Meaning: Metoo क्या हैं और कैसे शरू हुआ

4.7/5 - (3 votes)

टीवी और अखबारों में अपने #MeToo के बारे में जरूर पढ़ा होगा औऱ अगर आप सोशल मीडिया पर मौजूद है तो आपकों MeToo के बारे में ज़रूर पता होगा जिसने भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया मे तहलका मचा दिया है परंतु बहुत सारे लोगों को MeToo क्या हैं और कैसे शरू हुआ इसकी जानकारी नही हैं।

वैसे तो MeToo एक आम शब्द है लेक़िन जब से इसका इस्तेमाल हैशटैग #MeToo के साथ किया गया है तब से इंटरनेट की दुनिया मे एक आंदोलन का रूप धारण कर चुका हैं इसका इस्तेमाल मुख्य रूप से महिलाओं द्वारा किया जा रहा हैं जिसके जरिये वह अपने आप पर हुए सेक्सुअल हैरसमेंट को बयान कर रही हैं।

Meaning metoo kya hai hindi

इसके द्वारा देश और दुनिया की महिलाओं द्वारा अपने ऊपर हुए सेक्सुअल हैरसमेंट को उज़ागर किया जा रहा है जिसके कारण यह सुर्खियों में बना रहता हैं इसलिए आज हम आपकों MeToo क्या हैं औऱ कैसे इसकी शरुवात हुई इत्यादि के बारे में विस्तार से बताने वाले हैं।

तो अगर आप भी बार-बार MeToo के बारे में सुनते हैं औऱ इसके बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो आपकों इस आर्टिकल को एक बार जरूर पढ़ना चाहिए।

Metoo Movement क्या हैं

“MeToo Movement” महिलाओं पर हुए यौन-उत्पीड़न, शोषण और बलात्कार के ख़िलाफ़ आवाज़ है जिसके द्वारा महिलायें अपने साथ हुए सेक्सुअल हैरसमेंट को बताते हुए उस घटनाओं पर अपनी चुप्पी तोड़ रही हैं जो कभी उनके साथ घट चुकी हैं !

अब वह सभी महिलाये ‘#MeToo’ के जरिये उन घटनाओ को  दुनिया के सामने लाकर उज़ागर कर रही जिसके लिए सोशल मीडिया का इस्तेमाल किया जा रहा है और सालों पुरानी अपने साथ हुए हैरसमेन्ट से समझौता न करते हुए खुद से खुद की लड़ाई लड़ रहीं है !!

वास्तव में Metoo उन महिलाओ द्वारा उजागर किया गया वह मुद्दा है जो कभी न कभी उनके करीबी या अजनबी पुरुषों द्वारा छोटे या गंभीर यौन शोषण, यौन उत्पीड़न की शिकार हुई हैं और वह उस समय अपनी बदनामी की वजह या अन्य किसी वजह से मुँह नहीं खोल पायी थीं।

उनका कहना हैं कि उस  समय उन्हें समझ ही नही आया कि  वे क्या करे? और कुछ  करे भी तो कैसे करे?  लेकिन अब उनके पास उन घटनाओं पर सोशल मिडिया के द्वारा आवाज उठाने का मौका है तो वह खुद को इस उलझन से आजाद करते हुए सभी उन चेहरे को सामने ला रही है जिन्होने उन्हें कभी किसी तरह शारीरिक या मानसिक रूप से शोषित किया !!

MeToo Means -मीटू का मतलब

अगर हम Metoo के हिंदी में अर्थ के बारे में बात करें तो इसका मतलब होता है “मेरे साथ” या “मैं भी” पिछले कुछ सालों में अनेकों महिलाओं ने अपने साथ होने वाली यौन शोषण की घटनाओं को उजागर करने के लिए सोशल मीडिया पर इस हैशटैग का इस्तेमाल किया है।

महिलाएं इस हैशटैग का इस्तेमाल करके सोशल मीडिया पर उनके साथ वर्तमान में अथवा पूर्व में घटित यौन शोषण की घटनाओं को उजागर कर रही है इसलिए वह Metoo वर्ड के साथ # (हैसटैग) लगाकर सोशल मीडिया पर एक साधारण शब्द को अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचा रही हैं

जिन महिलाओं ने इस अभियान में भाग लेकर अपने साथ घटित घटनाओं के बारे में दुनिया के सामने अपनी बात रखी है उन्हें पूरी दुनिया से काफी समर्थन भी प्राप्त हो रहा है तथा उनके आरोपों के बाद आरोपी लोगों की गिरफ्तारी भी हो रही है और उन्हें आरोप साबित होने पर सजा भी दी जा रही है।

मीटू आंदोलन की शुरुआत

Metoo आंदोलन की शुरुआत साल 2006 में हॉलीवुड से हुई थी तथा मीटू आंदोलन की शुरुआत अमेरिका की एक सिविल राइट्स एक्टिविस्ट ने की थी जिनका नाम “तराना वर्क” है परंतु यह साल 2017 के अक्टूबर महीने में मीटू काफी फेमस हुआ क्योंकि अमेरिकन अभिनेत्री “अलीशा मिलानो” ने ट्विटर पर एक ट्वीट किया था।

जिसमें उन्होंने ऐसी महिलाओं को Metoo हैशटैग प्रयोग करने की सलाह दी थी जिनके साथ यौन शोषण की घटनाएं हुई थी और इसी के बाद से ऐसी कई महिलाएं सामने आई जिन्होंने अपने साथ हुई सेक्सुअल हैरेसमेंट की घटनाओं को दुनिया के सामने खुल कर रखा।

साल 2017 के अक्टूबर महीने में Metoo आंदोलन ने हॉलीवुड में काफी जोर पकड़ा और हॉलीवुड के सबसे बड़े प्रड्यूसर “हार्वी विस्टीन” के खिलाफ 20 से अधिक अभिनेत्रियों ने यौन शोषण के आरोप लगाए।

इन सभी अभिनेत्रियों ने अपने बयान में कहा था कि जब उन्होंने “हार्वी विस्टीन” के साथ काम किया था तब उसने उन सभी के साथ उत्पीड़न किया था। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हॉलीवुड की प्रसिद्ध अभिनेत्री “एंजेलिना जोली” और “जीनीश पेट्रोन” ने भी वाइन्सटीन पर यौन शोषण के आरोप लगाए थे इस केस के बाद हॉलीवुड में यौन उत्पीड़न से संबंधित अन्य केस भी सामने आए जिसमें केविन स्पेसी जैसे एक्टर का नाम भी शामिल था।

दुनिया के प्रसिद्ध मीटू केस की जानकारी

MeToo के जरिये दुनिया के बहुत सारे लोगों पर महिलाओं द्वारा गम्भीर आरोप लगाये गये जिसमें बहुत बड़ी हस्तियों शामिल हैं जिनके आरोप है औऱ बहुत बड़ी हस्तियां है जिनपर Metoo के आरोप लगाये गए है जो इस प्रकार है।

डोनाल्ड ट्रंप

इस केस के सबसे बड़े आरोपी में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का नाम भी सामने आया। डोनाल्ड ट्रंप पर जेसिका, लीड्स, समांथा हलवे और रैकल कुमस नाम की तीन महिलाओं ने यौन शोषण के आरोप लगाए हालांकि आरोप लगने के बाद राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इन सभी आरोपों को नकार दिया था।

हार्वी वीनस्टीन

यह हॉलीवुड के एक बड़े प्रोड्यूजर है जिन पर 20 से अधिक महिलाओं ने यौन शोषण का आरोप लगाया है। आपको बता दें कि हॉलीवुड की प्रसिद्ध अभिनेत्री एंजेलिना जोली और जीनीश पेट्रोन ने भी इन पर यौन शोषण का आरोप लगाया था और अदालत ने इन्हें इस मामले में दोषी पाया था और यदि इन पर आरोप साबित हो जाता है तो इन्हें अमेरिकन कानून के अनुसार 25 साल की सजा हो सकती है तथा इन्हें जुर्माना भी भरना पड़ सकता है।

जस्टिन बीबर

साल 2017 में 2 महिलाओं ने सोशल मीडिया के माध्यम से जस्टिन बीबर पर यौन शोषण का आरोप लगाया था हालांकि आरोप लगने के बाद जस्टिन बीबर ने अपनी तरफ से कार्रवाई करते हुए उन दोनों महिलाओं पर एक एक करोड़ का मानहानि का मुकदमा दायर कर दिया था। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जस्टिन बीबर हॉलीवुड के प्रसिद्ध पॉप सिंगर है जो पूरी दुनिया में काफी प्रसिद्ध है।

क्रिस डेलिया

यह हॉलीवुड के प्रसिद्ध कॉमेडियन और अभिनेता है इन पर कई महिलाओं ने सेक्सुअल हैरेसमेंट के आरोप लगाए थे। महिलाओं ने कहा था कि क्रिश डेलिया ने जब वह 16 साल के थे तब उनके साथ यौन शोषण किया था। महिलाओं ने अपने आरोप में कहा था कि क्रिश डेलिया ने उन्हें गंदे मैसेज भेजे थे और उनकी गंदी फोटो ली थी।

स्कॉट कुग्गेलैन

यह न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम के खिलाड़ी है इन पर साल 2015 में एक महिला ने बलात्कार का आरोप लगाया था हालांकि साल 2017 में कोर्ट ने इन्हें सभी आरोपों से बरी कर दिया था परंतु यौन शोषण में इनका नाम आने पर इन्हें कई जगह विरोध का सामना करना पड़ा था।

>Social Media क्या है और फायदे-नुकसान
>दुनिया का सबसे अमीर आदमीं
>भारत के सबसे अमीर आदमीं
>TRP क्या है और कैलकुलेट कैसे करते है
>Sarkari Yojana-सभी योजनाएं की जानकारी

इंडिया में मीटू केस की जानकारी

भारत मे भी Metoo Movement ने काफ़ी ज़ोर पकड़ा था औऱ समय-समय पर Metoo के जरिये आरोपों का सिलसिला लगातार बढ़ता जा रहा हैं अभी तक भारत मे बहुत सारे लोगो पर महिलाओं द्वारा आरोप लगाये जा रहे हैं।

एमजे अकबर

यह भारत के विदेश राज्य मंत्री और पूर्व पत्रकार रह चुके हैं इन पर कई महिलाओं ने यौन शोषण का आरोप लगाया है। आरोप लगाने वाली महिलाओं में प्रिया रामानी और तुषिता मेहता जैसी पत्रकार भी शामिल है। इसके अलावा अन्य 20 महिलाओं ने भी एमजे अकबर पर यौन शोषण का आरोप लगाया है एमजे अकबर को साल 2016 में 5 जुलाई को प्रधानमंत्री मोदी ने कैबिनेट मंत्री नियुक्त किया था।

बॉलीवुड गायक अभिजीत भट्टाचार्य

अभिजीत भट्टाचार्य बॉलीवुड के जाने-माने सिंगर है इन्होंने कई भाषाओं में गाना गाया है। Metoo केस से अभिजीत भट्टाचार्य भी अछूते नहीं रहे इन पर एक फ्लाइट अटेंडेंट ने यौन शोषण का आरोप लगाया था हालांकि अभिजीत भट्टाचार्य ने इन सभी आरोपों को एक सिरे से खारिज कर दिया था। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अभिजीत भट्टाचार्य ने हिंदी भाषा के अलावा अन्य कई भाषाओं में गाना गाया है और इन्हें पद्म पुरस्कार भी प्राप्त है।

विवेक अग्निहोत्री

विवेक अग्निहोत्री बॉलीवुड के जाने माने अभिनेता है इन पर बॉलीवुड की हीरोइन तनुश्री दत्ता ने यौन शोषण का आरोप लगाया है। तनुश्री ने कहा कि साल 2005 में जब वह “चॉकलेट” फिल्म की शूटिंग कर रही थी तब विवेक अग्निहोत्री ने उनके साथ सेक्सुअल हरासमेंट करने की कोशिश की थीं।

चेतन भगत

चेतन भगत भारत के प्रसिद्ध लेखक हैं इन पर भी एक महिला ने यौन शोषण का आरोप लगाया था और बातचीत की रिकॉर्डिंग के स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर शेयर किए थे। यह मामला सामने आने के बाद चेतन भगत ने उस महिला से माफी मांगी थी इसके साथ ही साथ उन्होंने अपनी पत्नी अनुषा से भी माफी मांगी थी।

साजिद खान

साजिद खान बॉलीवुड के प्रसिद्ध फिल्म मेकर है इन पर जनरलिस्ट करिश्मा उपाध्याय, अभिनेत्री सलोनी चोपड़ा और रचेल वाइट ने यौन शोषण का आरोप लगाया था इन तीनों महिलाओं ने साजिद खान पर सेक्सुअल हरासमेंट के साथ-साथ मेंटली हरासमेंट का आरोप भी लगाया था तथा यह आरोप लगने के बाद साजिद खान ने फिल्म “हाउसफुल 4” को छोड़ दिया था।

आलोक नाथ

आलोक नाथ बॉलीवुड के प्रसिद्ध अभिनेता है इन्होंने कई फिल्मों में काम किया है यह 1980 से ही बॉलीवुड में सक्रिय हैं इन्होंने फिल्मों के अलावा कई सीरियलों में भी काम किया है।आलोक नाथ पर राइटर और प्रोड्यूसर विनता नंदा ने रेप का आरोप लगाया था। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यह मामला 19 साल पुराना है और फिलहाल यह मामला कोर्ट में विचाराधीन है।

गौरांग दोषी

गौरांग दोषी बॉलीवुड के जाने-माने प्रडूसर है इन पर अभिनेत्री फ्लोरा सैनी ने यौन शोषण का आरोप लगाया था। फ्लोरा सैनी ने एक फेसबुक पोस्ट के माध्यम से बताया कि साल 2007 में गौरांग दोषी ने उनके साथ गलत हरकत की थी इसके अलावा उनके साथ मारपीट भी की थी।

नाना पाटेकर

नाना पाटेकर बॉलीवुड के जाने-माने अभिनेता है यह काफी सालों से बॉलीवुड में सक्रिय है। अभिनेता होने के साथ-साथ नाना पाटेकर सामाजिक कार्यकर्ता भी है इन पर बॉलीवुड की अभिनेत्री तनुश्री दत्ता ने यौन शोषण का आरोप लगाया था। तनुश्री ने बताया कि 10 साल पहले जब वह फिल्म “होर्न ओके प्लीज” की शूटिंग कर रही थी तब उनके साथ नाना पाटेकर ने गलत हरकत की थी।

विकास बहल

विकास बहल बॉलीवुड के डायरेक्टर हैं फिल्म क्वीन को इन्होंने ही डायरेक्ट किया था इन पर एक महिला कर्मचारी ने यौन शोषण का आरोप लगाया था। आरोप लगाने वाली महिला ने कहा था कि वह विकास की शिकायत करने अनुराग कश्यप के पास गई थी परंतु उन्होंने उस पर कोई कार्यवाही नहीं की।

कैलाश खेर

बॉलीवुड के प्रसिद्ध गायक कैलाश खेर पर महिला गायक सोना महापात्रा ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कैलाश खेर ने बहुत से हिंदी गानों को अपनी आवाज दी है।

अनु मलिक

अनु मलिक बॉलीवुड के प्रसिद्ध म्यूजिक कंपोजर है इसके अलावा इन्होंने कुछ फिल्मों में गाने भी गाए हैं। अनु मलिक पर भी गायिका सोना महापात्रा ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था। सोना महापात्रा ने अनु मलिक को सीरियल प्रिडेटर कहा था जिसका अर्थ होता है लगातार अपराध करने वाला।

सुभाष कुमार

सुभाष कुमार बॉलीवुड के जाने-माने डायरेक्टर है इन्होंने जौली एलएलबी जैसी फिल्में डायरेक्ट की है इन पर भी यौन शोषण का आरोप लग चुका है इन पर अभिनेत्री गीतिका त्यागी ने यौन शोषण का आरोप लगाया था।

मीटू मूवमेंट के क्या फायदे

इस आंदोलन का सबसे बड़ा फायदा यह हुआ है कि इस आंदोलन के जरिए महिलाओं में अपने साथ हुई घटना को उजागर करने का साहस आया है। इस कैंपेन के जरिए महिलाओं के अंदर ताकतवर लोग, पॉलिटिशन और ऑफिस में काम करने वाले लोगों के खिलाफ बिना किसी डर के बोलने की हिम्मत आई।

इस आंदोलन के जरिए ऐसे लोग बेनकाब हुए जो शराफत का चोला पहन कर बैठे थे और जिनकी दुनिया में काफी इज्जत थी इसके अलावा इस कैंपेन के सामने आने के बाद अब यह माना जा रहा है कि कोई भी पुरुष किसी महिला का यौन शोषण करने से पहले सौ बार विचार करेगा।

मीटू मूवमेंट के क्या नुकसान

जैसे हर चीज के फायदे होते हैं वैसे ही उसके नुकसान भी होते हैं अगर हम इस आंदोलन के नुकसान के बारे में बात करें तो इस आंदोलन के द्वारा किसी भी प्रतिष्ठित अथवा आम व्यक्ति को निजी कारणों के कारण बदनाम किया जा सकता है।

इसके अलावा जो महिलाएं किसी व्यक्ति पर मीटू के तहत आरोप लगाती हैं और अगर वह आरोप कोर्ट में साबित नहीं होता है तो वैसी महिलाओं को मानहानि का मुकदमा झेलना पड़ सकता है इसके अलावा इसका सबसे बड़ा नुकसान यह भी है कि जिस व्यक्ति पर भी यह आरोप लगेगा और उस पर केस चलेगा वैसे व्यक्ति को सरकारी नौकरी पाने में दिक्कत हो सकती है।

MeToo का सारांश

Metoo एक ऐसा आंदोलन है जो मुख्य रूप से महिलाओं पर केंद्रित है। मीटू आंदोलन के द्वारा दुनिया भर की महिलाओं ने उनके साथ हुए अत्याचारों को सोशल मीडिया पर सार्वजनिक किया है और अपना दर्द बयां किया है।

पूरी दुनिया में रोजाना कई महिलाओं के साथ घरेलू हिंसा तथा काम की जगह पर यौन शोषण होता है परंतु महिलाएं इसका विरोध नहीं कर पाती हैं वह यही सोचती है कि अगर उन्होंने किसी को भी उनके साथ घटित होने वाली घटनाओं के बारे में बताया तो लोग उन्हें ही इसका दोषी मानेंगे।

इसके अलावा महिलाओं को यह भी डर रहता है कि उनके साथ घटित होने वाले गंदे कामों के बारे में अगर कोई जान जाएगा तो उनके साथ उनके परिवार की भी बदनामी होगी और उनका कैरियर खराब हो जाएगा।

परंतु Metoo आंदोलन के जरिए अब ऐसी महिलाएं खुलकर सामने आ रही हैं और अपनी बात रख रही हैं जिनके साथ कई सालों पहले या वर्तमान में यौन शोषण की घटनाएं हो रही हैं इस आंदोलन के द्वारा पूरी दुनिया से ऐसी कई घटनाएं सामने आई हैं।

तो दोस्तों अब आप समझ चुके होंगे कि Metoo क्या है औऱ यह क्यों इतना सुर्खियों में रहता हैं जिसका प्रमुख कारण हर दिन नये-नये मामलों का सामने आना हैं जिसमें बहुत बड़े लोगों पर आरोप प्रतारोप लगते रहते है।

अगर देखा जाये तो यह एक आंदोलन उन्ह महिलाओं के लिए है जिनपर जबरन या शक्तिशाली व्यक्ति द्वारा अत्यचार किये गए हैं औऱ चूँकि #Metoo द्वारा अभी तक महिलाओं द्वारा ही आरोप लगये जा रहे है इसलिए यह महिलाओं का आंदोलन कहा जा सकता है।

हम उमीद करते है कि यह आर्टिकल पढ़कर आपको इसकी सारी जानकारी मिल गयी होगी औऱ अब इसे आपको अभी अपने उन्ह सभी दोस्तों के साथ Share करना चाहिए जो इसे अनजान हैं तो जागरूकता फैलाएं औऱ अन्याय के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाएं!!

हर जानकारी अपनी भाषा हिंदी में सरल शब्दों में प्राप्त करने के हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे जहाँ आपको सही बात पूरी जानकारी के साथ प्रदान की जाती है हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें

My Name is HP Jinjholiya In 2015, I Started Working as a Blogger on Blogspot After that in 2017 Create NewsMeto.com Now I am a Versatile Professional With Experience in Blogging, Youtuber, Digital Marketing, and Content Writing. I Conduct Thorough Research and Produce High-Quality Content for Our Readers. Every Piece of Content Is Based on My Extensive Expertise and In-Depth Research.

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.