इंडिया की सबसे छोटी सिटी कौन सी है

WhatsApp Channel Join
3/5 - (2 votes)
India ki sabse chhoti City kaun si hai

कभी-कभी हमारी जिज्ञासा उन छोटे शहरों की ओर भी खींचती है जो अपने छोटे आकार के होने के बावजूद भी भारत के विशाल नक्शे पर अपनी एक अनोखी पहचान रखते हैं यहां हम बात कर रहे हैं इंडिया की सबसे छोटी सिटी के बारे में जिसने हमारा ध्यान अपनी और आकर्षित किया है।

भारत एक अनोखा देश है जो अपनी अनोखी विविधताओं के लिए विश्व भर में प्रसिद्ध है भारत के इस विशाल भूभाग में महानगरों से लेकर छोटे-छोटे कस्बों तक हर जगह का अपना एक महत्व और पहचान है।

ऐसी ही एक अलग पहचान पंजाब का पेरिस कहा जाने वाला कपूरथला है जोकि इंडिया की सबसे छोटी सिटी के नाम से जाना जाता है।

इंडिया की सबसे छोटी सिटी कौन सी है

जी हां, भारत का सबसे छोटा शहर कपूरथला है जोकि अपनी खूबसूरती के लिए जाना जाता है यह छोटा सा शहर अपनी खूबसूरती से लोगों को अपना दीवाना बना लेता है यह शहर यह न केवल इंडिया की सबसे छोटी सिटी का दर्जा अपने नाम रखता है बल्कि इसकी खूबसूरती देखते ही मन मोह लेती है।

जैसे कि आप सब जानते हैं भारत में 28 राज्य और 8 केंद्र शासित प्रदेश है और इन 28 राज्यों में से कपूरथला भारत का सबसे छोटा शहर है परंतु यह इंडिया की सबसे छोटी सिटी किस दृष्टि से है? यह जानना भी आपके लिए बेहद महत्वपूर्ण हो जाता है।

दरअसल भारत में सबसे छोटे और सबसे बड़े राज्यों व शहरों का वर्गीकरण दो प्रकार से किया जाता है पहले जनसंख्या के आधार पर और दूसरा क्षेत्रफल के हिसाब से इन दोनों ही मानकों के आधार पर भारत में राज्यों और शहरों के छोटे-बड़े होने का वर्गीकरण किया गया है।

कपूरथला जोकि इंडिया की सबसे छोटी सिटी है असल में वह जनसंख्या के हिसाब से भारत का सबसे छोटा शहर है।

क्योंकि भारत की आखिरी जनसंख्या की गणना 2011 में हुई थी परंतु उसके बाद अभी तक कोई जनगणना नहीं हुई है और आखिरी जनगणना के अनुसार इस शहर की जनसंख्या 98,916 थी जिसके मुताबिक पंजाब राज्य का यह शहर कपूरथला भारत में जनसंख्या की दृष्टि के अनुसार भारत का सबसे छोटा शहर है जिसे पंजाब का पेरिस के नाम से भी जाना जाता है।

कपूरथला शहर की जानकारी

ऐसा माना जाता है कि कपूरथला शहर के नाम के पीछे इसका इतिहास है और शहर के संस्थापक नवाब कपूर सिंह के नाम पर ही इस शहर का नाम कपूरथला पड़ा हालांकि पंजाब के इस शहर के बाद भारत का दूसरा सबसे कम आबादी वाला शहर राजस्थान राज्य का है जिसका नाम बांसवाड़ा है।

कपूरथला शहर की साल 2011 की जनगणना के अनुसार यहां की कुल जनसंख्या 98916 थी जिसमें पुरुषों की संख्या 53801 और महिलाओं की संख्या 45115 आई गई है इस प्रकार यह है शहर सबसे कम जनसंख्या वाला भारत का शहर बन जाता है।

हालांकि माना जाता है कि एक समय यहां पर साफ सफाई इस कदर थी किस शहर को पंजाब का पेरिस भी कहा जाता था और यह शहर न केवल अपनी सुंदरता और खूबसूरती के लिए महत्वपूर्ण है बल्कि भारतीय रेलवे की दृष्टि से भी महत्वपूर्ण स्थान रखता है क्योंकि भारतीय रेलवे की इंटीग्रल कोच फैक्ट्री(IFC) इसी शहर में स्थित है।

कपूरथला के ऐतिहासिक पर्यटन स्थल

कपूरथला पंजाब का एक ऐतिहासिक शहर है जोकि जगत सिंह की शाही राजधानी रह चुका है कपूरथला की यात्रा आपको पंजाब के राजसी इतिहास और संस्कृति विरासत से रूबरू कराता है।

पंच मंदिर

पंच मंदिर कपूरथला का एक प्रमुख आकर्षण है जिसका निर्माण सरदार फतेह सिंह ने करवाया था इस मंदिर में सूर्य भगवान की एक अद्भुत प्रतिमा है जिस पर हर सुबह सूरज की किरणें सीधी पड़ती हैं यहाँ के मुख्य रजत द्वार से एक भक्त सभी मूर्तियों को प्रणाम कर सकता है।

मूरिश मस्जिद

मूरिश मस्जिद जिसका निर्माण महाराजा जगतजीत सिंह ने करवाया था कपूरथला की धार्मिक सहिष्णुता का प्रतीक है इसकी आंतरिक सजावट लाहौर के मायो कला विद्यालय के कलाकारों द्वारा की गई है और यह राष्ट्रीय स्मारक के रूप में संरक्षित है।

जगतजीत क्लब

जगतजीत क्लब कपूरथला के बीचोबीच स्थित है और इसकी वास्तुकला ग्रीक शैली में बनी है यह इमारत अपने बनने के समय से लेकर आज तक विभिन्न उपयोगों में आई है।

गुरुद्वारा बेर साहिब

गुरुद्वारा बेर साहिब जहां सिखों के पहले गुरु, गुरु नानक देव ने अपनी जिंदगी के 14 साल बिताए और दिव्य ज्ञान प्राप्त किया था इसलिए सिख धर्म के अनुयायियों के लिए एक महत्वपूर्ण स्थान है।

रेल कोच फैक्ट्री

रेल कोच फैक्ट्री जो भारतीय रेलवे के लिए रेल डिब्बे बनाती है भी एक दर्शनीय स्थल है यहाँ की आधुनिक मशीनरी और उत्पादन प्रक्रिया देखना एक अनोखा अनुभव है।

हम उम्मीद करते हैं कि हमारे द्वारा दी गई है जानकारी जो आप ढूंढ़ते-ढूंढ़ते हमारी वेबसाइट पर आए थे उससे आपको मदद मिली होगी और अगर आपको वाकई में ही ऐसा लगता है कि यह जानकारी न केवल आपके लिए बल्कि आपके परिवार और दोस्तों के साथ-साथ सभी के लिए महत्वपूर्ण है तो इस जानकारी को दूसरों के साथ शेयर करने में विलंब ना करें हमारी मुलाकात आपसे फिर होगी! आपका दिन शुभ रहे!

Google NewsFacebook
WhatsAppTelegram

हमसे जुड़े रहने के लिए और हर जानकारी को अपनी भाषा हिंदी में पाने के लिए आप हमें गूगल, फेसबुक, व्हाट्सएप, टेलीग्राम जो भी आप इस्तेमाल करते हैं उस पर जुड़ सकते हैं😊

NewsMeto
Logo