Full Form: MBA क्या है सम्पूर्ण जानकारी

आज कल MBA यह शब्द आपको ज्यादा सुने को मिलता हैं क्योंकि आज नव-जवान नौकरी करने की तुलना में अपना बिज़नेस करना ज्यादा पसंद कर रहें हैं जिसे वह अपनी मेहनत औऱ लगन से नई ऊँचाई प्राप्त कर सकें जिसके लिए Full Form MBA क्या हैं औऱ MBA Course की जानकारी होनी चाहिए।

दरसल, जो विद्यार्थी अपने जीवन मे बिज़नेस करना चाहते हैं या फिऱ बिजनेस क्षेत्र में रुचि रखते हैं तो MBA Course कर सकते हैं जिसमें आपकों बिज़नेस से जुड़ीं सभी बातों को सिखाया जाता हैं औऱ जो किसी भी सफ़ल बिजनेसमैन बने के लिए महत्वपूर्ण होता है।

Full Form MBA kya hai hindi

क्योंकि यह एक प्रतिष्ठित कोर्स हैं इसलिए यह एक महंगा कोर्स होता है लेक़िन MBA Course करने के बाद आपको सैलरी पैकेज भी उतना ही बेहतरीन मिलता है इसलिए बहुत सारे विद्यार्थी इसकी और आकर्षित होते हैं साथ ही MBA Course करने के बाद आप अपना ख़ुद का बिज़नेस भी खड़ा कर सकते हैं जिसे आप लाखों-करोड़ों कमा सकते है।

MBA Course की शरुवात पहली बार 19वीं सदी में अमेरिका से हुई है यानी MBA कराने के लिए पहला कॉलेज अमेरिका में बनाया गया था जिसका नाम The Warthon School था परंतु आज हर एक देश से एमबीए कराने के लिए अनगिनत कॉलेजेस उपलब्ध है।

इसलिए अगर आप एमबीए कोर्स करने के बारे में सोच रहे हैं तो सबसे पहले आपको एमबीए कोर्स की सम्पूर्ण जानकारी होनी चाहिए जैसे Full Form MBA क्या हैं औऱ इसके लिए योग्यता क्या होनी चाहिए, एमबीए कैसे-कहाँ से करें इसके अलावा MBA Course करने में कितना खर्च आता है इत्यादि के बारे में विस्तार से जानेगें।

All Heading

MBA Full Form क्या हैं

MBA Full Form यानी एमबीए का पूरा नाम “Master of Business Administration”(मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन) हैं जिसे हिंदी में “व्यवसाय प्रबंध में स्नातकोत्तर” कहते हैं MBA मुख्य रूप से एक बिजनेस और हिसाब से जुड़ा हुआ कोर्स है इसलिए एमबीए वही करता है जिसको बिजनेस क्षेत्र में रुचि होती है।

MBA Full Form

M- Master’s
B- Business
A- Administration

MBA Course क्या है

अगर सरल भाषा में कहें तो MBA एक पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स है जो सामान्य तौर पर ग्रेजुएशन के बाद किया जाता है MBA Course उन्ह विद्यार्थीयों के लिए है जिनको बिजनेस यानी व्यवसाय में रुचि है और वह इस क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं।

लेक़िन कुछ लोगों का माना होता है कि जिन लोगों का कोई फैमिली बिजनेस हैं या फिऱ जो लोग ख़ुद का बिज़नेस करना चाहते है वह लोग बिजनेस में आगे बढ़ सकें और वही लोग इस कोर्स को करने के हकदार हैं।

लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नहीं हैं क्योंकि कोई भी नॉर्मल बच्चा जो बिजनेस क्षेत्र में रुचि रखता हैं वह ग्रेजुएशन यानी BA, BCA, B.Com और BSC इत्यादि में अच्छा स्कोर करके एमबीए यानी मास्टर आफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन कोर्स को सक्सेसफुली कंप्लीट कर सकता है।

MBA आप कई क्षेत्रों में कर सकते हैं जैसे कि रिटेल, फाइनेंस, मार्केटिंग, बैंकिंग, फॉरेन कल्चर इत्यादि। एमबीए 2 साल का कोर्स है और 4 सेमिस्टर होते हैं जिसमें एक सेमिस्टर 6 महीने का होता हैं वैसे तो एमबीए ग्रेजुएशन के बाद ही ज्यादातर स्टूडेंट्स करते हैं लेकिन अगर आप चाहे तो 12वीं के बाद भी इस कोर्स को कर सकते हैं अगर आप लोग इंटर के बाद एमबीए करते हैं तो आपका MBA Course (BBA + MBA) 5 साल में पूरा होगा।

MBA Course के लिए योग्यता

एमबीए कोर्स करने के लिए कम से कम आप का ग्रेजुएट होना आवश्यक है और ग्रेजुएशन में आपका नंबर 50% से कम नहीं होना चाहिए और एक बात कि अगर आप आरक्षित वर्ग से हैं तो आपका नंबर 45% होना पड़ेगा।

इसके अलावा जैसा कि हमने आपको बताया कि आप लोग 12वीं के बाद भी इस कोर्स में प्रवेश कर सकते हैं तो अगर आप लोग 12वीं के बाद इस कोर्स को करना चाहते हैं तो 12वीं में आपके अच्छे खासे नंबर होना आवश्यक है और इस कोर्स को करने के लिए आपको 5 साल का समय लगेगा 3 साल आपको बीबीए उसके बाद 2 साल एमबीए करना पड़ेगा।

MBA में प्रवेश कैसे करें

MBA में एडमिशन के लिए मुख्य रूप से दो प्रक्रियाएं हैं क्योंकि कुछ कॉलेजेस में बिना एंट्रेंस के ही एडमिशन दिया जाता है और कुछ कॉलेजों में एंट्रेंस के माध्यम से एडमिशन लिया जाता हैं इसलिए अगर एक अच्छे कॉलेज से या टॉप कॉलेज से एमबीए करना चाहते है तो आपको एंट्रेंस के माध्यम से एडमिशन प्राप्त करना होता है।

एमबीए के लिए कुछ कॉमन एंट्रेंस टेस्ट है इन में से किसी भी टेस्ट को देने के लिए आपका ग्रेजुएशन में मार्क कम से कम 50% होना चाहिए।

-CAT(कॉमन एंट्रेन्स टेस्ट)
-XAT(जेवियर एडमिशन टेस्ट)
-MAT(मैनेजमेंट एप्टिट्यूड टेस्ट)
-CMAT (कॉमन मैनेजमेंट एंट्रेन्स टेस्ट)
-SNAP( सिम्बायोसिस नेशनल एप्टीट्यूड टेस्ट)
-NMIMS(नरसी मोनजी मैनेजमेंट एप्टीट्यूड टेस्ट) 
-IIFT(इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ फॉरेन ट्रैड एमबीए एंट्रेंस टेस्ट)

तो इस तरह से आप लोग एंट्रेन्स टेस्ट या बिना एंट्रेंस के माध्यम से एमबीए में एडमिशन ले सकते हैं दोनो ही सूरतो में आपको पहले एप्लीकेशन फॉर्म सबमिट करना होगा जो कि आजकल ऑनलाइन ही होता है।

अगर बिना एंट्रेंस के आपका एडमिशन होने वाला है तो फॉर्म भरने के कुछ दिनों बाद निर्धारित डेट पर मेरिट लिस्ट जारी होगी। उस लिस्ट में आपका नाम आना अनिवार्य है अगर आपका नाम उस लिस्ट में आ गया तो समझो आपका एडमिशन हो गया।

MBA Course करने का खर्चा क्या हैं

हर कॉलेज का अपना-अपना फीस स्ट्रक्चर होता है इसलिए हर कॉलेज की फीस अलग-अलग मिलती हैं परंतु यह जरूर कह सकते हैं कि आप जितना अच्छे कॉलेज में जाएंगे आपकी फीस भी उतनी ज्यादा होगी इसीलिए आप अपने बजट के हिसाब से एक अच्छा सा कॉलेज सेलेक्ट करें।

चूँकि एजुकेशन हर साल मंहगा होता जा रहा है इसलिए हम एक अनुमान अगर आपको दे तो 1 लाख से लेकर 25 लाख रुपये से ज्यादा हो सकती हैं जिसे आपका यह कोर्स एक अच्छे कॉलेज में अच्छी तरह से कंप्लीट हो जाएगा यह कम-ज्यादा हो सकता है लेकिन हमने एक ओवरऑल बजट आपको बताया हैं।

MBA Course में कौन-कौन से कोर्स हैं

MBA में आपकों कई प्रकार के अलग-अलग कोर्स मिलते है इसलिए आप अपनी रुचि के मुताबिक किसी एक कोर्स को चुनकर उसकी विशेषज्ञता हासिल कर सकते हैं क्योंकि एमबीए के लिए अच्छे कॉलेज के साथ किसी ऐसे विषय को चुना बहुत जरूरी है जिसमें आपकी रुचि हो साथ ही जिसे आप अपना भविष्य बेहतर बना सकें।

Finance Infrastructure
Marketing Import & Export
Sales Telecom
Human Resources Retail
Operations Oil & Gas
Product IT & Systems
Pharma Forestry
Digital Marketing Business Economics
Entrepreneurship Disaster Management
Advertising Materials Management
NGO Management Hospitality
Supply Chain Public Policy
Project Management Rural Management
Sports Management Business Analytics
Energy & Environment Textile Management
Transport & Logistics Agriculture & Food Business
Healthcare & Hospital International Business

MBA Course सिलेबस और एग्जाम पैटर्न

जैसा कि हमने पहले ही आपको बताया था की एमबीए 2 साल का कोर्स है तो उसमें कुल मिलाकर 4 सेमिस्टर होंगे यानी आपके एग्जाम भी 4 होंगे और यह चारों एग्जाम 6-6 महीने पर होंगे इसलिए अब हम हर सेमिस्टर के सिलेबस के बारे में आपको जानकारी प्रदान कर रहे है।

यहाँ पर आपके पहले सेमिस्टर में 8 Subject और दूसरे सेमिस्टर में 8 Subject होंगे अगर आपको पहला साल पास करना है तो आपको 16 Subjects में से कम से कम 12 Subject को क्लियर करने होंगे नहीं तो आप फेल माने जाएंगे।

MBA First Semester Syllabus
Organizational Behaviour
Marketing Management
Quantitative Methods
Human Resource Management
Managerial Economics
Business Communication
Financial Accounting
Information Technology Management
MBA Second Semester Syllabus
Organization Effectiveness and Change
Management Accounting
Management Science
Operation Management
Economic Environment of Business
Marketing Research
Financial Management
Management of Information System

आपका पहला साल क्लियर होने के बाद आपको 3-6 महीने की समर ट्रेनिंग करवाई जाएगी और उस दौरान आपको अपने लेक्चरर्स के इंस्ट्रक्शन के मुताबिक असाइनमेंट यानी कि प्रोजेक्ट जमा कराना होगा और जब तक आप उस प्रोजेक्ट को जमा नहीं करवाएंगे आपको आगे प्रमोट नहीं किया जाएगा मतलब सेकंड ईयर में एडमिशन नहीं हो पाएगा।

मान लीजिए आपने 12 Subjects को क्लियर करते है और 4 Subjects रह जाते है तो आपको दूसरे साल में एडमिशन तो मिल जाएगा लेकिन आपको थर्ड या फोर्थ सेमिस्टर में अपने यह 4 Subjects को क्लियर करना होगा और अगर आप 10 Subjects में पास हुए और 6 Subjects आपके रह गए तो आपको सब कुछ शुरू से यानी पहले साल से फिर अपनी पढ़ाई शुरू करनी होगी।

MBA Third Semester Syllabus
Business Ethics & Corporate Social Responsibility
Strategic Analysis
Elective Course
Legal Environment of Business
MBA Fourth Semester Syllabus
Project Study
International Business Environmen
Strategic Management
Elective Course

यहाँ तीसरे सेमिस्टर में आपके कुल मिलाकर 8 Subjects होंगे लेकिन थर्ड सेमिस्टर में आपके मूल विषय 3 ही होंगे और 5 इलेक्टिव सब्जेक्ट्स होंगे औऱ सरल भाषा में कहें तो तीसरे सेमिस्टर में जाकर आपको स्पेशलाइजेशन सब्जेक्ट चुनने का मौका मिलेगा।

इस तरह कुल मिलाकर आपके 8 सब्जेक्ट हुए और तीसरे सेमिस्टर के बाद जब आप अपने चौथे सेमिस्टर में प्रवेश करेंगे तब आपको प्रेजेंटेशन वर्क के साथ ज्यादा से ज्यादा जुड़ना पड़ेगा चूँकि चौथे सेमिस्टर में वैसे तो आपके सब्जेक्ट्स तीन ही होंगे लेकिन जो पहला सब्जेक्ट है वह प्रोजेक्ट से जुड़ा हुआ होगा।

साथ ही अपने लेक्चरर्स के इंस्ट्रक्शन मुताबिक प्रोजेक्ट बनाने होंगे और टाइम के अंदर सबमिट कराने होंगे उसके अलावा बाकी 2 सब्जेक्ट्स बचेंगे जिनको कंप्लीट करते हैं तो आपका MBA Course भी पूरा हो जाएगा।

भारत के टॉप MBA College औऱ फ़ीस

अब आप लोगों को यह जानने की उत्सुकता हो रही होगी कि भारत के टॉप एमबीए कॉलेजेस कौन से है तो हम आपको एचआरडी मिनिस्ट्री द्वारा तय की गई रैंकिंग के आधार पर टॉप 10 कॉलेज बता रहे है इन कॉलेजेस में एंट्रेंस के आधार पर एडमिशन लिया जाता है और इनमें एडमिशन लेना उतना आसान नहीं होता क्योंकि इनका कट ऑफ टॉप हर साल काफी हाई जाता है।

1. IIM Bangaluru (Karnatak)
2. IIM Ahmedabad
3. IIM Calcutta
4. IIM Lakhnou
5. IIM Indore
6. IIT Kharagpur(West Bengal)
7. XLRI Jamshedpur
8. IIM Kozhikode
9. IIT Delhi
10. IIT Bombay

MBA के बाद क्या-क्या कर सकते हैं

1. एमबीए करने के बाद अपना खुद का व्यवसाय शुरू कर सकते हैं इसलिए अधिकतर अपने बिज़नेस के लिए MBA Course करते है।

2. एमबीए करने के बाद बैंकिंग क्षेत्र में जा सकते है और एक अच्छा जॉब प्राप्त कर सकते है।

3. आप किसी बड़ी कंपनी में काम कर सकते हैं और धीरे-धीरे उस कंपनी में उच्च पदों तक पहुँच सकते है।

4. एमबीए करने के बाद आप मानव संसाधन प्रबंधन के क्षेत्र में भी अपनी किस्मत आजमा सकते है।

5. विभिन्न सरकारी विभागों में उच्च प्रोफाइल वाली कुछ खास नौकरियां एमबीए कैंडिडेट को ज्यादा तवज्जो प्रदान करती है।

6. अगर आपने आईडी (IT) में स्पेशलाइजेशन किया है तो आप एक तकनीकी सलाहकार तकनीकी सिस्टम मैनेजर और सिस्टम विश्लेषक के रूप में काम कर सकते हैं।

7. इनके अलावा और भी बहुत सारे क्षेत्र ऐसे हैं जिनमें आप एमबीए करने के बाद जा सकते हैं। जैसे कि – बहुराष्ट्रीय कंपनिया, वित्तीय संगठन, उद्योग क्षेत्र, बीमा क्षेत्र, शैक्षिक संस्थान, निर्यात कंपनियां, गैर-लाभकारी संगठन इत्यादि।

हम आपको पांच ऐसे बड़े पद के बारे में बता रहे हैं जिसे MBA करने के बाद आप हासिल कर सकते हैं औऱ इन पदों पर काम करना हर एक एमबीए स्टूडेंट का सपना होता हैं इसलिए आपकों इनके बारे में भी जानकारी होनी चाहिए।

IT Manager (आईटी मैनेजर)
HR Manager (एच आर मैनेजर)
Financial Manager (फाइनेंसियल मैनेजर)
Financial Advisor (फाइनेंसियल एडवाइजर)
Management Analyst (मैनेजमेंट एनालिस्ट)

 MBA करने के बाद सैलरी क्या मिलती हैं

अगर आप एमबीए कर लेते हैं तो शुरुआत में आपकी सालाना सैलरी तीन लाख से शुरू हो सकती है और हाईएस्ट सैलरी की बात करें तो एक एमबीए स्टूडेंट को 25 लाख तक का एनुअल सैलरी पैकेज मिलता है।

एमबीए सालाना सैलरी पैकेज

NGO Manager 5 लाख
Project Manager 13 लाख
Telecom Manager 7 लाख
Risk Manager 10 लाख
Sales Manager 10 लाख
Finance Manager 9.6 लाख
Marketing Manager 10 लाख
Product Manager 15 लाख
Human Resources Manager 4 लाख
Operations Manager 7 लाख
Retail Manager 5 लाख
Materials Manager 6 लाख
Supply Chain Manager 8 लाख
Data Analytics Manager 14 लाख
Digital Marketing Manager 4.5 लाख
Advertising Sales Manager 8.5 लाख
Infrastructure Manager 11 लाख
Transport & Logistics Manager 6 लाख
International Business Manager 9 लाख
Energy & Environment Manager 6 लाख
Import & Export Manager 6 लाख
IT & Systems Manager 7 लाख
Healthcare & Hospital Manager 4 लाख
Public Policy Manager 7 लाख

MBA कैसे करें पूरी जानकारी

Step-1 12वीं कक्षा पास करें

सबसे पहले आपको अपनी 12वीं की परीक्षा को पास करना होगा जिसके लिए आप आर्ट, कॉमर्स या साइंस किसी भी साइड से कर सकते है इसलिए अगर आप MBA Course करना चाहते है तो उसी साइड को चुने जिसे आपको एमबीए की तैयारी और एमबीए में फ़ायदा हो।

Step-2 ग्रेजुएशन अच्छे मार्क्स से करें

आप अपनी ग्रेजुएशन किसी भी तरीके से कर सकते है जैसे BA, BBA, BCA, B.Com और BSC इत्यादि लेक़िन MBA के लिए आपको BBA से ग्रेजुएशन को कम से कम 50% मार्क्स के साथ करनी है तभी आप एमबीए के लिए आवेदन कर पायेंगे।

Step-3 MBA Entrance पास करें

अपनी ग्रेजुएशन करने के बाद आपको MBA Entrance देना पड़ता हैं जिसे की आप इंडिया के बेस्ट एमबीए कॉलेज में एडमिशन प्राप्त कर सकें इसके लिए आपकों CAT, CMAT, XAT, MAT, GMAT इत्यादि जैसे एंट्रेंस को क्लियर करना होता है।

Step-4 MBA Admission ले औऱ एमबीए करें

एमबीए एंट्रेंस के बाद आपकों रैंक के हिसाब अपने एमबीए कॉलेज का चुनाव करना होगा और उसमें एडमिशन के बाद आपको 2 साल की एमबीए की पढ़ाई पूरी करनी पड़ेगी इस प्रकार आप MBA Course कर सकते है।

यह भी पढ़े
>BSC क्या है और फायदे सम्पूर्ण जानकारी
>GDP क्या है और कैसे मापे सम्पूर्ण जानकारी
>भारत मे कितने राज्य और कौन से है जानिये
>Bhagavad Gita-भगवद गीता पढ़े और सफ़ल बने

MBA की तैयारी कैसे करें

MBA एक प्रतिष्ठित कोर्स हैं औऱ अगर आप किसी अच्छे कॉलेज से एमबीए करने का सपना रखते है तो उसके लिए आपको MBA की तैयारी को बेहतर तरीके से करना पर ध्यान देना चाहिए क्योंकि इस लाइन में आपके साथ-साथ हज़ारों-लाखों लोग खड़े हैं तो चलिए जानते है

एमबीए कब करना है

सबसे पहले आप यह तय कर ले कि आपको एमबीए करना कब है यानी आपको अपनी 12वी के बाद एमबीए करना है या ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद इस विषय में आप बिल्कुल भी कंफ्यूज ना हो औऱ अभी से इसके बारे में रणनीति बना ले ताकी आप उसी दिशा में काम कर सकें।

एमबीए कहां करना है

आपके लिए यह तय करना बहुत जरूरी है कि आप किस कॉलेज से अपना एमबीए करना चाहते हैं ताक़ि आप अपने आपको उस प्रतियोगिता के लिए तैयार कर सकें औऱ बेहतर तरीके से तयारी कर सकें।

ग्रेजुएशन फाइनल ईयर से शुरू करें तैयारी

अगर आप ग्रेजुएशन के बाद एमबीए करने का मन बना रहे हैं तो अपने ग्रेजुएशन फाइनल ईयर से ही एंट्रेंस की तैयारी शुरू कर दे क्योंकि बाद में आपको टाइम ज्यादा नहीं मिलेगा और सीमित समय में अगर आप तैयारी पूरी नहीं कर पाए तो आपका साल बर्बाद हो जाएगा इसीलिए आप फाइनल ईयर की पढ़ाई के साथ साथ एंट्रेंस की तैयारी को भी शुरू कर दें।

ऑनलाइन आवेदन का ध्यान रखे

अपनी तैयारी के साथ-साथ आप इस बात का भी बराबर ध्यान रखें के आवेदन कब होने वाला है नहीं तो कही ऐसा ना हो कि आप बैठ रह जाएं और आवेदन की तारीख निकल जाए।

तैयारी में तीव्रता लाएं

एमबीए के लिए आवेदन करने के बाद आपको अपनी तैयारी में तीव्रता और खुद में एक्टिवनेस लाने की जरूरत होगी औऱ रेगुलर न्यूजपेपर पढें, करेंट खबरों से अपडेट रहे औऱ ज्यादा से ज्यादा नॉलेज इकट्ठा करें और इसके लिए आप इंटरनेट, एप्प्स, न्यूजपेपर ग्रुप डिस्कशन इत्यादि की हेल्प ले।

सही किताबों का चयन करें

MBA Entrance देना कोई बच्चों का खेल नहीं है और इस बात को समझते हुए आपको अपनी किताबों का चयन सोच समझ कर करना होगा ताक़ि आप सही दिशा में पढ़ाई करके एमबीए एंट्रेंस को पास कर सकें।

कोचिंग क्लास नोट्स

किताब के साथ साथ आप लोग किसी कोचिंग क्लास के नोट्स भी परचेस कर लीजिए। आपको उन नोट्स से भी काफी हेल्प मिलेगी तैयारी में।

अंग्रेजी न्यूज़ पेपर रेगुलर पढ़े

अपनी इंग्लिश को बेहतर बनाने के लिए आपको रेगुलर अंग्रेजी न्यूजपेपर पढ़ने का आदत डालना चाहिए। इससे आपका वोकेबुलरी मजबूत होगा और इंग्लिश में आप की पकड़ मजबूत होगी जिससे आगे चलकर आपको हेल्प मिलेगी।

मॉक टेस्ट की तैयारी करें

मॉक टेस्ट से आपको अपने तैयारी का अंदाजा लगेगा आपको यह पता चलेगा कि आप किस-किस विषय में कमजोर है फिर आप उस टॉपिक को अच्छे से अध्ययन करके आप अपनी तैयारी को बेहतर बना सकते हैं।

हम उम्मीद करते है की आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा और इसे आपको जरूर मद्त मिली होगी तो अगर आपको हमारा आर्टिकल पसंद आता है तो उसे सोशल मीडिया पर अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें और आप कोई सवाल है तो हमे कमेंट करें

हर जानकारी अपनी भाषा हिंदी में सरल शब्दों में प्राप्त करने के हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे जहाँ आपको सही बात पूरी जानकारी के साथ प्रदान की जाती है हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें

6 COMMENTS

  1. भाई आपने बहुत ही अच्छी जानकारी दी है इससे मेरी ही नहीं बल्कि बहुत सारे लोगो की प्रॉब्लम solve हो गयी है इस तरह की अच्छी जानकारी देने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद भाई

  2. आपका आर्टिकल पढ़कर मुझे बहुत अच्छा लगा. में अक्सर आपके ब्लॉग के न्यू आर्टिकल्स पढ़ता हूं जिससे मुझे बहुत कुछ सीखने को मिला. आपके सभी आर्टिकल से टॉपिक को पूरी तरह से समझने की पूर्ण क्षमता होती है. आप इसी तरह से हमें अपना ज्ञान देते रहे इसके लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद

  3. Mujhe aapke Blog par Guest post ki madat se Ek Backlink chahiye, kya aap free Guest Post Accept Karte hai.

  4. सर आप बहुत अच्छा लिखते है मै आपकी Daily Reader हूँ आप हमेशा बहुत ही ज्ञान वर्धक जानकारिय शेयर करते है …सर आपका बहुत बहुत धन्यवाद !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.