भारत का नाम इंडिया कैसे और क्यों पड़ा

भारत एक ऐसा देश है जिसके एक नहीं अनेक नाम है और भारत देश को दुनिया भर में इंडिया के नाम से जाना जाता है इसलिए भारत का नाम इंडिया कैसे पड़ा और क्यों पड़ा साथ ही किसने रखा हमारे मन में इस तरह के यह सवाल अक्सर आते है जिसके बारे में अधिकतर लोगों को पता नहीं होता हैं।

भारत दुनिया के सबसे प्राचीनतम देशों में से एक है जिसका इतिहास बहुत पुराना है यही कारण है कि भारत को कई सारे अलग-अलग नाम मिले हैं भारत को लगभग 7 अलग-अलग नामों से जाना जाता है जिसमें तीन प्रमुख नाम है भारत, हिंदुस्तान और इंडिया!

Bharat Ka Naam India kaise pada

दुनिया के बड़े-बड़े देश जैसे अमेरिका, चीन, इंग्लैंड, रूस लगभग सभी देशों को हिंदी और इंग्लिश में एक ही नाम और एक ही उच्चारण के साथ बोला जाता है परंतु भारत को हम इंग्लिश में इंडिया के नाम से जानते हैं लेकिन क्या सच में भारत को इंग्लिश में इंडिया कहा जाता है या फिर इंडिया शब्द कहीं और से आया है चलिए विस्तार से जानते हैं।

भारत का नाम इंडिया कैसे पड़ा

अधिकतर लोगों का मानना है कि भारत को इंग्लिश में इंडिया कहते हैं परंतु भारत का नाम इंडिया कहीं और से आया है दरअसल, भारत का नाम इंडिया “सिंधु घाटी सभ्यता” और “सिंधु नदी” के आधार पर मिला है।

सिंधु नदी भारत की प्राचीनतम नदी और दुनिया की सबसे बड़ी नदियों में से एक है जोकि पाकिस्तान चीन और भारत में बहती है और भारत का अंग्रेजी नाम इंडिया शब्द की उत्पत्ति भी सिंधु शब्द से ही हुई है।

दरअसल, सिंधु नदी को संस्कृत में “सिंधु” और अंग्रेजी में “इंडस” कहा जाता था और जब अंग्रेज 18वीं सदी में भारत में आए तो उस समय भारत को “हिन्द और हिंदुस्तान” के नाम से जाना जाता था जोकि पुराने और प्राचीनतम नाम थे इसलिए अंग्रेजों को इन नाम को बोलने और उच्चारण करने में काफी परेशानी होती थी।

इसलिए उस समय प्राचीन सिंधु घाटी सभ्यता को “इंडस वैली” और सिंधु नदी को “इंडस नदी” कहते थे जिसके आधार पर अंग्रेजों ने भारत को इंडिया कहना शुरू कर दिया और अंग्रेजों को यह शब्द इतना पसंद आया कि उन्होंने भारत को इंडिया का नाम दे दिया जिसके बाद अंग्रेजी साम्राज्य के दौरान भारत का नाम इंडिया काफी प्रसिद्ध हुआ और लगभग दुनिया के सभी देशों में भारत को इंडिया के नाम से जाना जाने लगा।

जिसके फलस्वरूप भारत को इंडिया का नाम मिला और भारत में रहने वाले लोगों को “इंडियंस” कहा जाने लगा और जब अंग्रेजी हुकूमत ब्रिटिश शासन से स्वतंत्रता के बाद भारत आजाद हुआ तो भारतीय संविधान में भी “इंडिया” नाम को स्वीकार कर लिया जिसके बाद इस नाम इंडिया को आजादी के बाद मान्यता मिली और भारत को पूरी दुनिया में इंडिया के नाम से जाना जाने लगा।

इस तरह भारत को इंग्लिश में इंडिया नहीं कहा जाता बल्कि यह एक अलग शब्द है जोकि लेटिन भाषा से निकला है जिसको अंग्रेजी शासनकाल से भारत को दिया गया है और पूरी दुनिया में इस नाम के अत्यधिक प्रचलन के कारण भारत का नाम इंडिया पड़ा।

>दुनिया मे कितने देश है
>भारत का राष्ट्रपति कौन हैं
>भारत के सबसे अमीर आदमीं जानिये
>दुनिया का सबसे अमीर आदमीं जानिये

भारत के कितने नाम हैं

भारत देश एक है जिसके नाम अनेक है क्योंकि भारत देश को अलग-अलग समय के दौरान अलग-अलग नाम दिए गए हैं हालांकि भारत में आधिकारिक तौर पर तीन नामों का सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है भारत, इंडिया और हिंदुस्तान इसके अलावा भी भारत को अलग-अलग नामों से जाना जाता है जिसमें से हम आपको सात मुख्य नामों की लिस्ट प्रदान कर रहे हैं जोकि इस प्रकार है-

1. भारत

2. इंडिया

3. हिंदुस्तान

4. आर्यावर्त

5. जंबूद्वीप

6. भारतखण्ड व भारतवर्ष

7. हिन्द

भारत का सबसे पुराना नाम आर्यावर्त है और अनेक पुराणों तथा कथाओं के अनुसार भारत को अनेकों नाम मिले हैं परंतु वर्तमान समय में भारत देश के लिए 3 नाम सबसे ज्यादा इस्तेमाल किये जाते हैं और इन्हीं नामों से भारत को पूरी दुनिया में जाना जाता है 1- इंडिया, 2- भारत और 3- हिंदुस्तान

भारत का नाम पर सवाल-जवाब

भारत का प्रथम प्राचीन और पहला नाम क्या था?
-आर्यावर्त

इंडिया के चार नाम क्या है?
-भारत, आर्यावर्त, हिंदुस्तान, जंबूद्वीप

भारतीय संविधान में देश के कितने नामों का उल्लेख है?
-तीन

इंडियन शब्द कहाँ औऱ कैसे आया हैं?
-इंडिया शब्द सिंधु नदी से बना है

भारत को इंडिया क्यों कहते हैं?
-सिंधु नदी के कारण

तो दोस्तों भारत का नाम इंडिया कैसे पड़ा इस बारे में हमने आपको विस्तार से बताया है और इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आप अच्छी तरह जान चुके होंगे कि भारत का नाम इंडिया कब कैसे और क्यों पड़ा।

हालांकि भारत दुनिया की सबसे प्राचीनतम संस्कृति और देश है जिसके कारण अलग-अलग समय व युग के दौरान भारत को अलग-अलग कई नाम दिए गए जिसका उल्लेख हमारे पुराणों और इतिहास में भी देखने को मिलता है।

हम आपको बता दें हमारे द्वारा प्रदान की गई यह जानकारी इंटरनेट के विभिन्न स्रोतों से प्राप्त की गई है जिसको पूरी तरह अध्ययन और रिसर्च करके आपके सामने प्रस्तुत किया गया है इसलिए अगर इस जानकारी में आपको किसी भी तरह की कोई त्रुटि मिलती है तो आप हमें कमेंट बॉक्स के माध्यम से बता सकते है तथा अपने सुझाव और महत्वपूर्ण बिंदु हमारे साथ शेयर कर सकते हैं।

दोस्तों हम उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा और इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपको हमारे भारत के नामों के बारे में बहुत ज्यादा जानकारी मिली होगी जोकि आपके सामान्य ज्ञान में वृद्धि करने के साथ-साथ अपने भारत के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करेगी।

तो दोस्तों अगर आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आता है तो इसे भारतवर्ष के हर व्यक्ति के साथ जरूर शेयर करें ताकि वह भी समझ सके कि भारत का नाम इंडिया कैसे पड़ा और क्यों पड़ा।

हर जानकारी अपनी भाषा हिंदी में सरल शब्दों में प्राप्त करने के हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे जहाँ आपको सही बात पूरी जानकारी के साथ प्रदान की जाती है हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें.

मेरा नाम HP Jinjholiya है और इस Blog पर हर रोज नयी पोस्ट अपडेट करता हूँ। उमीद करता हूँ आपको मेरे द्वार लिखी गयी पोस्ट पसंद आयेगी और अगर आप भी हमारे साथ काम करना चाहतें है हमें मेल करें 

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.