सिक्किम का मुख्यमंत्री कौन हैं जानिये

सिक्किम राज्य सुन्दर पहाड़ो, गहरी घाटियों और जैव विविधताओ से सज्जित हैं यह अंगूठे के आकर का भारत का पर्वतीय राज्य हैं जोकि इसके पूर्वोत्तर भाग में स्थित हैं और प्रत्येक राज्य की तरह यहाँ हर पांच साल के बाद चुनाव के जरिये मुख्यमंत्री चुना जाता है इसलिए कई महापुरुष सिक्किम के मुख्यमंत्री बन चुके है लेक़िन क्या आप जानते हैं वर्तमान में सिक्किम का मुख्यमंत्री कौन हैं?

सिक्किम राज्य अपने में एक अलग ही महत्व रखता हैं यह भारत का दूसरा सबसे छोटा राज्य हैं और इसकी आबादी भी कम हैं। इसका गठन 10 अप्रैल 1975 को हुआ था इसकी राजधानी गंगटोक हैं जिसका अर्थ होता हैं “पहाड़ की चोटी“ यह शहर शिवालिक की पहाडियों पर स्थित हैं। 

mukhyamantri kaun hai Hindi me

एक समय पर यहाँ पर नामग्याल राजवंश का राज हुआ करता था और राजा के द्वारा ही राजकाज को संभाला जाता था परन्तु जब सिक्किम को भारत में सम्मिलित किया गया तब से राज्य को सुचारू रूप से चलाने के लिए हर पांच साल के बाद चुनाव के जरिये मुख्यमंत्री चुना जाता है।

क्योंकि अक़्सर सरकारी नौकरीयों की परीक्षाओं में राज्यों के मुख्यमंत्रियों के नाम पूछें जाते हैं चूँकि हर पांच साल के बाद चुनाव के द्वारा राज्य का मुख्यमंत्री चुना जाता हैं इसलिए राज्य के मुख्यमंत्री बदलतें रहते हैं जिसे अपडेट रहना पड़ता हैं।

इसलिए आज हम आपको सिक्किम के वर्तमान समय के मुख्यमंत्री से लेकर पूर्व मुख्यमंत्री तक के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्रदान करने वाले हैं जैसे अभी तक सिक्किम में कितने मुख्यमंत्री हुए हैं और उनके नाम क्या हैं व उन्होंने कब से कब तक पद को संभाला है इत्यादि तो चलिए जानते हैं कि आज सिक्किम का मुख्यमंत्री कौन हैं?

सिक्किम
राज्य की राजधानी गंगटोक
गठन 10 अप्रैल 1975
क्षेत्रफल 7,096 वर्ग किमी
जनसंख्या 6,10,577
सबसे बड़ा शहर गंगटोक
राज भाषाएँ लेप्चा, भूटिया, लिम्बु

सिक्किम का मुख्यमंत्री कौन हैं?

वर्तमान समय में सिक्किम का मुख्यमंत्री श्री प्रेम सिंह तमांग जी हैं यह सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा पार्टी से हैं साथ ही यह इसके संस्थापक भी हैं। यह अपनी पार्टी बनाने से पहले सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट पार्टी के प्रमुख सदस्य थे इन्होने सिक्किम के मुख्यमंत्री के रूप में अपने कार्यकाल की शुरुआत 27 मई 2019 को की थी।

नाम प्रेम सिंह तमांग
जन्म 5 फरवरी 1968
पार्टी सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा
कार्यकाल 27 मई 2019 – वर्तमान

इनका जन्म सिक्किम के सोरेंग में 5 फरवरी 1968 को हुआ था इनके पिता का नाम श्री कालू सिंह तमांग और माता का नाम श्रीमती धन माया तमांग हैं व इनके पुत्र आदित्य तमांग राजनेता हैं जोकि सोरेंग काकुंग से सिक्किम विधानसभा के सदस्य हैं।

प्रेम सिंह तमांग जी ने वर्ष 1990 से 1993 तक सिक्किम सरकार के मानव संसाधन विकास के तहत स्नातक शिक्षक के रूप में कार्य किया था तथा इनके द्वारा वर्ष 1994 से 2004 तक पशुपालन और उद्योग विभाग के मंत्री के रूप में अपनी सेवाए प्रदान की गयी थी इसके बाद वर्ष 2004 से 2009 तक इन्होने भवन और आवास विभाग के मंत्री के रूप में कार्य किया।

पवन कुमार चामलिंग

पवन कुमार चामलिंग जी के नाम सिक्किम के सबसे लम्बे समय 24 वर्ष 4 महीने तक मुख्यमंत्री रहने का श्रेय हैं यह भारत के पहले ऐसे नेता है जो किसी राज्य के पांच बार मुख्यमंत्री रहे हैं। यह सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट पार्टी से समबंध रखते थे और इसके संस्थापक भी थे इन्होने 12 दिसम्बर 1994 से 26 मई 2019 तक सिक्किम का मुख्यमंत्री पद संभाला था।

नाम पवन कुमार चामलिंग
जन्म 22 सितम्बर 1949
पार्टी सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट
कार्यकाल 1994 –2019

पवन कुमार चामलिंग का जन्म सिक्किम के यांगंग में 22 सितम्बर 1949 को हुआ था इनकी दो पत्नियाँ थी पहली पत्नी का नाम श्रीमती धन माया चामलिंग और दूसरी पत्नी श्रीमती टीका माया चामलिंग हैं व इनके 8 बच्चे हैं।

यह नेपाली भाषा के लेखक भी हैं जो पेन चामलिंग किरण के नाम से लिखते हैं इन्हें वर्ष 2010 में सिक्किम साहित्य परिषद् द्वारा भानु पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। चामलिंग को वर्ष 1982 में यांगंग ग्राम पंचयत के अध्यक्ष के रूप में चुना गया था और वर्ष 1989 से 1992 तक उद्योग, सूचना और जनसंपर्क मंत्री रहे थे।

संचमान लिम्बू

संचमान लिम्बू जी ने सिर्फ 179 दिन के लिए मुख्यमंत्री पद को संभाला था यह सिक्किम संग्राम परिषद् पार्टी से थे इन्होने 17 जून 1994 से 12 दिसम्बर 1994 तक सिक्किम का मुख्यमंत्री पद संभाला था।

नाम संचमान लिम्बू
जन्म 15 जनवरी 1947
पार्टी सिक्किम संग्राम परिषद्
कार्यकाल 1994
मृत्यु 8 नवम्बर 2020

संचमान लिम्बू जी का जन्म 15 जनवरी 1947 को ही यांगथांग, सिक्किम में हुआ था इनकी पत्नी का नाम श्रीमती निर्मला सुब्बा हैं व इनके 2 बेटे और 1 बेटी हैं। इनका निधन 8 नवम्बर 2020 को सिक्किम की राजधानी गंगटोक में हुआ था।

बी.बी. गुरुंग

बी.बी. गुरुंग जी सिक्किम के सबसे कम समय 14 दिन के लिए मुख्यमंत्री पद पर रहे थे यह सिक्किम के तीसरे मुख्यमंत्री थे जो सिक्किम राज्य कांग्रेस पार्टी से थे इन्होने 11 मई 1984 से 25 मई 1984 तक सिक्किम का मुख्यमंत्री पद संभाला था।

नाम भीम बहादुर गुरुंग
जन्म 11 अक्टूबर 1929
पार्टी सिक्किम राज्य कांग्रेस
कार्यकाल 1984 

इनका जन्म सिक्किम के च्खुंग में 11 अक्टूबर 1929 को हुआ था इन्होने यूनिवर्सिटी ऑफ़ कलकत्ता से स्नातक की उपाधि ली थी व वर्ष 1953 से 1955 तक शिक्षक के रूप में कार्य किया और सिक्किम के सबसे पहले समाचार आधारित नेपाली जर्नल को कंचनजंगा नाम से सम्पादित किया था।

इनके राजनितिक जीवन की शुरुआत सिक्किम राज्य कांग्रेस की सदस्यता से हुई थी वर्ष 1958 में उन्हें महासचिव का पद दिया गया था तथा सिक्किम विधानसभा में उन्हें वर्ष 1977 में स्पीकर के रूप में नियुक्त किया गया था और वह वर्ष 1979 तक इस पद पर रहे।

नर बहादुर भंडारी

नर बहादुर भंडारी जी गोरखा मूल के पहले भारतीय मुख्यमंत्री थे इन्हें आधुनिक सिक्किम के वास्तुकार के रूप में भी जाना जाता हैं और यह सिक्किम संग्राम परिषद् पार्टी से थे और इसके संस्थापक नेता भी थे।

इन्होने दो बार सिक्किम का मुख्यमंत्री पद संभाला था इनका पहला कार्यकाल का समय 18 अक्टूबर 1979 से 11 मई 1984 तक था उसके बाद दूसरा कार्यकाल 8 मार्च 1985 से 17 जून 1994 तक रहा और इनका जन्म सिक्किम के सोरेंग में 5 अक्टूबर 1940 को हुआ था।

नाम नर बहादुर भंडारी
जन्म 5 अक्टूबर 1940
पार्टी सिक्किम संग्राम परिषद्
कार्यकाल 1979 – 1994
मृत्यु 16 जुलाई 2017

नर बहादुर भंडारी जी ने राजनीती में प्रवेश से पहले एक शिक्षक के रूप में सेवाएँ प्रदान की थी इनकी पत्नी का नाम श्रीमती दिल कुमारी भंडारी था जोकि लोकसभा की सदस्य थी। भारत के सविधान की 8वीं अनुसूची में नेपाली भाषा को शामिल करने के उनके प्रयासों के लिए इन्हे याद किया जाता हैं इनका निधन 16 जुलाई 2017 को नई दिल्ली में हुई।

कानजी लेंडुप दोरजी

कानजी लेंडुप दोरजी सिक्किम राज्य के पहले मुख्यमंत्री थे जो लेपचा मूल के थे और वर्ष 1962 में सिक्किम नेशनल कांग्रेस की राजनितिक पार्टी बनाने में मदद की थी सिक्किम नेशनल कांग्रेस की स्थापना एक गैर सांप्रदायिक राजनितिक दल के रूप में की गयी थी इसके बाद यह भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस में शामिल हो गए थे इनका मुख्यमंत्री के रूप में कार्यकाल 16 मई 1975 से 18 अगस्त 1979 तक रहा था। 

नाम कानजी लेंडुप दोरजी
जन्म 11 अक्टूबर 1904
पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस, सिक्किम नेशनल कांग्रेस
कार्यकाल 1975 –1979
मृत्यु 28 जुलाई 2007

इनका जन्म 11 अक्टूबर 1904 को सिक्किम के पकयोंग में हुआ था इनकी पत्नी का नाम श्रीमती एलिसा मारिया था और इनका निधन 28 जुलाई 2007 को पश्चिम बंगाल के कलिम्पोंग में 102 वर्ष की आयु में दिल का दौरा पड़ने से हुई थी।

भारत के साथ सिक्किम के 1975 के संघ में दोरजी को एक प्रमुख वक्ता माना जाता हैं दोरजी ने वर्ष 1945 में सिक्किम प्रजा मंडल की स्थापना की और इसके पहले अध्यक्ष के रूप में कार्य किया। दोरजी को भारत सरकार ने वर्ष 2002 में पद्म विभूषण से सम्मानित किया था उसके बाद वर्ष 2004 में सिक्किम की राज्य सरकार द्वारा सिक्किम रत्न से भी सम्मानित किया गया था।

>भारत का प्रधानमंत्री कौन हैं
>भारत के राष्ट्रपति कौन हैं
>भारत के सबसे अमीर आदमीं की लिस्ट
>भारत में कुल कितने राज्य है
>दुनिया मे कितने देश है

तो दोस्तों आज हमनें आपकों सिक्किम का मुख्यमंत्री कौन हैं औऱ अब से कब तक सिक्किम में कौन-कौन मुख्यमंत्री रहें है उन सबकी जानकारी प्रदान की गई हैं जोकि सामान्य ज्ञान व सरकारी नौकरीयों की परीक्षाओं रखने वाले लोगों के लिए बेहद मदतगार रही होंगी।

क्योंकि हमनें आपको सिक्किम राज्य के आज तक के सभी मुख्यमंत्रियों के नाम तथा उनका कार्यकाल कितने समय का था सभी की जानकारी प्रदान की हैं चलिये एक नज़र सिक्किम के मुख्यमंत्रियों की लिस्ट पर डालते हैं।

All Sikkim CM List

मुख्यमंत्री कब से कब तक
कानजी लेंडुप दोरजी 1975 –1979
नर बहादुर भंडारी 1979 – 1994
बी॰बी॰ गुरुंग 1984 (14 दिन)
संचमान लिम्बू  1994
पवन कुमार चामलिंग  1994 –2019 (25 वर्ष)
प्रेम सिंह तमांग  वर्तमान

सवाल-जवाब सिक्किम मुख्यमंत्री

Q- सिक्किम का वर्तमान मुख्यमंत्री कौन हैं?

Ans- प्रेम सिंह तमांग

Q- सिक्किम का पहला मुख्यमंत्री कौन था ?

Ans- कानजी लेंडुप दोरजी

Q- सिक्किम का दूसरा मुख्यमंत्री कौन था ?

Ans- नर बहादुर भंडारी

Q- सिक्किम का तीसरा मुख्यमंत्री कौन था ?

Ans- बी.बी. गुरुंग

Q- सिक्किम में सबसे लम्बे समय तक कौन मुख्यमंत्री पद पर रहा ?

Ans- पवन कुमार चामलिंग

Q- सिक्किम में सबसे कम समय के लिए कौन मुख्यमंत्री रहा था ?

Ans- बी.बी. गुरुंग

Q- सिक्किम का सीएम कौन हैं?

Ans- प्रेम सिंह तमांग

हम उमीद करते है कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा औऱ अगर पसंद आया है तो इसे अपने सभी दोस्तों के साथ जरूर Share करें तथा आपके कोई सवाल जवाब है तो हमने कमेंट बॉक्स के माध्यम से जरूर बतायें।

हर जानकारी अपनी भाषा हिंदी में सरल शब्दों में प्राप्त करने के हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे जहाँ आपको सही बात पूरी जानकारी के साथ प्रदान की जाती है हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें

मेरा नाम HP Jinjholiya है और इस Blog पर हर रोज नयी पोस्ट अपडेट करता हूँ। उमीद करता हूँ आपको मेरे द्वार लिखी गयी पोस्ट पसंद आयेगी और अगर आप भी हमारे साथ काम करना चाहतें है हमें मेल करें 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.