पश्चिम बंगाल का मुख्यमंत्री कौन हैं जानिये

पश्चिम बंगाल भारत के पूर्व में स्थित राज्य हैं यह भारत का क्षेत्रफल के हिसाब से चौथा सबसे अधिक आबादी वाला राज्य और चौदहवां सबसे बड़ा राज्य हैं और प्रत्येक राज्य की तरह यहाँ हर पांच साल के बाद चुनाव के जरिये मुख्यमंत्री चुना जाता है इसलिए कई महापुरुष पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री बन चुके है लेक़िन क्या आप जानते हैं वर्तमान में पश्चिम बंगाल का मुख्यमंत्री कौन हैं? 

क्योंकि अक़्सर सरकारी नौकरीयों की परीक्षाओं में राज्यों के मुख्यमंत्रियों के नाम पूछें जाते हैं चूँकि हर पांच साल के बाद चुनाव के द्वारा राज्य का मुख्यमंत्री चुना जाता हैं इसलिए राज्य के मुख्यमंत्री बदलतें रहते हैं जिसे अपडेट रहना पड़ता हैं।

mukhyamantri kaun hai Hindi me

पश्चिम बंगाल में कुल 23 जिले हैं इस राज्य की खासियत है दुर्गा पूजा जिसे यहाँ पर बहुत उत्साह के साथ धूमधाम से मनाया जाता हैं यह के मुख्य जातीय समूह बंगाली हैं इस राज्य का कार्यभार किसके कंधो पर हैं आज हम आपको बताने जा रहे हैं

राज्य को सुव्यवस्थित ढंग से चलने के लिए मुख्यमंत्री की जरूरत होती हैं क्योंकि राज्य के सभी कार्यो को मुख्यमंत्री द्वारा ही संभाला जाता हैं इसलिए हर पांच साल के बाद चुनाव के जरिये इनको चुना जाता हैं हमे ज्ञात हैं कि कई महापुरुष पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री पद पर आश्रित हुए हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि वर्तमान समय में पश्चिम बंगाल का मुख्यमंत्री कौन हैं?

पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री के रूप में अलग-अलग समय पर अलग-अलग लोग विराजमान हुए हैं, इसलिए आज हम आपको पश्चिम बंगाल के वर्तमान समय के मुख्यमंत्री से लेकर पूर्व मुख्यमंत्री तक के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्रदान करने वाले हैं, जैसे अभी तक पश्चिम बंगाल में कितने मुख्यमंत्री हुए हैं और उनके नाम क्या हैं व उन्होंने कब से कब तक पद को संभाला है इत्यादि तो चलिए जानते हैं की आज पश्चिम बंगाल का मुख्यमंत्री कौन हैं?

पश्चिम बंगाल
राज्य की राजधानी कोलकता
गठन 26 जनवरी 1950
क्षेत्रफल 88752
जनसंख्या 9,13,47,736
मुख्य भाषा बांग्ला
सबसे बड़ा शहर कोलकता

पश्चिम बंगाल का मुख्यमंत्री कौन हैं?

वर्तमान समय में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी जी हैं इन्हें पश्चिम बंगाल के लोग दीदी कह कर पुकारते हैं यह पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री पद को संभालने वाली पहली महिला मुख्यमंत्री हैं तथा तृणमूल कांग्रेस राजनैतिक दल से हैं साथ ही इसकी अध्यक्ष भी हैं तृणमूल कांग्रेस पार्टी बनाने से पहले यह भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में सक्रीय रूप से शामिल थी इन्होने बंगाल की मुख्यमंत्री के रूप में 20 मई 2011 को शपथ ली थी।

नाम ममता बनर्जी
जन्म 5 जनवरी 1955
पार्टी तृणमूल कांग्रेस
कार्यकाल वर्तमान

इनका जन्म 5 जनवरी 1955 को कोलकाता में हुआ था इनके पिता का नाम श्री स्वार्गीय प्रोमलेश्वर बनर्जी था जब ममता बनर्जी 17 वर्ष की थी तब इनके पिता का देहांत हो गया था तथा इनकी माता का नाम श्रीमती गायत्री देवी हैं इन्होने अपनी स्नातक की उपाधि बसंती देवी कॉलेज से ली और उसके बाद जोगेश चन्द्र चौधरी लॉ कॉलेज से कानून की डिग्री ली।

ममता बेनर्जी उर्फ़ दीदी वर्ष 1984 से 1989 और 1991 से 2011 से लोकसभा की सदस्य रही और 22 मई 2009 से 19 मई 2011 से भारत के रेल मंत्री के पद पर भी रही थी ममता बेनर्जी ने 2018 में रौदर छाया एल्बम में 7 गाने काम्पोज किये थे वह भारत सरकार की कैबिनेट में कोयला और मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री के रूप में पहली महिला मंत्री थी।  

बुद्धादेव भट्टाचार्य

बुद्धदेब भट्टाचार्य जी एक भारतीय राजनीतिज्ञ हैं जो पश्चिम बंगाल के सातवें मुख्यमंत्री थे यह मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी से थे और 6 नवम्बर 2000 से 13 मई 2011 तक पश्चिम बंगाल का मुख्यमंत्री पद संभाला था।    

नाम बुद्धदेब भट्टाचार्य
जन्म 1 मार्च 1944
पार्टी मार्क्सवादी कम्युनिस्ट
कार्यकाल 2000 – 2011

इनका जन्म पश्चिम बंगाल के कोल्कता में 1 मार्च 1944 को हुआ था इन्होने प्रेसीडेंसी कॉलेज कोलकता से बी.ए. में स्नातक की उपाधि ली थी तथा इन्हें डेमोक्रेटिक यूथ फेडरेशन का राज्य सचिव भी नियुक्त किया गया था यह 13 मई 2011 तक 24 वर्षो के लिए जादवपुर से विधायक रहे थे और 12 जनवरी 1999 से 5 नवम्बर 2000 तक पश्चिम बंगाल के उपमुख्यमंत्री पद पर रहे 10 अप्रैल 1987 से 13 मई 2011 तक यह पश्चिम बंगाल विधानसभा से सदस्य रहे।

ज्योति बासु

ज्योति बासु भारतीय राजनेता थे यह भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी से थे और साथ ही इसके सह संस्थापको में से एक थे और 21 जून 1977 से 5 नवम्बर 2000 तक पश्चिम बंगाल का मुख्यमंत्री पद संभाला था।

नाम ज्योति बासु
जन्म 8 जुलाई 1914
पार्टी भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी
कार्यकाल 1977 – 2000
मृत्यु 17 जनवरी 2010

इनका जन्म पश्चिम बंगाल कलकता में 8 जुलाई 1914 को हुआ था तथा इनके पिता का नाम श्री निशिकांत बासु था और माता का नाम श्रीमती हेमलता बासु था। ज्योति बासु की दो पत्नियाँ थी श्रीमती बसंती बासु और श्रीमती कमला बासु इन्होने हिन्दू कॉलेज से स्नातक की उपाधि ली थी इसके बाद इन्होने कानून की डिग्री यूनिवर्सिटी कॉलेज लन्दन से ली और बैरिस्टर बने।

यह पश्चिम बंगाल के पहले उपमुख्यमंत्री थे इनके द्वारा 25 फरवरी 1969 से 16 मार्च 1970 और 1 मार्च 1967 से 21 नवम्बर 1967 तक यह पद संभाला गया इनकी मृत्यु 17 जनवरी 2010 को कोलकता में निमोनिया के कारण हुई थी।  

सिद्धार्थ शंकर राय

सिद्धार्थ शंकर राय जी स्वतंत्रता सेनानी देशबंधु चितरंजन दास जी के पोते थे और यह राजनेता होने के साथ–साथ वकील भी थे यह भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी से थे इन्होने 19 मार्च 1972 से 21 जून 1977 तक पश्चिम बंगाल का मुख्यमंत्री पद संभाला था।  

नाम सिद्धार्थ शंकर राय
जन्म 20 अक्टूबर 1920
पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
कार्यकाल 1972 – 1977
मृत्यु 6 नवम्बर 2010

इनके पिता का नाम श्री सुधीर कुमार राय और माता का नाम श्रीमती अपर्णा देवी था इनकी पत्नी का नाम श्रीमती माया राय हैं और इनकी मृत्यु 6 नवम्बर 2010 को किडनी फ़ैल होने की वजह से हुई थी।

यह 2 अप्रैल 1986 से 8 दिसम्बर 1989 तक पंजाब के राज्यपाल रहे थे तथा वर्ष 1957 में उन्हें पश्चिम बंगाल से आदिम जाति कल्याण और कानून विभाग के मंत्री के रूप में नियुक्त किया गया था। वर्ष 1966 में वह भारत सरकार के शिक्षा और युवा सेवाओ के केन्द्रीय कैबिनेट मंत्री बने और वर्ष 1992 से 1996 में राय जी संयुक्त राज्य में भारत के राजदूत के रूप में रहे।

अजय कुमार मुख़र्जी

अजय कुमार मुख़र्जी एक भारतीय स्वतंत्रता कार्यकर्त्ता और राजनेता थे और स्वामी विवेकानंद जी से बहुत प्रभावित थे। यह पहले भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में शामिल थे परन्तु बाद में यह बांग्ला कांग्रेस पार्टी से जुड़ गए 1 मार्च 1967 से 21 नवम्बर 1967 उसके बाद 25 फरवरी 1969 से 30 जुलाई 1970 और 2 अप्रैल 1971 से  28 जून 1971 तक पश्चिम बंगाल का मुख्यमंत्री पद संभाला था।  

नाम अजय कुमार मुख़र्जी
जन्म 15 अप्रैल 1901
पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस, बांग्ला कांग्रेस
कार्यकाल 1967 – 1971
मृत्यु 27 मई 1986

इनका जन्म ब्रिटिश राज के समय तामलुक में 15 अप्रैल 1901 को हुआ था तथा वर्ष 1951 से 1977 तक पश्चिम बंगाल विधानसभा के सदस्य रहे थे इन्हें भारत सरकार की तरफ से वर्ष 1977 में पद्मा विभूषण से समान्नित किया गया था इनकी मृत्यु 27 मई 1986 को काल्चुता में हुई थी।

प्रफुल चन्द्र सेन

प्रफुल चन्द्र सेन जी स्वतंत्रता सेनानी थे और पश्चिम बंगाल के तीसरे मुख्यमंत्री थे यह भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी से संबंध रखते थे तथा 8 जुलाई 1962 से 15 मार्च 1967 तक पश्चिम बंगाल का मुख्यमंत्री पद संभाला था।  

नाम प्रफुल्ल चन्द्र सेन
जन्म 10 अप्रैल 1897
पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस 
कार्यकाल 1962 – 1967
मृत्यु 25 सितम्बर 1990

प्रफुल चन्द्र सेन जी का जन्म पश्चिम बंगाल के खुलना जिला में 10 अप्रैल 1897 को हुआ था इन्होने स्कॉटिश चर्च कॉलेज कलकत्ता से विज्ञानं में स्नातक की उपाधि ली थी।  

यह भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी के कट्टर समर्थको में से थे और इनके द्वारा अंग्रेजो के खिलाफ स्वतंत्रता संग्राम का नेतृत्व किया गया था इन्हें वर्ष 1930 से 1942 तक 10 वर्षो के लिए जेल भेज दिया गया था व इन्होने आरामबाग के लिए बहुत प्रकार के कार्य किये जिसकी वजह से इन्हें आरामबाग का गाँधी कहा जाता हैं 25 सितम्बर 1990 को इनकी मृत्यु कलकत्ता में हुई।

बिधान चन्द्र राय

बिधान चन्द्र राय जी का विश्व के डॉक्टरों में मुख्य स्थान था इसलिए इनके जन्म दिन को “चिकित्सक दिवस“ के रूप में मनाया जाता है यह पश्चिम बंगाल के दूसरे मुख्यमंत्री थे और 23 जनवरी 1948 से 1 जुलाई 1962 तक पश्चिम बंगाल का मुख्यमंत्री पद संभाला था व वर्ष 1961 में इन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया गया था।

नाम बिधान चन्द्र राय
जन्म 1 जुलाई 1882
पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
कार्यकाल 1948 -1962
मृत्यु 1 जुलाई 1962

इनका जन्म बंगाल प्रेसीडेंसी के समय बांकीपुर में 1 जुलाई 1882 को हुआ था इनके पिता श्री प्रकाशचंद्र राय मजिस्ट्रेट थे बिधान चन्द्र राय कार्मेकेल मेडिकल कॉलेज के अध्यक्ष और प्रोफेसर ऑफ मेडिसिन रहे और इन्होने कलकता और इलाहबाद विश्वविद्यालयों द्वारा डी.एस.सी की उपाधि दी गयी। 

डॉ बिधान चन्द्र राय वर्ष 1931 से 1945 तक आल इंडिया मेडिकल काउंसिल के अध्यक्ष रहे थे साथ ही वह कलकत्ता मेडिकल क्लब, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन, जादवपुर टेक्निकल कॉलेज, राष्ट्रीय शिक्षा परिषद् के भी अध्यक्ष रहे। वर्ष 1964 में वह पार्लमेंटरी बोर्ड के प्रथम महामंत्री बनाये गए थे व इनकी मृत्यु 1 जुलाई 1962 को कोलकता में हुई थी। 

प्रफुल चन्द्र घोष

प्रफुल चन्द्र घोष जी को पश्चिम बंगाल के पहले मुख्यमंत्री बनाने का श्रेय जाता हैं यह भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी से थे इन्होने सबसे पहले 15 अगस्त 1947 से 14 अगस्त 1948 और उसके बाद 2 नवम्बर 1967 से 20 फरवरी 1968 तक पश्चिम बंगाल का मुख्यमंत्री पद संभाला था।

नाम प्रफुल चन्द्र घोष
जन्म 24 दिसम्बर 1891
पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
कार्यकाल 1947 – 1968
मृत्यु 18 दिसम्बर 1983

इनका जन्म बिट्रिश भारत में मलिकंदा में 24 दिसम्बर 1891 को हुआ था इनके पिता का नाम श्री पूर्ण चन्द्र घोष और माता का नाम श्रीमती बिनोदिनी देवी था। इन्होने बी.ए. और बी.एस.सी. मे स्नातक की उपाधि ली उसके बाद इन्होने एम.ए और एम.एस.सी की थी और यह कलकत्ता मिंट में काम करने वाले पहले भारतीय थे यहाँ पर यह एएसए मास्टर के रूप में कार्यरत थे।

प्रफुल चन्द्र घोष जी को वर्ष 1920 में कलकत्ता विश्वविद्यालय द्वारा रसायन विज्ञान में डॉक्टरेट की उपाधि दी गयी थी और इनकी मृत्यु 18 दिसम्बर 1983 को कलकत्ता में हुई थी।

>भारत का प्रधानमंत्री कौन हैं
>भारत के राष्ट्रपति कौन हैं
>भारत के सबसे अमीर आदमीं की लिस्ट
>भारत में कुल कितने राज्य है
>दुनिया मे कितने देश है

तो दोस्तों आज हमनें आपकों पश्चिम बंगाल का मुख्यमंत्री कौन हैं औऱ अब से कब तक पश्चिम बंगाल में कौन-कौन मुख्यमंत्री रहें है उन सबकी जानकारी प्रदान की गई हैं जोकि सामान्य ज्ञान व सरकारी नौकरीयों की परीक्षाओं रखने वाले लोगों के लिए बेहद मदतगार रही होंगी।

क्योंकि हमनें आपको पश्चिम बंगाल राज्य के आज तक के सभी मुख्यमंत्रियों के नाम तथा उनका कार्यकाल कितने समय का था सभी की जानकारी प्रदान की हैं चलिये एक नज़र पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्रियों की लिस्ट पर डालते हैं।

All Paschim Bangal CM List

मुख्यमंत्री कब से कब तक
प्रफुल चन्द्र घोष  1947 – 1968
बिधान चन्द्र राय 1948 -1962
अजय कुमार मुख़र्जी  1962 – 1967
सिद्धार्थ शंकर राय  1972 – 1977
ज्योति बासु 1977 – 2000
बुद्धादेव भट्टाचार्य 2000 – 2011
ममता बनर्जी वर्तमान

सवाल-जवाब पश्चिम बंगाल मुख्यमंत्री

Q- पश्चिम बंगाल का वर्तमान मुख्यमंत्री कौन हैं?

Ans- ममता बनर्जी

Q- पश्चिम बंगाल का पहला मुख्यमंत्री कौन था ?

Ans- प्रफुल चन्द्र घोष

Q- पश्चिम बंगाल की पहली महिला मुख्यमंत्री कौन थी ?

Ans- ममता बनर्जी

Q- पश्चिम बंगाल के दूसरे मुख्यमंत्री कौन थे ?

Ans- बिधान चन्द्र राय

Q- पश्चिम बंगाल के किस मुख्यमंत्री का जन्मदिवस चिकित्सक दिवस के रूप में  मनाया जाता है ?

Ans- बिधान चन्द्र राय

Q- पश्चिम बंगाल के किस मुख्यमंत्री को पद्मा विभूषण से समान्नित किया गया था ?

Ans- अजय कुमार मुख़र्जी

Q- पश्चिम बंगाल के किस मुख्यमंत्री को आराम बाग़ का गाँधी कहा जाता था ?

Ans- प्रफुल चन्द्र सेन

Q- पश्चिम बंगाल का सी एम कौन हैं ?

Ans- ममता बनर्जी

हम उमीद करते है कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा औऱ अगर पसंद आया है तो इसे अपने सभी दोस्तों के साथ जरूर Share करें तथा आपके कोई सवाल जवाब है तो हमने कमेंट बॉक्स के माध्यम से जरूर बतायें।

हर जानकारी अपनी भाषा हिंदी में सरल शब्दों में प्राप्त करने के हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे जहाँ आपको सही बात पूरी जानकारी के साथ प्रदान की जाती है हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें

मेरा नाम HP Jinjholiya है और इस Blog पर हर रोज नयी पोस्ट अपडेट करता हूँ। उमीद करता हूँ आपको मेरे द्वार लिखी गयी पोस्ट पसंद आयेगी और अगर आप भी हमारे साथ काम करना चाहतें है हमें मेल करें 

1 COMMENT

  1. Very good information.
    Etna behtareen article hai ki mujhe nhi lagta ab aage khi padhna padega. Aise articles se app ek din hindime.net ko bhi peeche chod denge. Bhut bhut subhkamnaye aapko

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.