Hindi vs Hinglish कौन सी भाषा ब्लॉगिंग के लिए सही है

आज इंटरनेट पर हिंदी ब्लॉगर की सँख्या तेजी से बढ़ रही हैं और हर दिन हजारों नये ब्लॉगर अपना ब्लॉग बना रहे है इसलिए यह सवाल पूछा जाना स्वभाविक है कि Hindi vs Hinglish में से किसी भाषा मे ब्लॉगिंग शरू करें।

अक़्सर नये ब्लॉगर द्वारा यह सवाल पूछा जाता है कि ब्लॉगिंग तो शरू करना चाहता हूँ परंतु किसी भाषा मे शरू करू क्या Hindi में लिखूं या फिर Hinglish में लिखूं! आख़री Hindi vs Hinglish में किसी भाषा को चुनें।

Hindi vs Hinglish Best language Blogging Hindi

यह एक सवाल भी है और एक समस्या भी क्योंकि हर कोई ब्लॉगिंग से पैसे कमाना चाहता हैं इसलिए यह जानना बहुत ज़रूरी हो जाता है कि ब्लॉगिंग Hindi vs Hinglish किसी भाषा मे शरू करें जिसे हम ब्लॉगिंग के क्षेत्र में सफ़लता प्राप्त कर सकें।

यहाँ पर आपके लिए यह जानना बहुत जरूरी है कि गूगल द्वारा Hindi vs Hinglish में से कौन सी भाषा सवश्रेष्ठ हैं इसके बारे में कोई जानकारी नही दी गयी है परंतु Hindi vs Hinglish में से ब्लॉगिंग के लिए कौन सी भाषा सवश्रेष्ठ हैं इसका पता लगाया जा सकता है।

इसलिए अगर आप Hindi vs Hinglish भाषा को लेकर कंफ्यूज हैं और आप यह समझ नही पा रहे कि Hindi vs Hinglish किस भाषा मे ब्लॉगिंग शरू करें तो आपकों यह आर्टिकल पूरा पढ़ना चाहिए।

क्योंकि आज हम पूरी जानकारी के साथ इसका विश्लेषण करने वाले हैं और साथ ही अपने कईँ सालों का अनुभव भी आपके साथ शेयर करेगें ताकि इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपकों सभी सवालों के जवाब मिले ऐसी हमारी कोशिश रहेंगी।

Hindi vs Hinglish भाषा क्या और कैसे लिखतें है

सबसे पहले तो हमारे लिए यह जानना बहुत जरूरी है कि हिंदी भाषा क्या है और हिंगलिश भाषा क्या हैं और Hindi vs Hinglish में क्या अंतर हैं ताकि इसके बारे में विस्तार से विश्लेषण किया जा सकें।

Hindi Language

हिन्दी भारत की सबसे ज्यादा बोले जाने वाली भाषा है और हिंदी को देवनागरी लिपि में लिखा जाता है और साथ ही यह भारत में संवैधानिक रूप मान्यता प्राप्त राज्यभाषा हैं।

हिंदी भाषा का उदहारण

“हिंदी और हिंगलिश दोनों भाषओं में से ब्लॉगिंग करने के लिए किसी भाषा का इस्तेमाल करना चाहिए जिसे हम ब्लॉगिंग में सफलता प्राप्त कर सकें”

Hinglish Language

यह हिंदी भाषा और इंग्लिश भाषा दोनों से बनाई गई है औऱ अक़्सर इसका इस्तेमाल मैसेज और सोशल मीडिया पर चैटिंग करने के लिए किया जाता हैं

हिंगलिश भाषा का उदहारण

“Hindi vs Hinglish dono bhashao me se blogging karne ke liye kisi bhasha ka istemal karna chahiye jise hm blogging me safalta prapt kar ske”

इस प्रकार कुछ लोग हिंदी में लिखते है और कुछ लोग हिंगलिश में लिखते हैं इस प्रकार आप इन दोनों भाषओं को समझ सकते हैं की कौन भाषा कैसी है और कैसे लिखी जाती हैं और साथ ही किसी भाषा को कितना महत्वपूर्ण माना जाता है।

यह भी पढ़े

>ब्लॉग्गिंग का भविष्य कैसे और क्या होगा

>Youtube vs Blogging कौंन बेहतर है ऑनलाइन पैसे कमाने का सही तरीका

Hindi vs Hinglish में कौन सी भाषा मे ब्लॉगिंग करें

Hindi vs Hinglish में से कौन सी भाषा ब्लॉगिंग के लिए बेहतर है इसके लिए यह जानना बहुत ज़रूरी हैं कि लोग यानी रीडर्स किसी भाषा को पढ़ना पसन्द करते हैं अगर आप यह पता लगा लेते है तो यह काम बहुत आसान हो जाएगा।

क्योंकि गूगल सर्च इंजन अपने जितने भी अपडेट लाता है वह इस बात पर आधारित होते है कि उसके यूज़र को क्या पसंद हैं और क्या नहीं और साथ ही वह अपने यूज़र को शानदार एक्सपेरिंस कैसे प्रदान कर सकता है।

क्योंकि यूज़र का एक्सपेरिंस जितना शानदार होगा वह उतना ही गूगल का इस्तेमाल करने के लिए उत्साहित होगा जिसे गूगल की इनकम भी बढ़ेगी औऱ गूगल का इस्तेमाल करने वाले यूज़र की संख्या में भी इज़ाफ़ा होगा औऱ वह दुनिया का सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाने वाला सर्च इंजन बना रहेगा।

इस बात का अनुमान आप ऐसे लगा सकते हैं कि जब गूगल को पता लगा कि लोग गूगल पर हिंदी भाषा मे सर्च करते है और हिंदी में पढ़ना पसंद करते है तो गूगल ने 2014 में हिंदी कंटेंट के लिए Google Adsense को स्वीकार करना शरू किया।

इसलिए Hindi vs Hinglish में से कौन सी भाषा ब्लॉगिंग के लिए बेहतर हैं इस बात की पुख़्ता जानकारी के लिए आपकों गूगल सर्च इंजन और यूज़र को ध्यान में रखना पढ़ेगा तभी आप इसका सही पता लगा सकते है।

Hindi vs Hinglish Best language For Blogging

यह बात सच है कि जब गूगल द्वारा 2014 में हिंदी कंटेंट के लिए Google Adsense Approved किया जाने लगा था तो उस समय हिंदी ब्लॉग की तुलना में Hinglish Blog का बोल-बाला था।

परंतु आज यह स्थिति बिल्कुल अलग हैं क्योंकि आज इंडिया के बेस्ट हिंदी ब्लॉगर लाखों रुपये कमातें हैं वह हिंदी में ब्लॉगिंग करते है औऱ बहुत तेजी से आगें बढ़ रहे है जबकि Hinglish Blog की ट्रैफिक में बहुत गिरावट हुई है।

इसका प्रमुख कारण हैं कि लोग Hindi vs Hinglish में से शुद्ध हिंदी पढ़ना ज्यादा पसंद करते हैं इसी कारण आज आपको गूगल सर्च इंजन में सबसे ऊपर हिंदी लिख़ने वाले ब्लॉग देखने को मिल जाते है।

उदहारण के लिए हम आपको दोनों भाषाओं की कुछ लाइन लिखते हैं और आपकों इन्हें पढ़कर यह बताना है कि किसी भाषा को आप आसानी से और जल्दी से पढ़ने के साथ-साथ गहरी से समझ सकतें हैं और फ़िर आपकों अपने सवालों के जवाब मिलने लगेगें।

“हिंदी और हिंगलिश दोनों भाषओं में से ब्लॉगिंग के लिए सवश्रेष्ठ भाषा कौन सी है जिसे हम ब्लॉगिंग में सफलता प्राप्त कर सकें”

“Hindi vs Hinglish dono bhashao me se blogging ke liye savshrest bhasha kon si hai jise hm blogging me safalta prapt kar ske”

निश्चित तौर पर हम हिंदी भाषा पढ़ना पसंद करते है क्योंकि इस भाषा को हम बचपन से पढ़ते आ रहे है इसलिए इस पर हर किसी की पकड़ अच्छी हैं चाहें वह सोशल मीडिया पर Hinglish में चैटिंग करता हैं लेक़िन किसी बुक और आर्टिकल को पढ़ने के लिए हिंदी भाषा को ही पसन्द करता है।

ब्लॉगिंग के लिए हिंदी भाषा क्यों बेहतर हैं

1. लोगों को शुद्ध हिंदी में पढ़ना पसंद करते है औऱ अच्छी तरह चीजों को समझ पाते है।

2. हिंदी से जुड़ाव होने के कारण एक बार रीडर्स आर्टिकल पढ़ने लगा जाते है तो उसे पूरा पढ़ते हैं जिसे गूगल को अच्छे संकेत मिलते है औऱ आर्टिकल गूगल में रैंक करने लग जाता है।

3. अब गूगल भी हिंदी कंटेंट को पसंद करने लगा है इसलिए वह अपने आप ही Hinglish ब्लॉग के टाइटल को भी हिंदी में ऑटोमैटिक बदल देता है।

4. हिंदी ब्लॉगिंग से लोग आसानी से जुड़ जाते है और वह आपके ब्लॉग पर बार-बार आते है जिसे गूगल की नजरों में आपकी वैल्यू बढ़ती है।

5. हिंदी में लिखें आर्टिकल को रीडर्स आसनी से समझ पाते है औऱ कुछ सवाल होने पर ब्लॉग पर कमेंट भी करते है जिसे आपके ब्लॉग की वैल्यू बढ़ती है।

6. पिछले कुछ सालों से देखा गया है कि Hindi vs Hinglish में Hindi blog की ट्रैफिक में बढ़ाव हुआ है जबकि Hinglish Blog की ट्रैफिक दिनों-दिन घटी जा रही है।

7. ब्लॉगिंग के लिए सवश्रेष्ठ भाषा हिंदी है इसका अनुमान आप ऐसी भी लगा सकते है कि जो लोगों पहले Hinglish में ब्लॉगिंग करते थे आज वह भी हिंदी में ब्लॉगिंग शरू कर चुके है।

8. सच्चाई यह भी है कि अब रीडर्स तभी Hinglish blog को पढ़ते है जब उन्हें हिंदी में जानकारी प्राप्त नही हो पाती हैं।

कुल मिलाकर हिंदी भाषा का भविष्य काफ़ी सुनहरा है जबकि Hinglish भाषा केवल सोशल मीडिया के लिए हैं क्योंकि सर्च इंजन Hindi vs Hinglish दोनों भाषाओ में से हिंदी भाषा को ज्यादा अहमियत प्रदान करता है इसलिए अगर आप भारत के लोगों के लिए ब्लॉगिंग करना चाहतें है तो आपकों Hindi vs Hinglish में से हिंदी भाषा का चुनाव करना चाहिए।

यह भी पढ़े

>WordPress vs Blogger कौन सा बहेतर और क्यों

>आर्टिकल कैसे लिखें सीखें

Hinglish Language का इस्तेमाल क्यों किया जाता है

बहुत सारे ब्लॉगर Hinglish Language में ब्लॉगिंग करते है इसके पीछे कई कारण हैं जिसके कारण वह Hindi Language की तुलना में Hinglish Language में ब्लॉगिंग करना पसंद करते है।

1. Hinglish Language में Keyword का इस्तेमाल आसनी से किया जा सकता है जबकि हिंदी भाषा मे थोड़ा मुश्किल होता हैं।

2. हिंगलिश भाषा में LongTail keyword का भी आसानी से इस्तेमाल किया जा सकता है।

3. सोशल मीडिया पर Hinglish Language का इस्तेमाल किया जाता है इसलिए यह काफ़ी पसंद की जाती हैं

4. Hinglish Language में Typing करना आसान होता हैं इसलिए जो ब्लॉगर हिंदी में नहीं लिख पाते हैं उन्हें मज़बूरन Hinglish का इस्तेमाल करना पड़ता है।

5. Hinglish Language लिख़ने से SEO Article Writing आसान हो जाती हैं

6. Hinglish Language में हर शब्द English Language की तरह कीवर्ड का काम करता हैं

7. Hinglish Language भारत के इंग्लिश भाषित राज्यों में पसंद की जाती है।

तो कुल मिलाकर Hinglish भाषा का इस्तेमाल केवल गूगल यानी सर्च इंजन के लिए किया जाता हैं औऱ Hinglish Language के इस्तेमाल करने का सबसे बड़ा कारण यह भी है कि वह हिंदी में टाइप नही कर पाते है और हिंदी टाइपिंग को Hinglish टाइपिंग के मुक़ाबले आसान समझते हैं।

जबकि सचाई यही है कि जो ब्लॉग हिंदी में है वही अच्छी गति से आगे बढ़ रहे है क्योंकि यह गूगल के मूल सिद्धांतों को फॉलो करते हैं इसलिए ही गूगल द्वार इन्ह हिंदी ब्लॉग को अच्छी रैंकिंग भी प्रदान की जाती है।

Hindi vs Hinglish में हमारा माना क्या हैं

हमारी राये है कि आपको आज के समय मे ब्लॉगिंग के लिए हिंदी भाषा का इस्तेमाल करना चाहिए क्योंकि आने वाले समय मे इसका भविष्य काफ़ी शानदार होने वाला हैं और अभी तक इंटरनेट पर केवल 1% ही हिंदी कंटेंट उपलब्ध है।

चूँकि कईं सारे लोगों का मानना है कि हिंदी भाषा में SEO करना और आर्टिकल लिखना मुश्किल होता हैं इसलिए आपकों हिंदी में आर्टिकल लिखतें समय English वर्ड का इस्तेमाल भी करना चाहिए जो लोग आसानी से समझ लेते हैं जिसे आप आसानी से कीवर्ड का इस्तेमाल कर सकते है।

और आर्टिकल लिखने के लिए Google indic Keyborad App का इस्तेमाल करके आप अपने मोबाइल में बहुत ही आसानी के साथ हिंदी में आर्टिकल लिख सकते हैं और हम आपकों बता दे यह आर्टिकल भी ऐसे ही लिखा गया हैं।

अब आपकों दोनों समस्याओं का हल मिल चुका हैं तो अब हिंदी भाषा मे ब्लॉगिंग करना शरू कर सकते हैं क्योंकि India Best Hindi Blog List में आपकों वही ब्लॉग देखने को मिलेंगे जो हिंदी भाषा का इस्तेमाल करते हैं।

हिंदी भाषा मे लिख़ने का सबसे बड़ा फायदा है कि आप अपनी मातरः भाषा को इंटरनेट पर फैलाने में भी योगदान कर रहे हों और साथ ही इंटरनेट से घर बैठे पैसे भी कमा सकते हों।

तो दोस्तों हम उमीद करते है कि अब आप समझ चुके होंगे कि Hindi vs Hinglish में से कौन सी भाषा ब्लॉगिंग शरू करने के लिए बेहतर हैं अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आता है तो इसे अपने उन्ह दोस्तों के साथ शेयर करें जो ब्लॉगिंग शरू करना चाहतें हैं और अगर आपका कोई सुजाव या सवाल है तो हमें कमेंट बॉक्स में ज़रूर बताये।

2 COMMENTS

  1. आप के इस आर्टिकल में अद्भुत जानकारी है मेरे सरे प्रश्नों का जवाब है इस में
    मेने भी हिंदी में ही लिखना शुरू किया है hindibabaji.in पर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.