4 June 2024 Future Government: मोदी ने ली समाधि जानें 4 जून को क्या होगा किसकी बनेगी सरकार

WhatsApp Channel Join
अपनी रेटिंग दे!

4 June 2024 Future Government: भविष्य मालिका में लिखा गया है कि 4 जून को भारत के इतिहास का सबसे बड़ा राजनीतिक भूचाल आने वाला है इस दिन जो व्यक्ति 30 मई की शाम को कन्याकुमारी के ध्यान मंडपम में प्रवेश हुआ था वह 1 जून को अपने असली रूप में प्रकट होगा और 4 जून को भारत का अंतिम राजा बनेगा।

इस घटना के बाद भारत में विद्रोह की चिंगारी भड़कने वाली है क्योंकि अब संघर्ष बलदेव और कली पुरुष के बीच होगा यह संघर्ष धर्म और अधर्म के बीच की लड़ाई का प्रतीक होगा जिसमें भारत का भविष्य दांव पर होगा।

इस भविष्यवाणी ने देशभर में हलचल मचा दी है और लोग 4 June 2024 दिन का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं क्या यह भविष्यवाणी सच साबित होगी? क्या भारत में राजनीतिक और सामाजिक परिवर्तनों की यह लहर वाकई आने वाली है? इन सवालों का जवाब पाने के लिए पढ़ें पूरी कहानी।

4 June 2024 Future Government- भविष्यवाणी

भविष्य मालिका में वर्णित भविष्यवाणी के अनुसार 2024 के चुनावों को लेकर एक बड़ा षड्यंत्र रचा जा रहा है दिल्ली में एक गुप्त बैठक हो रही है जिसमें 150 एनजीओ, 26 राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि और कई लेफ्ट लिबरल तथा जिहादी गैंग के सदस्य शामिल हैं।

इस बैठक का उद्देश्य 2024 के चुनावों को अवैध घोषित करने की योजना बनाना है इस षड्यंत्र का लक्ष्य लोकतंत्र को भीड़तंत्र के माध्यम से कुचलना और भारत में इस्लामिक शासन लागू करना है इस योजना के अंतर्गत बांग्लादेशी और रोहिंग्या मुस्लिम्स के माध्यम से हिंसा भड़काने की तैयारी की जा रही है।

यह सब सुनने में काल्पनिक या मजाक जैसा लग सकता है लेकिन यह एक कठोर सत्य है।

इस षड्यंत्र को अनदेखा करना देश के लिए खतरनाक साबित हो सकता है कली पुरुष जो एक अदृश्य नकारात्मक ऊर्जा का मनुष्य रूप है अपने षड्यंत्र को अंजाम देने के लिए तैयार है इस षड्यंत्र का मुख्य उद्देश्य भारत में इस्लामिक शासन की स्थापना करना है।

अगर इसे समय रहते नहीं रोका गया तो देश का अस्तित्व खतरे में आ सकता है ऐसे में यह देखना महत्वपूर्ण होगा कि बलदेव का अवतार इस षड्यंत्र का अंत कैसे करेगा और भारत को किस प्रकार से बचाएगा।

PM Modi की समाधि किसकी बनेगी सरकार

भविष्य मालिका की भविष्यवाणियों के अनुसार 4 जून से लेकर अगले 6 महीनों तक भारत में कई महत्वपूर्ण घटनाएं घटित होने वाली हैं इस अवधि में देश में राजनीतिक, सामाजिक और धार्मिक परिवर्तनों की लहर चलने की भविष्यवाणी की गई है यह समय देश के इतिहास में एक महत्वपूर्ण मोड़ साबित हो सकता है।

जैसा कि बताया गया है 4 जून को एक व्यक्ति जो 30 मई को कन्याकुमारी के ध्यान मंडपम में प्रवेश हुआ था अपने असली रूप में प्रकट होगा और भारत का अंतिम राजा बनेगा इस घटना के बाद देश में विद्रोह की चिंगारी भड़कने की संभावना है। बलदेव और कली पुरुष के बीच संघर्ष का यह समय होगा जो धर्म और अधर्म की अंतिम लड़ाई के रूप में देखा जा रहा है।

यह देखना रोचक होगा कि इस अवधि में क्या-क्या घटित होता है और क्या भविष्य मालिका की भविष्यवाणियां सच साबित होती हैं इस अवधि में देश में राजनीतिक भूचाल, सामाजिक उथल-पुथल और धार्मिक संघर्ष देखने को मिल सकते हैं।

देश के हर नागरिक के लिए यह समय जागरूक और सतर्क रहने का है बलदेव का अवतार और कली पुरुष के षड्यंत्रों का अंत दोनों ही घटनाएं इस अवधि को अत्यंत महत्वपूर्ण बनाती हैं यह देखना महत्वपूर्ण होगा कि क्या यह समय देश के भविष्य को एक नई दिशा देने में सफल होता है या नहीं।

कली पुरुष

कली एक अदृश्य नकारात्मक ऊर्जा इस कलयुग में पूरे पृथ्वी का नियंत्रण करती है इस ऊर्जा का सबसे खतरनाक रूप कली पुरुष है जो इस नकारात्मकता को अपने षड्यंत्रों के माध्यम से अंजाम देता है। संत गुरु अचू आनंद जी की भविष्यवाणी के अनुसार त्रिजटा वंश का अंतिम वंशज ही कली पुरुष होगा यह वंशज इतना शक्तिशाली होगा कि उसे रोकना लगभग असंभव होगा।

कली पुरुष का मुख्य उद्देश्य भारत में अराजकता फैलाना और अपने षड्यंत्रों के माध्यम से देश को अपने नियंत्रण में लेना है वह विभिन्न माध्यमों से अपनी शक्तियों का विस्तार करता है जिनमें देश की न्याय व्यवस्था, विश्वविद्यालय और अन्य महत्वपूर्ण संस्थान शामिल हैं। कली पुरुष के नियंत्रण में देश के सभी बड़े विश्वविद्यालय जैसे जेएनयू और एएमयू यहां तक कि हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट भी हैं।

इसके अलावा देश के अंदर मौजूद सभी गैर-भारतीय जैसे रोहिंग्या और बांग्लादेशी मुसलमानों का भी नियंत्रण कली पुरुष के हाथों में है यह स्थिति देश के लिए अत्यंत गंभीर और चिंताजनक है। कली पुरुष का यह षड्यंत्र देशद्रोही माओवादी, कम्युनिस्ट और आतंकवादियों के माध्यम से भारत की संप्रभुता को चुनौती दे रहा है।

यह समय की मांग है कि इस अदृश्य नकारात्मक ऊर्जा के मनुष्य रूप कली पुरुष को समाप्त करने के लिए एक दिव्य पुरुष का अवतार हो जो संत गुरु अचू आनंद जी की भविष्यवाणी के अनुसार बलदेव ही होंगे। बलदेव का अवतार ही इस खतरनाक षड्यंत्र का अंत कर सकता है और भारत को इस संकट से बाहर निकाल सकता है।

4 June 2024 भविष्य मालिका की भविष्यवाणी

भविष्य मालिका में बड़े प्रभु बलदेव जी से जुड़ी कई लीलाओं का उल्लेख है जो सुनने में जितनी अद्भुत हैं उतनी ही रहस्यमय भी इन लीलाओं में बलदेव जी का अवतार उनके अद्वितीय कार्य और धर्म की स्थापना की बातें कही गई हैं। आधुनिक युग में जब विज्ञान और तर्क का बोलबाला है इन सब बातों का मूल्य कम हो गया है इसलिए लोग दिव्य पुरुषों और उनकी लीलाओं पर विश्वास करने से कतराते हैं।

लेकिन वर्तमान समय में कली का प्रभाव चरम पर है कली एक अदृश्य नकारात्मक ऊर्जा अपने मनुष्य रूप कली पुरुष के माध्यम से धरती पर अराजकता फैला रही है ऐसे समय में भविष्य मालिका की भविष्यवाणियों का महत्व बढ़ जाता है। संत गुरु अचू आनंद जी ने कहा था कि जब कली का प्रभाव सबसे अधिक होगा तब एक दिव्य पुरुष का अवतार होगा जो इस नकारात्मकता का अंत करेगा।

बलदेव का अवतार ही इस संकट का समाधान है लेकिन उन्हें सही से पहचानना सबके बस की बात नहीं है जब कली पुरुष का प्रभाव हर ओर फैला हुआ है तब एक दिव्य पुरुष का अवतरित होना एक बड़ी उम्मीद की किरण है यह समय की मांग है कि हम इन भविष्यवाणियों को गंभीरता से लें और बलदेव के रूप में आए इस दिव्य पुरुष को पहचानें और उनके मार्गदर्शन का पालन करें।

कली पुरुष और बलदेव का संघर्ष

भविष्य मालिका की भविष्यवाणी के अनुसार कली पुरुष और बलदेव के बीच का संघर्ष धरती पर धर्म और अधर्म की अंतिम लड़ाई के रूप में देखा जा रहा है। कली पुरुष जो नकारात्मक ऊर्जा का साक्षात रूप है अपने षड्यंत्रों के माध्यम से धरती पर अराजकता फैलाने का प्रयास कर रहा है दूसरी ओर बलदेव जो एक दिव्य पुरुष के रूप में अवतरित हुए हैं इस अराजकता का अंत करने और धर्म की स्थापना के लिए संकल्पित हैं।

इस संघर्ष का एक ऐसा क्षण भी आएगा जब लगेगा कि बलदेव परास्त होने वाले हैं कली पुरुष की शक्तियां इतनी प्रबल होंगी कि बलदेव को कमजोर कर देंगी लेकिन ठीक उसी समय बलदेव को बल देने के लिए संसार के सबसे श्रेष्ठ और शक्तिशाली अवतार कल की सहायता करेंगे यह सहयोग धर्म की जीत को सुनिश्चित करेगा।

यह महाभारत के द्वापर युग की तरह होगा जहां अधर्म का अंत और धर्म की स्थापना हुई थी। बलदेव के नेतृत्व में यह युद्ध अधर्म को समाप्त करेगा और धर्म की स्थापना करेगा। यह संघर्ष न केवल भारत बल्कि पूरे विश्व के लिए महत्वपूर्ण होगा क्योंकि यह धर्म और अधर्म की अंतिम लड़ाई के रूप में देखा जाएगा।

बलदेव की इस विजय के साथ भविष्य मालिका की भविष्यवाणी सत्य सिद्ध होगी और भारत एक नए युग की शुरुआत करेगा जहां धर्म का शासन होगा और अधर्म का अंत होगा।

Google NewsFacebook
WhatsAppTelegram
हमारी नये पोस्ट को सबसे पहले देखने के लिए Chrome ब्राउज़र के ऊपर दाईं ओर तीन डॉट वाले मेनू पर टैप करें और फिर मेनू में नीचे स्क्रॉल करें जहाँ आपको मेनू के नीचे ‘Follow’ पर टैप करें व हमारी वेबसाइट को फॉलो करें। बस एक बार हमें फॉलो करों हमारी सारी न्यूज़ आप तक अपने आप पहुँच जायगी!

Disclaimer: यहां प्रदान की गई जानकारी केवल धार्मिक मान्यताओं और भविष्य मालिका की भविष्यवाणी पर आधारित है प्रस्तुत जानकारी का उद्देश्य केवल जानकारी और मनोरंजन प्रदान करना है न कि किसी प्रकार की धार्मिक, राजनीतिक या सामाजिक मान्यताओं को बढ़ावा देना या समर्थन करना। NewsMeto किसी भी जानकारी या मान्यता की पुष्टि नहीं करता है। पाठकों से अनुरोध है कि वे इन जानकारी को अपनी व्यक्तिगत विवेक और विचारधारा के अनुसार ग्रहण करें।

NewsMeto
Logo