मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री कौन हैं जानिये

मध्यप्रदेश मुख्य रूप से अपने पर्यटन स्थलों की वजह से जाना जाता हैं इसलिए यहाँ करोडो की संख्या में सैलानी घुमने आते हैं यहाँ के मंदिर आकर्षण का केंद्र हैं और प्रत्येक राज्य की तरह यहाँ हर पांच साल के बाद चुनाव के जरिये मुख्यमंत्री चुना जाता है इसलिए कई महापुरुष मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री बन चुके है लेक़िन क्या आप जानते हैं वर्तमान में मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री कौन हैं? 

मध्यप्रदेश में खजुराहो के मंदिर, भीमबेटका गुफ्फा, महाकालेश्वर मंदिर आदि दर्शनीय स्थल हैं यह चंदेरी सिल्क के लिए भी प्रसिद्ध हैं और यह 1 नवम्बर 2000 तक क्षेत्रफल के आधार पर सबसे बड़ा राज्य हुआ करता था मध्यप्रदेश राज्य में कुल 61 जिले हैं।

mukhyamantri kaun hai Hindi me

प्रत्येक राज्य की तरह हर पांच साल के बाद चुनाव के जरिये मुख्यमंत्री चुना जाता हैं इसलिए कई महापुरुष मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री पद पर आश्रित हुए हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि वर्तमान समय में मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री कौन हैं?

क्योंकि अक़्सर सरकारी नौकरीयों की परीक्षाओं में राज्यों के मुख्यमंत्रियों के नाम पूछें जाते हैं चूँकि हर पांच साल के बाद चुनाव के द्वारा राज्य का मुख्यमंत्री चुना जाता हैं इसलिए राज्य के मुख्यमंत्री बदलतें रहते हैं जिसे अपडेट रहना पड़ता हैं।

इसलिए आज हम आपको मध्यप्रदेश के वर्तमान समय के मुख्यमंत्री से लेकर पूर्व मुख्यमंत्री तक के बारे में सम्पूर्ण जानकारी प्रदान करने वाले हैं जैसे अभी तक मध्यप्रदेश में कितने मुख्यमंत्री हुए हैं और उनके नाम क्या हैं व उन्होंने कब से कब तक पद को संभाला है इत्यादि तो चलिए जानते हैं कि आज मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री कौन हैं?

मध्यप्रदेश
राज्य की राजधानी भोपाल
गठन 1 नवम्बर 1956
क्षेत्रफल 3,08,245
जनसंख्या 7,26,26,809
सबसे बड़ा शहर इंदौर
राज्य भाषा हिंदी, मराठी

मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री कौन हैं

वर्तमान समय में मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान जी हैं जिन्हें अक्सर मामा कह कर संदर्भित किया जाता हैं। यह भारतीय जनता पार्टी से हैं और इन्होने 3 बार मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में कार्य किया हैं इनके नाम मध्यप्रदेश राज्य के सबसे लम्बे समय तक रहने वाले मुख्यमंत्री का श्रेय हैं। यह सबसे पहले 29 नवम्बर 2005 से 17 दिसम्बर 2018 तक मुख्यमंत्री पद पर रहे और उसके बाद उन्होंने 23 मार्च 2020 को दोबारा मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली।

नाम शिवराज सिंह चौहान
जन्म 5 मार्च 1959
पार्टी भारतीय जनता पार्टी

इनका जन्म मध्यप्रदेश के सेहोरे में 5 मार्च 1959 को हुआ था इनके पिता का नाम श्री प्रेम सिंह चौहान और माता का नाम श्रीमती सुन्दर बाई चौहान हैं इन्होने बरकतुल्लाह विश्वविद्यालय से एम. ए. की उपाधि ली हैं और इनकी जीवनसाथी श्रीमती साधना सिंह चौहान हैं।

शिवराज चौहान जी वर्ष 1992 से 1994 तक भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश महासचिव पद पर रहे और वर्ष 2000 से 2003 तक भारतीय जनता युवा मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे इन्हें वर्ष 2016 में सूर्योदय मानवता सेवा सन्मान अवार्ड से सम्मानित किया गया।

कमल नाथ

कमल नाथ जी भारतीय राजनीतिज्ञ हैं जो भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी से हैं और इनका मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री पद पर कार्यकाल 17 दिसम्बर 2018 से 23 मार्च 2020 तक रहा था। इनका जन्म उत्तरप्रदेश के कानपूर में 18 नवम्बर 1946 को हुआ था इन्होने कलकत्ता विश्वविद्यालय के सेंट जेवियर्स कॉलेज से स्नातक की उपाधि प्राप्त की हैं इनकी जीवनसाथी का नाम श्रीमती अलका नाथ हैं।

नाम कमल नाथ
जन्म 18 नवम्बर 1946
पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
कार्यकाल 2018 – 2020

कमल नाथ को जून 1991 में केन्द्रीय पर्यावरण और वन राज्य मंत्री के रूप में केन्द्रीय मंत्रिपरिषद में शामिल किया गया था और वर्ष 1995 से 1996 तक उन्होंने केन्द्रिय कपड़ा राज्य मंत्री के रूप में कार्य किया तथा 2001 से 2004 तक भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के महासचिव भी रहे इन्होने 22 मई 2001 से 19 जनवरी 2011 तक सड़क परिवहन मंत्री का पद भी संभाला और इसके बाद 2011 से 2014 तक शहरी विकास मंत्री के पद पर कार्य किया।

बाबूलाल गौर

बाबूलाल गौर जी भारतीय जनता पार्टी से थे और इनका जन्म 2 जून 1929 को नौगर में हुआ था जो उस समय ब्रिटिश भारत में था इन्होने 23 अगस्त 2004 से 29 नवम्बर 2005 तक मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री पद संभाला था।

नाम बाबूलाल गौर
जन्म 2 जून 1929
पार्टी भारतीय जनता पार्टी
कार्यकाल 2004 – 2005
मृत्यु 21 अगस्त 2019

यह 7 मार्च 1990 से 15 दिसम्बर 1992 तक शहरी कल्याण आवास और पुनर्वास तथा भोपाल गैस राहत और पुनर्वास मंत्री थे इनका निधन 21 अगस्त 2019 को भोपाल में हुआ था इनकी जीवनसाथी का नाम श्रीमती प्रेम देवी गौर था। 

उमा भारती

उमा भारती जी मध्यप्रदेश की पहली महिला मुख्यमंत्री हैं यह भारतीय जनता पार्टी से हैं इन्होने 8 दिसम्बर 2003 से 23 अगस्त 2004 तक मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री पद संभाला था। 

नाम उमा भारती
जन्म 3 मई 1959
पार्टी भारतीय जनता पार्टी
कार्यकाल 2003 – 2004

इनका जन्म 3 मई 1959 को मध्यप्रदेश के टीकमगढ़ में हुआ था और 1998 से 1999 तक मानव संसाधन विकास मंत्रालय में कैबिनेट राज्य मंत्री के रूप में शामिल रही उमा भारती जी 8 नवम्बर 2002 से 24 अगस्त 2002 तक युवा मामले और खेल की कैबिनेट मंत्री रही और 26 अगस्त 2002 से 21 जनवरी 2003 से कोयला एवं खदान मंत्री भी रही। 

इन्होने 26 मई 2014 से 1 सितम्बर 2017 तक जल संसाधन नदी विकास और गंगा कायाकल मंत्री के रूप में कार्य किया था और इसके बाद 3 सितम्बर 2017 को पेयजल और स्वचछता मंत्री बनी यह 20 जून 2019 से 26 सितम्बर 2020 तक भारतीय जनता पार्टी की उपाध्यक्ष रही।

दिग्विजय सिंह

दिग्विजय सिंह जी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी से संबंध रखते थे इन्होने 7 दिसम्बर 1993 से 8 दिसम्बर 2003 तक मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री पद संभाला था। 

नाम दिग्विजय सिंह
जन्म 28 फरवरी 1947
पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
कार्यकाल 1993 –  2003

इनका जन्म इंदौर में 28 फरवरी 1947 को हुआ था इनकी दो पत्नियाँ थी श्रीमती आशा दिग्विजय सिंह और श्रीमती अमृता राय और 1980 में इन्हें कृषि प्रबंधन, मतस्य पालन, पशुपालन, सिंचाई और कमांड क्षेत्र का विकास मंत्रालय में कैबिनेट मंत्री बनाया गया व 2015 में राज्य सभा की सेलेक्ट समिति के सदस्य बने थे।

मोतीलाल वोरा

मोतीलाल वोरा जी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी से थे इन्होने मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री पद दो बार संभाला था यह पहली बार मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री 13 मार्च 1985 से 13 फरवरी 1988 और दूसरी बार 25 जनवरी 1989 से 8 दिसम्बर 1989 तक रहे।

नाम मोतीलाल वोरा
जन्म 20 दिसम्बर 1928
पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
कार्यकाल 1985 – 1989 
मृत्यु 21 दिसम्बर 2020

इनका जन्म राजस्थान के निम्बी जोधा में 20 दिसम्बर 1928 को हुआ था इनके पिता का नाम श्री मोहनलाल वोरा और माता का नाम श्रीमती अंबाबाई था इन्होने अपनी शिक्षा रायपुर और कोलकाता से ग्रहण की थी इनकी जीवनसाथी का नाम श्रीमती शांति देवी वोरा था। 

वोरा जी वर्ष 1970 में राज्य सड़क परिवहन निगम के उपाध्यक्ष बने थे और इसके बाद वर्ष 1980 में उन्होंने शिक्षा विभाग संभाला था मुख्यमंत्री के पद से हटने के बाद उन्होंने 14 फरवरी 1988 में केंद्र के स्वास्थ्य परिवार कल्याण और नागरिक उड्डयन मंत्रालय का कार्यभार संभाला था।

उसके बाद उन्होंने 26 मई 1993 से 3 मई 1996 तक उत्तरप्रदेश के राज्यपाल के पद पर कार्य किया था। 22 मार्च 2002 को वह एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक बने थे इनकी मृत्यु 21 दिसम्बर 2020 को महामारी कोविड-19 के कारण दिल्ली में हुई थी।

अर्जुन सिंह

अर्जुन सिंह जी मध्यप्रदेश के 12वें मुख्यमंत्री थे जोकि भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस से थे इन्होने भी मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री पद दो बार संभाला था इनका पहला कार्यकाल 8 जून 1980 से 10 मार्च 1985 और दूसरा कार्यकाल 14 फरवरी 1988 से 24 जनवरी 1989 तक रहा था।

नाम अर्जुन सिंह
जन्म 5 नवम्बर 1930
पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
कार्यकाल 1980 – 1985
1988 – 1989
मृत्यु 4 मार्च 2011

इनका जन्म चुरहट में 5 नवम्बर 1930 को हुआ था इनके पिता का नाम श्री शिव बहादुर सिंह और माता का नाम श्रीमती सरोज देवी था इन्होने डॉ भीमराव आंबेडकर यूनिवर्सिटी से अपनी शिक्षा पूरी की थी इनकी जीवनसाथी का नाम श्रीमती सरोज कुमारी था। 

यह सितम्बर 1963 से दिसम्बर 1967 तक कृषि, सामान्य प्रशासन विभाग और सूचना और जनसंपर्क के मंत्री पद पर रहे वर्ष 1985 में यह पंजाब के राज्यपाल पद पर रहे और जून 1991 से दिसम्बर 1994 तक मानव संसाधन विकास मंत्री के पद को संभाला था। 2004 से 2009 तक मानव संसाधन विकास मंत्री के पद पर रहे थे इन्हें वर्ष 2000 में उत्कृष्ट सांसद पुरुस्कार से सम्मानित किया गया इनकी मृत्यु 4 मार्च 2011 को नयी दिल्ली में हार्ट अटैक के कारण हुई थी। 

सुंदर लाल पटवा

सुंदर लाल पटवा जी भारतीय जनता पार्टी से थे इन्होने मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री के रूप में दो बार- 20 जनवरी 1980 से 17 फरवरी 1980 और 5 मार्च 1990 से 15 दिसम्बर 1992 तक कार्य किया था।

नाम सुंदर लाल पटवा
जन्म 11 नवम्बर 1924
पार्टी भारतीय जनता पार्टी
कार्यकाल 1980
19901992
मृत्यु 28 दिसम्बर 2016

इनका जन्म मध्यप्रदेश के मंदसौर में 11 नवम्बर 1924 को हुआ था यह 13 अक्टूबर 1999 से 30 सितम्बर 2000 तक केन्द्रीय ग्रामीण विकास मंत्री के पद पर रहे और 30 सितम्बर 2000 से 7 नवम्बर 2000 तक केन्द्रीय रसायक और उर्वरक मंत्री रहे। 

पटवा जी 7 नवम्बर 2000 से 1 सितम्बर 2001 तक केन्द्रीय खनन मंत्री के पद पर रहे इन्हें वर्ष 2017 में भारत सरकार के द्वारा पद्मा विभूषण से सम्मानित किया गया था और इनकी मृत्यु 28 दिसम्बर 2016 को हार्ट अटैक के कारण भोपाल में हुई थी।

वीरेंदर कुमार सक्लेचा

वीरेंदर कुमार सक्लेचा जी भारतीय जनता पार्टी से थे और इन्होने मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री पद 18 जनवरी 1978 से 19 जनवरी 1980 तक संभाला था।

नाम वीरेंदर कुमार सक्लेचा
जन्म 4 मार्च 1930
पार्टी भारतीय जनता पार्टी
कार्यकाल 1978 – 1980
मृत्यु 31 मई 1999

इनका जन्म मंदसौर जो उस समय ब्रिटिश भारत में था में 4 मार्च 1930 को हुआ था इनकी जीवनसाथी का नाम श्रीमती चेतना देवी सक्लेचा था तथा सक्लेचा जी 30 जुलाई 1967 से 12 मार्च 1969 तक मध्यप्रदेश के उपमुख्यमंत्री के पद पर कार्यरत रहे थे इनकी मृत्यु भोपाल में 31 मई 1999 में हुई थी।

कैलाश चन्द्र जोशी

कैलाश चन्द्र जोशी जी मध्यप्रदेश के 9वे मुख्यमंत्री थे जोकि भारतीय जनता पार्टी से थे और यह मध्यप्रदेश के पहले गैर कांग्रेसी मुख्यमंत्री बने थे यह 24 जून 1977 से 17 जनवरी 1978 तक मुख्यमंत्री पद पर रहे थे।

नाम कैलाश चन्द्र जोशी
जन्म 14 जुलाई 1929
पार्टी भारतीय जनता पार्टी
कार्यकाल 1977 – 1978
मृत्यु 24 नवम्बर 2019

इनका जन्म हथपिप्लिया में 14 जुलाई 1929 को हुआ था इनकी जीवनसाथी का नाम श्रीमती तारा जोशी था इनके 3 बेटे और 3 बेटियाँ हैं। वर्ष 1951 में यह जनसंघ के संस्थापक सदस्य रहे थे और वर्ष 1954 से 1960 तक इन्होने देवास जिले में जनसंघ के मंत्री के रूप में कार्य किया इनकी मृत्यु 24 नवम्बर 2019 को भोपाल में हुई थी।

प्रकाश चन्द्र सेठी

प्रकाश चन्द्र सेठी जी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस से थे यह मध्यप्रदेश के दो बार मुख्यमंत्री रहे इन्होने 29 जनवरी 1972 से 22 दिसम्बर 1975 तक मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री पद संभाला था। 

नाम प्रकाश चन्द्र सेठी
जन्म 19 अक्टूबर 1920
पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
कार्यकाल 1972 – 1975
मृत्यु 1996

इनका जन्म झालरापाटन में 19 अक्टूबर 1920 को हुआ था इन्होने वर्ष 1949 से 1952 तक मध्य भारत इंटक के उपाध्यक्ष पद का कार्यभार संभाला था और वर्ष 1951 में अखिल भारतीय कांग्रेस समिति के सदस्य बने।

यह जून 1962 से मार्च 1967 तक केन्द्रीय उपमंत्री भी रहे थे और इसके बाद 26 अप्रैल 1968 से 23 फरवरी 1969 से इस्पात, खान और धान्तु मंत्रालय के स्वतंत्र प्रभारी मंत्री रहे उनके द्वारा 14 फरवरी 1969 को वित्त मंत्रालय में राजस्व तथा व्यय मंत्री के पद को संभाला गया इन्होने वर्ष 1982 से 1984 तक गृह मामलो के मंत्री के रूप में कार्य किया और 27 जून 1970 को वह प्रतिरक्षा उत्पादन मंत्री बने और उसके बाद पेट्रोलियम और रसायन राज्य मंत्री रहे।

श्यामा चरण शुक्ल

श्यामा चरण शुक्ल जी मध्यप्रदेश के पहले मुख्यमंत्री पंडित रवि शंकर शुक्ल जी के बेटे थे यह भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी से थे और मध्यप्रदेश के तीन बार मुख्यमंत्री बने थे। इनका पहला कार्यकाल 26 मार्च 1969 से 28 जनवरी 1972 और दूसरा कार्यकाल 23 दिसम्बर 1975 से 30 अप्रैल 1977 और तीसरा कार्यकाल 9 दिसम्बर 1989 से 1 मार्च 1990 तक रहा था। 

नाम श्यामा चरण शुक्ल
जन्म 27 फरवरी 1925
पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
कार्यकाल 1969 – 1990
मृत्यु 14 फरवरी 2007

नरेश चन्द्र सिंह

नरेश चन्द्र सिंह जी राज घराने से सम्बंध रखते थे और यह आदिवासी जाति से थे व भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी से थे इन्होने 13 मार्च 1969 से 25 मार्च 1969 तक मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री पद संभाला था और इनका कार्यकाल केवल 13 दिन तक का था।

नाम नरेश चन्द्र सिंह
जन्म 21 नवम्बर 1908
पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
कार्यकाल 1969
मृत्यु 11 सितम्बर 1987

इनका जन्म छत्तीसगढ़ में 21 नवम्बर 1908 को हुआ था इनके पिता का नाम श्री जवाहीरसिंह था जोकि रियासतदार थे और अपने पिता की मृत्यु के बाद इन्होने उनके पद को संभाला और 1 जनवरी 1948 को अपने राज्य का विलय भारतीय संघ में कर दिया और कांग्रेस पार्टी से जुड़ गए इनकी जीवनसाथी श्रीमती ललिता देवी था और 1 बेटा और 3 बेटियाँ थी इनकी मृत्यु 11 सितम्बर 1987 में हुई थी ।

गोविन्द नारायण सिंह

गोविन्द नारायण सिंह जी विन्ध्य प्रदेश के प्रथम मुख्यमंत्री अवदेश प्रताप सिंह के पुत्र थे और यह भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी से सम्बंध रखते थे तथा 30 जुलाई 1967 से 12 मार्च 1969 तक मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री पद संभाला था। 

नाम गोविन्द नारायण सिंह
जन्म 25 जुलाई 1920
पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
कार्यकाल 1967 -1969
मृत्यु 10 मई 2005

इनका जन्म ब्रिटिश भारत के रामपुर बघेल में 25 जुलाई 1920 को हुआ था इनकी जीवनसाथी का नाम श्रीमती पद्यावती देवी था व 5 बेटे और 1 बेटी हैं वर्ष 1941 में इन्हें क्रांतिकारी गतिविधियों में शामिल होने की वजह से नज़रबंद कर दिया गया था और इन्होने वर्ष 1942 से 1944 तक कारावास काटा था। 

नारायण सिंह जी वर्ष 1948 में भारतीय प्रशासन सेवा के लिए चुने गए और असिस्टेंट रीजनल कमिश्नर के पद पर नियुक्त हुए परन्तु दुसरे ही दिन इस्तीफा दे दिया तथा वर्ष 1953 से 1957 तक विंध्यप्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष रहे यह 26 फरवरी 1988 से 24 जनवरी 1989 तक बिहार के राज्यपाल रहे इनकी मृत्यु 10 मई 2005 में हुई थी।

द्वारका प्रसाद मिश्रा

द्वारका प्रसाद मिश्रा जी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस थे इन्होने मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री के रूप में दो बार कार्य किया इनका सबसे पहला कार्यकाल 30 सितम्बर 1963 से 8 मार्च 1967 तक और दूसरा कार्यकाल 9 मार्च 1967 से 29 जुलाई 1967 तक रहा।

नाम द्वारका प्रसाद मिश्रा
जन्म 5 अगस्त 1901
पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
कार्यकाल 1963 – 1967
मृत्यु 5 मई 1988

इनका जन्म उत्तरप्रदेश के उन्नाव में 5 अगस्त 1901 को हुआ था और यह ब्राह्मण परिवार से संबंध रखते थे इनके पिता का नाम श्री पंडित अयोध्या प्रसाद और माता का नाम श्रीमती रमा देवी था। 1920 में स्वतंत्रता संग्राम में भाग लिया था और असहयोग आन्दोलन से जुड़ गए थे यह साहित्यकार, कवि और पत्रकार भी थे और इन्होने वर्ष 1942 में जेल में रहते हुए महाकाव्य ‘कृष्णायन’ की रचना की थी। 

इसके बाद उन्होंने वर्ष 1921 में ‘श्री शारदा’ मासिक, वर्ष 1931 में ‘दैनिक लोकमत’ और वर्ष 1947 में साप्ताहिक ‘सारथी’ का संपादन किया था इन्होने अंग्रेजी में अपनी आत्मकथा ‘लिविंग ऍन एरा’ लिखी थी और ‘स्टडीज इन ड प्रोटो हिस्ट्री ऑफ़ इंडिया’ और ‘सर्च ऑफ़ लंका’ जैसे एतिहासिक शोध ग्रन्थ भीं इनके द्वारा लिखे गए इनकी मृत्यु 5 मई 1988 को दिल्ली में हुई थी।

कैलाश नाथ काटजू

कैलाश नाथ काटजू जी ने भारत के स्वतंत्रता संग्राम में सक्रीय रूप से भाग लिया था जोकि कश्मीरी मूल के थे और यह भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी से थे इन्होने मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री पद 31 जनवरी 1957 से 11 मार्च 1962 तक संभाला था।

नाम कैलाश नाथ काटजू
जन्म 17 जून 1887
पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
कार्यकाल 19571962
मृत्यु 17 फरवरी 1968

इनका जन्म मध्यप्रदेश के जाओरा में 17 जून 1887 को हुआ था इनके पिता का नाम श्री पंडित त्रिभुवननाथ काटजू था इनकी जीवनसाथी का नाम श्रीमती रूप किशोरी था इनकी मृत्यु उत्तरप्रदेश के प्रयागराज में 17 फरवरी 1968 में हुई थी।

काटजू जी लेखक भी थे और इनके द्वारा ‘माई पैरेंट्स’ और ‘रेमिनिसेंसेज एंड एक्सपेरिमेंट्स इन एडवोकेसी’ पुस्तके लिखी गयी तथा वर्ष 1937 से 1939 और 1946 से 1947 तक यह उत्तरप्रदेश न्याय उद्योग और विकास मंत्री के पद पर रहे इसके बाद 5 नवम्बर 1951 से 13 मई 1952 तक गृह और विधि कैबिनेट मंत्री रहे।

13 मई 1950 से 10 जनवरी 1955 तक यह गृह और राज्य मंत्री के पद पर रहे और उसके बाद 30 जनवरी 1957 तक रक्षा मंत्री का पद संभाला व काटजू जी ने अगस्त 1947 से जून 1948 तक उड़ीसा के राज्यपाल के पद पर कार्य किया और इसके पश्चात वर्ष 1948 से 1951 तक पश्चिम बंगाल के राज्यपाल का पद संभाला ।

भगवंतराव मंडलोई

भगवंतराव मंडलोई जी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी से थे इन्होने मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री पद पर दो बार कार्य किया था  सबसे पहले उन्होंने 1 जनवरी 1957 से 30 जनवरी 1957 और दूसरी बार 12 मार्च 1962 से 29 सितम्बर 1963 तक कार्य किया और 1970 में इन्हें राष्ट्रपति के द्वारा पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था।

नाम भगवंतराव मंडलोई
जन्म 15 दिसम्बर 1892
पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
कार्यकाल 1957
1962 -1963
मृत्यु 3 नवम्बर 1977

इनका जन्म ब्रिटिश भारत के खंडवा में 15 दिसम्बर 1892 को हुआ था इनके पिता का नाम श्री पंडित अन्नाभाऊ मंडलोई और माताका नाम श्रीमती नत्थूबाई मंडलोई था इन्होने वर्ष 1917 में वकालत शुरू की थी और 1939 के व्यक्तिगत सत्याग्रह व 1942 के भारत छोड़ो आन्दोलन में सक्रीय रूप से भाग लिया था इनकी मृत्यु 3 नवम्बर 1977 में हुई थी।

रविशंकर शुक्ल

रविशंकर शुक्ला जी स्वतंत्रता सेनानी थे इन्होने राष्ट्रीय आन्दोलन में सक्रीय भूमिका निभाई थी तथा इन्हें मध्यप्रदेश का पुरोधा के रूप में याद किया जाता हैं साथ ही इन्हें मध्यप्रदेश के पहले मुख्यमंत्री बनने का गौरव प्राप्त हैं और यह भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी से थे।  

नाम रविशंकर शुक्ला
जन्म 2 अगस्त 1877
पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
कार्यकाल 1947 – 1956
मृत्यु 31 दिसम्बर 1956

इन्होने 15 अगस्त 1947 से 31 दिसम्बर 1956 तक मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री पद संभाला था और इन्हें 1 नवम्बर 1956 को जब मध्यप्रदेश का गठन हुआ तब प्रथम संस्थापक मुख्यमंत्री बनने का सौभाग्य मिला। इनका जन्म ब्रिटिश भारत के सागर (मध्यप्रदेश) में 2 अगस्त 1877 को हुआ था इनके पिता का नाम श्री पंडित जगन्नाथ शुक्ल और माता का नाम श्रीमती तुलसी देवी था तथा जीवनसाथी का नाम श्रीमती भवानी देवी शुक्ला था। 

दिल्ली के संसद भवन के परिसर में रविशंकर शुक्ल जी की प्रतिमा लगी हुई हैं साथ ही रायपुर में स्थित विश्वविद्यालय का नाम पंडित रविशंकर शुक्ल के नाम पर हैं इनकी मृत्यु 31 दिसम्बर 1956 को नई दिल्ली में हुई थी।

>भारत का प्रधानमंत्री कौन हैं
>भारत के राष्ट्रपति कौन हैं
>भारत के सबसे अमीर आदमीं की लिस्ट
>भारत में कुल कितने राज्य है
>दुनिया मे कितने देश है

तो दोस्तों आज हमनें आपकों मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री कौन हैं औऱ अब से कब तक मध्यप्रदेश में कौन-कौन मुख्यमंत्री रहें है उन सबकी जानकारी प्रदान की गई हैं जोकि सामान्य ज्ञान व सरकारी नौकरीयों की परीक्षाओं रखने वाले लोगों के लिए बेहद मदतगार रही होंगी।

क्योंकि हमनें आपको मध्यप्रदेश राज्य के आज तक के सभी मुख्यमंत्रियों के नाम तथा उनका कार्यकाल कितने समय का था सभी की जानकारी प्रदान की हैं चलिये एक नज़र मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्रियों की लिस्ट पर डालते हैं।

All MadhyaPradesh CM List

मुख्यमंत्री कब से कब तक
रविशंकर शुक्ला 1947 – 1956
भगवंतराव मंडलोई 1962 -1963
कैलाश नाथ 19571962
द्वारका प्रसाद मिश्रा 1963 – 1967
गोविन्द नारायण सिंह 1967 -1969
नरेश चन्द्र सिंह 1969
श्यामा चरण शुक्ल 1969 – 1990
प्रकाश चन्द्र सेठी 1972 – 1975
कैलाश चन्द्र जोशी 1977 – 1978
वीरेंदर कुमार सखलेचा 1978 – 1980
सुंदर लाल पटवा 19901992
अर्जुन सिंह 1980 – 1985
1988 – 1989
मोतीलाल वोरा 1985 – 1989
दिग्विजय सिंह 1993 –  2003
उमा भारती 2003 – 2004
बाबूलाल गौर 2004 – 2005
कमल नाथ 2018 – 2020
शिवराज सिंह चौहान वर्तमान

सवाल-जवाब मध्यप्रदेश मुख्यमंत्री

Q- मध्यप्रदेश का वर्तमान मुख्यमंत्री कौन हैं?

Ans- शिवराज सिंह चौहान

Q- मध्यप्रदेश का पहला मुख्यमंत्री कौन था?

Ans- रविशंकर शुक्ला

Q- मध्यप्रदेश के किस मुख्यमंत्री की मृत्यु अपने कार्यकाल के समय हुई थी?

Ans- रविशंकर शुक्ला

Q- मध्यप्रदेश में किस मुख्यमंत्री का कार्यकाल सबसे कम समय का था?

Ans- नरेश चन्द्र सिंह

Q- मध्यप्रदेश में किस मुख्यमंत्री का कार्यकाल सबसे कम समय का था?

Ans- शिवराज सिंह चौहान

Q- मध्यप्रदेश की पहली महिला मुख्यमंत्री कौन थी?

Ans- उमा भारती

Q- मध्यप्रदेश के किस मुख्यमंत्री को सूर्योदय मानवता सेवा सन्मान अवार्ड से सम्मानित किया गया था?

Ans- शिवराज सिंह चौहान

Q- किस मुख्यमंत्री के द्वारा महाकाव्य ‘कृष्णायन’ की रचना की गई?

Ans- द्वारका प्रसाद मिश्रा

Q- मध्यप्रदेश के किस मुख्यमंत्री को पद्मा विभूषण से सम्मानित किया गया था?

Ans- सुंदर लाल पटवा

Q- मध्यप्रदेश में पहले गैर कांग्रेसी मुख्यमंत्री कौन बना था?

Ans- कैलाश चन्द्र जोशी

Q- मध्यप्रदेश का सी एम कौन हैं?

Ans- शिवराज सिंह चौहान

हम उमीद करते है कि आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया होगा औऱ अगर पसंद आया है तो इसे अपने सभी दोस्तों के साथ जरूर Share करें तथा आपके कोई सवाल जवाब है तो हमने कमेंट बॉक्स के माध्यम से जरूर बतायें।

हर जानकारी अपनी भाषा हिंदी में सरल शब्दों में प्राप्त करने के हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे जहाँ आपको सही बात पूरी जानकारी के साथ प्रदान की जाती है हमारे फेसबुक पेज को लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.