit, Credit), Wallet, Net Banking, Scan and Pay और UPI के माध्यम से भी पेमेंट करके के आप्शन मिल जाते हैं।

5. यह होस्टिंग कंपनी आपको 30 दिन की Refund Policy की सुविधा भी देती है तो अगर आपको इस कंपनी की होस्टिंग आपके मन मुताबिक नही लग रही है तो आप 30 दिन के भीतर अपना फुल पैसा वापिस ले सकते हैं।

3. Siteground –

यह भी एक बहुत पोपुलर वेब होस्टिंग कम्पनी है औऱ बड़े बड़े ब्लॉगर और एफिलिएट मर्केटर इसी वेब होस्टिंग को इस्तेमाल करते हैं अगर आप इंग्लिश वेबसाइट के लिए होस्टिंग को लेने की सोच रहे हैं तो यह बेस्ट वेब होस्टिंग कंपनी है।

यह होस्टिंग कंपनी सपोर्ट के मामले में सभी होस्टिंग कंपनी से सबसे आगे हैं और वेबसाइट में कोई भी प्रॉब्लम होने पर ये तुरंत रेस्पोंस देते हैं।

WordPress.org भी Bluehost और Siteground को लेने का सबसे ज्यादा सुझाव देता है तो अगर आपका बजट ज्यादा हैं और आप लम्बे समय तक किसी वेब होस्टिंग में इन्वेस्ट करना चाहते हैं तो आप siteground का होस्टिंग प्लान ले सकते हैं।

फीचर

1- यह कंपनी आपको Shared Hosting, WordPress Hosting, Cloud Hosting, Woocommerce Hosting प्रदान करती है।

2- इस होस्टिंग को Google Cloud का सपोर्ट दिया गया है जिससे इस कंपनी की होस्टिंग की स्पीड कई गुना बढ़ जाती है इस होस्टिंग कंपनी 99.9% uptime की गारंटी देती है।

3. यह कंपनी अपनी होस्टिंग की कीमत बिलकुल साफ तरह से व्यक्त करती है और कोई भी hidden या एक्स्ट्रा चार्ज नही लेती है इस कंपनी के डेटा सेण्टर USA, UK, Spain और Bulgaria में स्थित हैं।

4. यह कंपनी अपने प्लान में free SSl, Daily Backup, Free CDN, Free Email, Managed WordPress, 30 Day Money Back Guarantee जैसे फीचर देती हैं लेकिन इसके प्लान में आपको फ्री डोमेन नही दिया जाता है।

5. होस्टिंग लेते समय आप जो भी डोमेन का नाम लिखते हो आप अपनी होस्टिंग उसी डोमेन पर ही होस्ट कर सकते है दुसरे डोमेन के लिए दूसरी होस्टिंग खरीदनी होगी।

प्राइस –

1- इस कंपनी का सबसे सस्ता प्लान 6.99$ / Month के हिसाब से एक साल के लिए 83.88$ डॉलर का है जो की इंडियन रूपए के अनुसार 6,181 रूपए होता है।

2- यह प्लान बाकी कंपनी के मुकाबले में दुगने से भी ज्यादा है लेकिन अगर आप इस होस्टिंग को सिर्फ टेस्ट करना चाहते हैं तो आप आप इस प्लान को 12 Month के बजाय 1 month के लिए भी ले सकते हैं।

3- इस कंपनी का बेस्ट प्लान 9.99$/Month का है जिसको आप 1 month या 12 month के लिए ले सकते हैं इस प्लान में आप Unlimited Website host कर सकते हैं।

4- इसके आलावा 9.99$/Month वाल प्लान में आपको 20 GB web Space, 25000 monthly Visitors, Unmetered Traffic, Free SSL, Daily Backup, Free CDN, Free Email, Managed WordPress, Unlimited Databases, 100% renewable energy match और 30-Days Money-Back जैसी सुविधा भी मिलती है।

फायदे –

1- इस कंपनी का 24/7 टेक्निकल सपोर्ट की सुविधा देती है इसका सपोर्ट काफी अच्छा और फ़ास्ट है कंपनी से सपोर्ट लेने के लिए live chat, phone support और helpdesk जैसे विकल्प का यूज़ कर सकते हैं।

2. Google cloud की वजह से इसी स्पीड कई गुना बढ़ जाती है और इसका फायदा आपको मिलता है इसका लोडिंग टाइम काफी अच्छा है और अभी तक सर्वर डाउन की शिकायतें न के बराबर बहुत ही कम देखने को मिली हैं।

3. पेमेंट के लिए एक मात्र International cards का विकल्प दिया गया है तो अगर आपके पास इंटरनेशनल कार्ड नही है तो आप होस्टिंग नही खरीद पाएंगे।

4. यह होस्टिंग कंपनी आपको 30 दिन की Refund Policy की सुविधा भी देती है तो अगर आपको इस कंपनी की होस्टिंग आपके मन मुताबिक नही लग रही है तो आप 30 दिन के भीतर अपना फुल पैसा वापिस ले सकते हैं।

कब-कौनसी Web Hosting इस्तेमाल करें

कई लोग जो ब्लॉग्गिंग में अपना करियर बनाना चाहते हैं और अपना खुद का ब्लॉग बनाकर पैसे कमाना चाहते हैं उनको ये बात पता नही होती की उनको कब कौन सी होस्टिंग लेनी चाहिए जो उनके ब्लोगिंग करियर को आगे लेकर जाएगी।

कई लोग जिनको होस्टिंग के बारे में ज्यादा जानकारी नही होती वह कोई भी होस्टिंग प्लान लेकर अपना ब्लॉग बना लेते हैं और बाद में पछताते हैं।

नये ब्लॉगर जो अपना ब्लॉग बनाने की सोच रहे हैं और आपका बजट ज्यादा नही है तो ज्यादा पैसे खर्च करके बहुत महंगी होस्टिंग लेने की कोई जरूरत नही है आप Hostgator, Bluehost कंपनी से शेयर्ड होस्टिंग का प्लान लेकर अपनी Blogging Journey को शुरू कर सकते हैं।

कुछ समय बाद जब आपके ब्लॉग पर डेली 5000 से 10000 विजिटर आने लगते हैं और आप अपने ब्लॉग से अच्छा खासा पैसा कमाने लग जाते हैं तो आपको अपनी वेब होस्टिंग को अपग्रेड करके VPS सर्वर या Cloud Server ले सकते हैं।

आप चाहे तो अपनी वेबसाइट को Siteground या Bluehost पर माइग्रेट कर सकते हैं इन होस्टिंग कंपनियों की परफोर्मेंस काफी अच्छी होती है और लम्बे समय तक आप अपना ब्लॉग चला सकते है।

लेकिन अगर आपका ब्लॉग बहुत ही ज़्यादा पॉपुलर हो जाता है और डेली लाखों की संख्या में विजिटर आपके ब्लॉग पर आने लगते हैं तो हो सकता है आप इन कंपनियों के प्लान को अपग्रेड कर सकते हैं या फिर आप डेडिकेटेड सर्वर भी ले सकते हैं।

हॉस्टिंग लेने से पहले किन बातों का ध्यान रखें ?

होस्टिंग लेने से पहले कुछ जरूरी बातों का पता होना बहुत जरूरी हैं क्योंकि गलत होस्टिंग का चुनाव आपकी वेबसाइट के लिए बिलकुल भी सही नही रहेगा होस्टिंग लेने से पहले किन बातों का ध्यान रखना है आइये जानते हैं।

1- किसी भी कंपनी से होस्टिंग खरीदने से पहले आपको ये देखना बहुत जरूरी है की वह होस्टिंग कंपनी कितनी पुरानी है क्योंकि नई वेब होस्टिंग कंपनी पर भरोसा करके उसकी होस्टिंग यूज़ करना एक रिस्क भरा काम हो सकता हैं।

2. नई वेब होस्टिंग कंपनी जो ज्यादा पॉपुलर और वास्तविक कंपनी नही है उससे वेब होस्टिंग न ही खरीदे तो आपके लिए सही रहेगा इस तरह की कंपनियों के द्वारा दी गयी सर्विस की कोई गारंटी नही होती हैं।

3. होस्टिंग कंपनियां दो तरह के सर्वर उपलब्ध करवाती है पहला linux और दूसरा विंडोज विंडोज सर्वर linux के मुकाबले महंगे होते हैं जबकि linux एक ओपन सोर्स सर्वर हैं और यह विंडोज के तुलना में सस्ता और अच्छा होता है।

4. होस्टिंग खरीदते समय सर्वर की लोकेशन बहुत मायने रखती है अगर आप इंडिया के रहने वाले हैं तो आपको इंडिया का सर्वर ही लेना चाहिए जिससे इंडिया के विजिटर जब आपकी साईट पर आते हैं तो सर्वर इंडिया में होने की वजह से आपकी साईट को लोड होने में ज्यादा टाइम नही लगता है।

5. वेब होस्टिंग को खरीदते समय अच्छी Ram, SSD Disk Space, Cpanel, SSL सर्टिफिकेट, Bandwidth, UPtime, Daily Backup, Email, Monthly visitor, CDN, वेबसाइट की संख्या जैसी चीजों पर ध्यान देना बहुत जरूरी होता है।

6. किसी वेबसाइट के लिए उसका अपटाइम बहुत मायने रखता है किसी होस्टिंग का अपटाइम कम से कम 99.99% होना ही चाहिए अगर आपने ऐसी कंपनी से होस्टिंग ले ली जिसका सर्वर डाउन रहता है तो आपकी साईट या ब्लॉग की रैंकिंग बहुत कम हो जाएगी।

7. Cpanel से किसी वेबसाइट को मैनेज करना बहुत ही आसान हो जाता है लगभग सभी होस्टिंग कंपनी फ्री में Cpanel देती है तो होस्टिंग लेने से पहले ये जरूर देखे की आपको फ्री में Cpanel दिया गया है या नही।

8. वेबसाइट की RAM और SSD Disk Space जितना ज्यादा होगा उतना ही अच्छी है इससे आपकी साईट बहुत ही कम समय में लोड हो जाती है।

9. वेब होस्टिंग कंपनी का Support बहुत ही अच्छा होना चाहिए और यह 24×7 होना ही चाहिए है जिससे जब कभी भी आपकी साईट में कोई प्रॉब्लम आती है तो आप लाइव सपोर्ट से मदद ले सकते है।

Free vs Paid Hosting में अंतर

कई लोग को फ्री और पेड होस्टिंग में अंतर पता नही होता है और वह लोग ये सोचते हैं की जब हमे ऑनलाइन फ्री होस्टिंग मिल रही है तो हम पैसे देकर होस्टिंग क्यों खरीदे? अगर आप भी यही सोचते हैं तो हम आपको बता दे फ्री और पेड होस्टिंग में बहुत बड़ा अंतर होता है आइये जानते हैं।

1. फ्री वेब होस्टिंग को फ्रॉड कंपनिया चलाती है जो आपका डेटा चुरा लेती हैं जबकि पेड और वास्तविक वेब होस्टिंग कंपनी पर आप पूरा भरोसा कर सकते हैं।

2. कुछ होस्टिंग कंपनी अपना फ्री में प्रचार करने के लिए फ्री होस्टिंग की सर्विस देती हैं और जब आप अपनी वेबसाइट उनके सर्वर पर होस्ट करते हैं तो आपकी साईट के नीचे उनके बैनर दिखाई देते हैं जिस पर आपका कण्ट्रोल नही होता है और फ्री में उनका प्रचार होता है।

3. फ्री होस्टिंग में आपका आपकी साईट पर पूरा कण्ट्रोल नही होता है और आपकी साईट कब डिलीट हो जाये इस बात की कोई गारंटी नही होती है।

4. फ्री वेब होस्टिंग में आपकी साईट सिक्योर नही होती है और किसी वायरस का अटैक होने पर आपकी साईट हैक भी हो सकती है जबकि पेड में आपकी साईट सिक्योर होती है।

6. फ्री होस्टिंग में Cpanel, One click WordPress Installation, वेबसाइट बैकअप और बहुत अच्छे फीचर नही मिलते हैं जिससे वेबसाइट बनाना और मैनेज करना मुश्किल होता है।

7. फ्री वेब होस्टिंग में आपको टेक्निकल सपोर्ट नही मिलता है जिससे जब कभी भी आपकी साईट में कोई प्रॉब्लम आती है या आपकी साईट डाउन होती है तो उस प्रॉब्लम को खुद ही सोल्व करना होगा।

8. वैसे तो Blogspot पर आप फ्री में खुद का ब्लॉग बना सकते हो और यह गूगल का प्रोडक्ट होने की वजह से बहुत भरोसेमंद भी है लेकिन इसमें आपको Customization का ज्यादा आप्शन नही मिलता है और न ही SEO बेनिफिट मिलता है।

वेबसाइट बनाने के लिए जरूरी चीजें क्या हैं

जैसा की हमनें आपको पहले भी बताया है की वेबसाइट बनाने के लिए डोमेन और होस्टिंग का होना बहुत जरूरी होता हैं लेकिन कम्पलीट वेबसाइट के लिए कुछ और चीजों का होना भी बहुत जरूरी होता है।

वेबसाइट बनाने के लिए जब हम डोमेन नेम को वेब होस्टिंग कंपनी के सर्वर से कनेक्ट करते हैं तो हमारी वेबसाइट तो बन जाती है लेकिन यह वेबसाइट सिर्फ एक खाली पड़ी जमीन की तरह होती है जिसकी रजिस्ट्री तो हो चुकी होती है और पता भी मिल चूका होता है लेकिन उसमे न तो कोई घर बना है और न ही खाने सोने, पहनने के लिए कोई व्यवस्था होती है।

जिस तरह हम अपना घर बनाने के लिए ये सोचते हैं की हमारा घर कैसा दिखेगा और उसमे क्या क्या चीजें होंगी इसी तरह हम भी वेबसाइट को बनाने के बाद ये सोचना होता है की हमारी वेबसाइट कैसी दिखेगी और उसमे हम किस तरह का कंटेंट उपलब्ध करवाएंगे।

बहुत से लोग अपनी वेबसाइट को किसी डिज़ाइनर से डिजाईन करवाकर उसकी फाइल को सर्वर पर अपलोड करते हैं और उनकी मनपसंद वेबसाइट बन जाती है लेकिन इसके लिए आपको डिज़ाइनर को अच्छे खासे पैसे भी देने पड़ते हैं।

अगर आपके पास ज्यादा पैसे नही है तो ये काम आप फ्री में कर सकते हैं लगभग सभी वेब होस्टिंग कंपनी Website Building का आप्शन देती हैं जिसकी मदद से आप एक ही क्लिक पर WordPress, Joomla जैसे फ्रेमवर्क की फाइल को अपने सर्वर पर अपलोड करके वेबसाइट बना सकते हैं।

अगर आप wordpress की मदद से वेबसाइट बनाते हैं तो आप Theme और WordPress Plugin का इस्तेमाल करके एक सुन्दर वेबसाइट बना सकते हैं जिसके हजारों वीडियो आपको यूट्यूब पर भी मिल जाते हैं जिनको फॉलो करके आप बहुत आसनी से अपनी पसंद की वेबसाइट तैयार कर सकते है।

तो दोस्तों अगर अपने इस आर्टिकल को पूरा पढ़ लिया हैं तो आपको लगभग Hosting Meaning से लेकर Web Hosting कौनसी और कब ख़रीदे इसकी जानकारी हो गयी होगी।

वैसे तो हमने सभी जानकारी प्रदान करने की कोशिश की है लेकिन फ़िर भी अगर कोई सवाल रह गया है तो आप हमनें कमेंट बॉक्स के माध्यम से पूछ सकते हैं जिसका हम जल्दी से जवाब देने का प्रयास करेगें।

तो उमीद करते है अब आपको Web Hosting की पूरी जानकारी मिल गयी होगी तो अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आता है और इसे आपकों कुछ सीखनें को मिलता है तो इसे अपने उन्ह दोस्तों के साथ जरूर Share करे जो Online Business करना चाहतें है।

हर जानकारी अपनी भाषा हिंदी में सरल शब्दों में प्राप्त करने के हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे जहाँ आपको सही बात पूरी जानकारी के साथ प्रदान की जाती है हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.