Fastag क्या है और कैसे बनवाते हैं पूरी जानकारी

1 दिसंबर से भारतीय सरकार द्वारा देश मे एक और बहुत बड़ा बदलाव किया जाने वाला हैं जिसके तहत देशभर के सभी नेशनल हाइवे के टोल प्लाजा से गुजरने के लिए सभी चार पहिया वाहनों पर अब फास्टैग लगा अनिवार्य होगा इसलिए आपके लिए यह जानना बहुत जरूरी हो जाता है कि Fastag क्या हैं और Fastag कैसे इस्तेमाल करते है।

और साथ ही जो लोगों 1 दिसंबर 2019 के बाद फास्टैग का इस्तेमाल नही करेगें उनसे दोगुना टोल प्लाजा वसूल किया जाएगा इसलिए अब टोल प्लाजा पर फास्टैग का इस्तेमाल करना अनिवार्य होगा।

what is fastag hindi how to apply fastag online

अक्सर टोल प्लाजा पर वहनों की लंबी-लंबी कतार देखने को मिलती हैं जो हमारा बहुत समय बर्बाद करती हैं और हमें कई समस्याओं का सामना करना पड़ता हैं इसलिए अब भरतीय सरकार द्वारा सभी वाहनों पर फास्टैग लगाना अनिवार्य कर दिया गया हैं ताकि इस प्रकिया को और बेहतर बनाया जा सकें।

इसलिए अब देश के नेशनल हाइवे के 527 टोल प्लाजा में से 380 टोल प्लाजा को Fastag से लैस कर दिया गया हैं और बाकी बचें अन्य टोल प्लाजा को भी फास्टैग तकनीक से लैस किया जा रहा हैं और 1 दिसंबर के बाद यह Fastag सभी चार पहिया वाहनों पर लगाना अनिवार्य होगा नहीं तो आपसे दुगना टोल प्लाजा वसूल किया जाएगा।

चार पहिया वाहनों पर फास्टैग के अनिवार्य होने से जो सबसे बड़ा फ़ायदा होगा वह टोल कलेक्शन सिस्टम से होनी वाली परेशानियों से छुटकारा मिलेगा और फ़िर आपको कई-कई मिनटों तक टोल प्लाजा पर इंतजार नहीं करना पड़ेगा।

वैसे तो भारत मे फास्टैग टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल 2014 में ही शरू हो चुका हैं लेकिन भारत की एक बहुत बड़ी ऐसी आबादी हैं जो अभी तक फास्टैग का इस्तेमाल नहीं करती और बहुत सारे लोगों को तो पता ही नही है कि फास्टैग होता क्या हैं।

इसलिए भारतीय सरकार द्वारा अब यह तय कर दिया गया है कि अब सभी चार पहिया वाहनों पर फास्टैग लगाना आवश्यक है जिसे डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा मिलेगा औऱ टोल प्लाजा पर लगने वाली लंबी लाइनों से छुटकारा मिलेगा।

फास्टैग का इस्तेमाल 1 दिसंबर से शरू हो जाएगा इसलिए आपके लिए यह जानना बहुत जरूरी हो जाता है कि Fastag क्या होता हैं और Fastag का इस्तेमाल कैसे करते हैं और साथ ही Fastag कार्ड कैसे बनवाते हैं ताकि आपको किसी तरह की समस्या का सामना न करने पड़े।

What is Fastag – फास्टैग क्या हैं

फास्टैग एक ऐसी तकनीक हैं जिसके इस्तेमाल से टोल प्लाजा से गुजरने पर ऑटोमैटिक पेमेंट हो जाता हैं और यह पेमेंट आपके बैंक एकाउंट से कटता हैं चूँकि यह आपके बैंक एकाउंट द्वारा लिंक कर दिया जाता है।

यह एक ऐसी तकनीक हैं जिसके इस्तेमाल से आप बिना टोल प्लाजा पर रुकें ही टोल टैक्स का भुगतान कर देते हैं और यह रकम आपके एकाउंट से काट ली जाती हैं।

इसके लिए इलेक्ट्रॉनिक माध्यम का इस्तेमाल किया जाता हैं और सरकार चाहती है कि अब वह 100 प्रतिशत टोल टैक्स की प्राप्ति Fastag के द्वारा करें ताकी हर टोल प्लाजा टेक्स का सही आंकलन किया जा सकें और साथ ही टोल प्लाजा पर बेवहजा ही समय व्यर्थ न हों।

इसलिए फास्टैग को 1 दिसंबर के बाद सभी गाडियों पर लगाना अनिवार्य कर दिया गया हैं इसलिए जो लोग अभी तक फास्टैग का इस्तेमाल नही करतें थे उनके लिए भी अब यह ज़रूरी बन चुका हैं क्योंकि बिना Fastag वाहनों पर अब दुगना टोल टैक्स लगेगा।

How Fastag Works – फास्टैग कैसे काम करता हैं

Fastag में रेडियो फ्रीक्वेंसी आईडेंटिफिकेशन यानी RFID टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जाता हैं इसलिए फास्टैग को गाड़ी की विंडस्क्रीन पर लगया जाता हैं और जैसे ही गाड़ी टोल प्लाजा के पास आती हैं तो टोल प्लाजा के सेंसर गाड़ी की विंडस्क्रीन पर लगें फास्टैग से सपंर्क करते हैं जिसके कारण Fastag Account से ऑटोमैटिक पेमेंट हो जाती हैं और बिना किसी रुकावट के आप टोल प्लाजा टेक्स का भुगतान कर देते हैं।

Fastag को आप अपने बैंक एकाउंट या फिर हाइवेज ऑथोरिटी ऑफ इंडिया के पेमेंट वॉलेट के साथ लिंक कर सकते हैं जिसके बाद हर बार टोल प्लाजा से गुजरने पर ऑटोमैटिक एकाउंट से भुगतान हो जाता हैं।

Fastag Account में पैसे नहीं होनी की स्थिति में आपको Fastag Recharge करना पड़ता हैं और फास्टैग की अवधि 5 साल की होती है यानी 5 साल बाद आपको नया फास्टैग अपनी गाड़ी पर लगवाना पड़ता हैं।

Benefit of Fastag – फास्टैग के फ़ायदे

भारत मे फास्टैग के अनिवार्य होने के बाद आपको फास्टैग इस्तेमाल करने पर बहुत सारे लाभ मिलते हैं जोकि पहले नही मिलते हैं इसलिए आपके लिए फास्टैग से होने वाले फायदों के बारे में जाना बहुत जरूरी हैं ताकि आप Fastag इस्तेमाल करने के साथ इसका लाभ ले सकें।

Save Fuel And Time

Fastag के इस्तेमाल से इंधन और समय दोनों की बचत होती है क्योंकि अक़्सर टोल प्लाजा पर टोल टैक्स के लिए लंबी कतार लग जाती हैं जिसके दौरान वाहनों में व्यर्थ में ही इंधन का नुकसान होता हैं और साथ ही लंबी-लंबी कतार के कारण कई मिनटों तक टोल टैक्स के भुगतान के लिए इंतजार करना पड़ता है लेक़िन Fastag सेवा लागू होने के बाद समय और इंधन दोनों का फ़ायदा होगा क्योंकि अब आपको टोल टैक्स के लिए रुकना नही पडेग़ा।

Cashless Payment

फास्टैग के अनिवार्य होने के कारण यह कैशलैस पेमेंट को बढ़ावा देने का काम करता हैं क्योंकि फास्टैग द्वारा टोल टैक्स का भुगतान ऑनलाइन किया जाता हैं जिसके लिए आपको अब नगदी ऱखने की आवश्यकता नहीं पड़ती हैं क्योंकि Fastag द्वारा लिंक बैंक एकाउंट से यह भुगतान कटता हटा हैं।

Online Recharge

Fastag से टोल टैक्स का भुगतान ऑनलाइन किया जाता हैं जिसके लिए टोल टैक्स राशि आपके फास्टैग से लिंक एकाउंट से काटी जाती हैं और एकाउंट से पैसे ख़त्म होने की स्थिति में समय-समय पर आपको फास्टैग को रिचार्ज करना पड़ता हैं

SMS Alerts For Transaction

Fastag से टोल टैक्स के भुगतान की पूरी प्रकिया ऑनलाइन है इसलिए जब भी आप टोल टैक्स का भुगतान फास्टैग द्वारा करते हैं तो आपको हर बार SMS के द्वारा जानकारी प्रदान की जाती हैं।

CashBack

Fastag के इस्तेमाल करने का सबसे बड़ा फायदा हैं कि आपको फास्टैग से भुगतान करने पर कैशबैक मिलता हैं और यह कैशबैक 2.5% तक हो सकता हैं।

Web Portal

Fastag इस्तेमाल करने वाले ग्रहकों के लिए वेब पोर्टल बनाये गए हैं जिसे वह अपने फास्टैग से सम्बंधित सभी प्रकार की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

Easy To Use

Fastag का इस्तेमाल करना बहुत आसान हैं फास्टैग को इस्तेमाल करने के लिए आपको बस इसे अपने वाहन की विंडोस्क्रीन पर लगाना होता है।

Fastag के लिए जरूरी दस्तावेज

Fastag बनवाने के लिए आप ऑनलाइन बैंकों या फिर ऑफलाइन पॉइंट ऑफ सेल लोकेशन पर जाकर बनवा सकते हैं जिसके लिए आपके पास कुछ दस्तावेजों का होना आवश्यक हैं

1. गाड़ी के पंजीकरण दस्तावेज जैसे आरसी(RC)
2. गाड़ी के मालिक के पासपोर्ट साइज फ़ोटो
3. गाड़ी के मालिक के KYC दस्तावेज जैसे ड्राइविंग लाइसेंस, पैन कार्ड, पासपोर्ट, मतदाता पहचान पत्र या आधार कार्ड इत्यादि।
4. गाड़ी के मालिक का एड्रेस प्रूफ
5. फास्टैग एप्पलीकेशन फॉर्म जमा करें तो

यह भी पढ़े

>Fastag Customer Care Number-सभी बैंक नंबर जानिए

>Axis Bank Fastag Recharge कैसे करते हैं पूरी जानकारी

Fastag कैसे बनवाये

Fastag को आप दो तरीकों से बनवा सकते हैं पहला तरीका ऑफलाइन है तो दूसरा तरीका ऑनलाइन हैं आप इन दोनों में से किसी भी तरीक़े की मदत से अपनी गाड़ी के लिए फास्टैग बनवा सकते हैं तो चलिए दोनों तरीकों के बारे में जानते हैं।

Fastag ऑफलाइन कैसे बनवाये

1. Fastag ऑफलाइन बनवाने के लिए राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक टोल सग्रह के अंतर्गत आने वाले बैंकों के पॉइंट ऑफ सेल(POS) लोकेशन पर जाकर बैंको से ऑफलाइन खरीद सकते हैं।

2. सभी टोल प्लाजा या कुछ चुनिंदा पेट्रोल पंप से भी आप फास्टैग खरीद सकते हैं।

3. Fastag के लिए आपके पास जरूरी दस्तावेज जैसे आईडी प्रूफ, गाड़ी की आरसी(RC), KYC के साथ आपको फास्टैग एप्पलीकेशन फॉर्म जमा करना पड़ता है।

Fastag Online कैसे बनवाये

Fastag को आप ऑनलाइन भी अप्लाई कर सकते हैं और उन्ह बैंकों से फास्टैग ख़रीद सकते हैं जो राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक टोल सग्रह(NETC) के अधिकृत हैं या फिर आप MYFastag App के इस्तेमाल से भी Online Fastag प्राप्त कर सकते है।

1. सबसे पहले राष्ट्रीय इलेक्ट्रॉनिक टोल सग्रह(NETC) के अधिकृत बैंकों की वेबसाइट पर जाये और फास्टैग बनवाने के लिए आवेदन करें।

2. फास्टैग आवेदन करने के लिए नाम, पता, जन्मतिथि, मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी इत्यदि की जानकारी डालें।

3. फास्टैग के लिए अपने केवाईसी(KYC) दस्तावेजों की जानकारी डालें।

4. वाहन पंजीकरण नंबर या फिर RC नंबर डालें।

5. सभी दस्तावेजों की फोटोकॉपी को स्कैन करें और सबमिट करे।

इस प्रकार आप फास्टैग के लिए आवेदन कर सकते हैं जिसके बाद आपका Fastag Account बन जाता हैं फास्टैग को रिचार्ज करने के लिए आप क्रेडिट कार्ड/डेबिट कार्ड/एनईएफटी /आरटीजीएस/ नेट बैंकिंग के माध्यम से अपने FASTag खाते को रिचार्ज कर सकते हैं.

Fastag Activate कैसे करते हैं

सबसे पहले आपको Fastag को Authorised Bank या फिर कुछ चुनिंदा पेट्राल पंप, टोल प्लाजा और Paytm से भी ख़रीद सकते है जिसके बाद अलग स्टेप में फास्टैग को एक्टिवेट करें।

Fastag खरीदने के बाद आपको इसे एक्टिवेट करने के लिए NHAI द्वारा बनाई गई Fastag App को डाउनलोड औऱ इनस्टॉल करना हैं जहां पर आप अपने फास्टैग की डिटेल्स डालकर इसे एक्टिवेट कर सकते है और साथ मे आप Fastag App के द्वारा अपने फास्टैग को रिचार्ज भी कर सकते है।

Fastag Recharge कैसे करें

Fastag Recharge करने के लोए ऑनलाइन कई विकल्प उपलब्ध हैं जैसे Debit Card/Credit Card/Net Banking/UPI इत्यादि के द्वारा आप अपने फास्टैग को रिचार्ज कर सकते हैं।

Fastag Recharge करने के लिए आप मुख्य रूप से दो तरीक़ो का इस्तेमाल कर सकते हैं पहला तरीका में आप MyFastg App को डाउनलोड और इनस्टॉल करके अपने फास्टैग को रिचार्ज कर सकते हैं।

और दुसरे तरीके में आप अपने Fastag Bank की वेबसाइट पर जाकर अपने फास्टैग को रिचार्ज कर सकते हैं और साथ मे अपने फास्टैग से जुड़ीं सभी प्रकार की जानकारी प्राप्त कर सकते है।

Online Fastag आवेदन बैंकों लिस्ट

FASTag Bank NameApply Online
Axis BankClick Here
Bank of BarodaClick Here
City Union BankClick Here
Yes BankClick Here
Federal BankClick Here
Union BankClick Here
HDFC BankClick Here
ICICI BankClick Here
IDFC BankClick Here
Indusind BankClick Here
Karur Vysya BankClick Here
Kotak Mahindra BankClick Here
Fino Payments BankClick Here
Syndicate BankClick Here
South Indian BankClick Here
Punjab National BankClick Here
Saraswat BankClick Here
EQUITAS Small Finance BankClick Here
PayTM Payments Bank Ltd.Click Here
Nagpur Nagarik Sahakari Bank Ltd.Click Here
Punjab & Maharashtra Co-op BankClick Here
State Bank of India (SBI)Click Here

Fastag बैंकों के हेल्पलाइन नंबर की सूची

FASTag Bank NameToll-Free Number
Axis Bank1800-419-8585
Bank of Baroda1800-103-4568
City Union Bank1800-258-7200
Yes Bank1800-1200
Federal Bank1800-266-9520
Union Bank1800-22-2244
HDFC Bank18000-120-1243
ICICI Bank1800-2100-104
IDFC Bank1800-266-9970
Indusind Bank1860-500-5004
Karur Vysya Bank1800-102-1916
Kotak Mahindra Bank1800-419-6606
Fino Payments Bank1860-266-3466
Syndicate Bank1800-425-0585
South Indian Bank1800-425-1809
Punjab National Bank080-67295310
Saraswat Bank1800-266-9545
EQUITAS Small Finance Bank1800-419-1996
PayTM Payments Bank Ltd.1800-102-6480
Nagpur Nagarik Sahakari Bank Ltd.1800-266-7183
Punjab & Maharashtra Co-op Bank1800-223-993
State Bank of India (SBI)1800-11-0018

अक़्सर अपने टोल प्लाजा पर कई बार चार पहिया वाहनों को बिना रुके टोल प्लाजा से निकलतें देखा होगा उसका मुख्य कारण ही है कि उनकी गाड़ियों पर Fastag लगा होता हैं जिसे टोल टैक्स का भुगतान कर दिया जाता हैं और जबकि कैश पेमेंट में टोल टैक्स देने पर बहुत समय लग जाता हैं।

इसलिए Fastag का इस्तेमाल काफ़ी लोगों द्वारा पहले से ही किया जाता रहा है लेक़िन अब भी भारत का एक बहुत बड़ा वर्ग है जो अभी तक फास्टैग का इस्तेमाल नहीं करता हैं परंतु अब यह अनिवार्य किया जा चुका हैं।

इसलिए अगर अपने अभी तक फास्टग नही बनवाया है तो आप जल्दी से फास्टग के लिए अप्लाई कर दे क्योंकि अब बिना फास्टग वाले वाहनों पर दुगना टोल टैक्स वसूला जाएगा।

हम उमीद करते है कि आपको हर यह आर्टिकल Fastag क्या है और Fastag कैसे बनवाते हैं जरूर पसंद आया होगा इसलिए अगर आपको हमारा यह आर्टिकल अच्छा लगता है तो इसे दूसरे लोगों के साथ जरूर शेयर करे ताकि उन्हें भी इसे मदत मिले।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.