Business Full Form: Business का मतलब क्या हैं?

आज हम आपको Business का full form क्या है और Business शब्द का किन-किन क्षेत्रों में इस्तेमाल किया जाता है साथ ही अलग-अलग जगहों पर Business full form मतलब क्या हैं इसके बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी प्रदान करेंगे।

आज के इस युग में हर कोई अपना बिज़नेस करना चाहता है क्योकि बिजनेसमैन अपना खुद का मालिक होता है और हर कोई दुसरो के लिए काम करने की बजाए अपना काम करना पसंद करता है हालांकि बहुत से लोग नहीं जानते हैं कि Business का पूरा नाम या फिर कहे फुल फॉर्म क्या होता है और वास्तव में इसका क्या अर्थ है।

चाहे आप एक बिज़नेस के मालिक हों या फिर ग्राहक हों या फिर केवल Business का full form के बारे में जाना चाहते हो, चाहे आप किसी भी संदर्भ में Busines फुल फॉर्म जानना चाहते हो हम आपको विभिन्न क्षेत्रों में संभावित अर्थ और उनके महत्व की जानकारी प्रदान करेंगे।

Business Full Form Kya Hai Hindi

Business का Full Form क्या है?


Business जिसे हिंदी में व्यवसाय कहते है हालांकि Business एक ऐसा शब्द है जिसका उपयोग विभिन्न संदर्भों में किया जाता है और इसका अर्थ उस संदर्भ के आधार पर भिन्न हो सकता है जिसमें इसका उपयोग किया जाता है लेकिन सामान्यतया Business का Full Form- “Best Upcoming Startup Invented not affected by Society & Success” निकला जाता है।

BBest
UUpcoming
SStartup
IInvented
NNot
EEffected By
SSociety
SSuccess

इसके इलावा एक और Busines का Full Form निकला जाता है जो Busines- “Basic Utility Service Involving Numerous Entrepreneurial Skills” है हालांकि कुछ लोगो का तर्क है की बिज़नेस एक ऐसा शब्द है जिसका कोई शार्ट फॉर्म नहीं है बल्कि बिज़नेस एक अकेला शब्द है।

BBasic
UUtility
SService
IInvolving
NNumerous
EEntrepreneurial
SSkills

बिज़नेस लाभ कमाने के उद्देश्य से वस्तुओं या सेवाओं की खरीददारी व बिक्री करना है जिसको बिज़नेस में पुनर्निवेश किया जा सकता है या फिर बिज़नेस सहयोगियोगीयो में बाटा जा सके।

“Business” का पूर्ण रूप “Busy-ness” है जोकि पुराने अंग्रेजी शब्द “Bisignes” से लिया गया है जिसका अर्थ है “चिंता” या “देखभाल” जोकि इस बात को बताता है की बिज़नेस गतिविधियाँ अक्सर तनावपूर्ण होती हैं और इसके लिए बहुत अधिक प्रयास और मेहनत करने की आवश्यकता होती है।

एक बिज़नेस की सफलता विभिन्न कारकों से निर्धारित होती है जिसमें समाज की जरूरतों और मांगों को पूरा करने की क्षमता, बाजार में बदलाव के अनुकूल होना और अन्य व्यवसायों के साथ प्रतिस्पर्धा करना शामिल है।

इसके अलावा, एक बिज़नेस की सफलता केवल आविष्कार से ही निर्धारित नहीं होती है बल्कि बिज़नेस की सफलता निर्धारित करने में मार्केटिंग, फंडिंग और प्रबंधन जैसे कारक भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

कुल मिलकर एक बिज़नेस जो ग्राहकों को वस्तुओं या सेवाओं के उत्पादन और बिक्री के उद्देश्य से किया जाता है। एक बिज़नेस का मालिकाना हक किसी व्यक्ति या लोगों के समूह के पास हो सकता है हम आपको दे की एक बिज़नेस कानूनी रूप से प्रोपराइटरशिप, पार्टनरशिप और कॉर्पोरेशन के रूप में काम करता है और प्रत्येक के अपने फायदे और नुकसान होते है।

Proprietorship: प्रोपराइटरशिप बिज़नेस का सबसे सरल और सबसे आम रूप है जहां एक ही व्यक्ति बिज़नेस का मालिक होता है और उसको चलता है तथा मालिक का बिज़नेस पर पूर्ण नियंत्रण होता है और वह अपने ऋण और देनदारियों के लिए जिम्मेदारी होता है।

Partnership: पार्टनरशिप बिज़नेस में दो या दो से अधिक व्यक्तियों के पास बिज़नेस का मालिकाना हक होता है जो बिज़नेस के लाभ और हानि को साझा करते हैं।

Corporation: कारपोरेशन एक कानूनी इकाई है जो अपने कानूनी अधिकारों और जिम्मेदारियों के साथ काम करता है तथा कारपोरेशन नियमों और औपचारिकताओं के अधीन होता हैं जिसमे गठन और प्रबंधन की प्रक्रिया जटिल और महंगी होती है।

All Business Full Form List


Business का उपयोग कई अलग-अलग संदर्भों और उद्योगों में किया जा जाता है इसलिए Business अलग-अलग संभावित अर्थ हो सकते हैं बिज़नेस क्षेत्रों में उपयोग किए जाने वाले कई शब्द हैं लेकिन आमतौर पर जो इस्तेमाल किये जाते है उनके बारे में जानते है।

B2B – Business-to-Business
B2C – Business-to-Consumer
ROI – Return on Investment
KPI – Key Performance Indicator
IPO – Initial Public Offering
CRM – Customer Relationship Management
ERP – Enterprise Resource Planning
HR – Human Resources
PR – Public Relations
SEO – Search Engine Optimization
SEM – Search Engine Marketing
PPC – Pay-per-Click
CTR – Click-through Rate
CPM – Cost per Thousand Impressions
CPA – Cost per Action
GDP – Gross Domestic Product
P&L – Profit and Loss
USP – Unique Selling Proposition.

COO – Chief Operating Officer
CFO – Chief Financial Officer
CMO – Chief Marketing Officer
CEO – Chief Executive Officer
CIO – Chief Information Officer
CTO – Chief Technology Officer
CSO – Chief Security Officer
ROI – Return on Investment
SaaS – Software as a Service
PaaS – Platform as a Service
IaaS – Infrastructure as a Service
MVP – Minimum Viable Product
UI – User Interface
UX – User Experience
JIT – Just in Time
TQM – Total Quality Management
MRP – Material Requirements Planning

SCM – Supply Chain Management
POS – Point of Sale
SMB – Small and Medium-sized Business
SME – Small and Medium-sized Enterprise
BPO – Business Process Outsourcing
CAGR – Compound Annual Growth Rate
CAC – Customer Acquisition Cost
CLV – Customer Lifetime Value
M&A – Mergers and Acquisitions
ROI – Return on Investment
CTA – Call to Action
RFP – Request for Proposal
RFI – Request for Information
NDA – Non-Disclosure Agreement
MVP – Most Valuable Player
CSR – Corporate Social Responsibility
BOD – Board of Directors
NPS – Net Promoter Score
PPC – Pay-per-Click
ARPU – Average Revenue Per User

SOP – Standard Operating Procedure
ROI – Return on Investment
AI – Artificial Intelligence
ML – Machine Learning
BI – Business Intelligence
CI – Competitive Intelligence
CRM – Customer Relationship Management
D2C – Direct-to-Consumer
FTE – Full-Time Equivalent
IPO – Initial Public Offering
KRA – Key Result Area
KPI – Key Performance Indicator
NPS – Net Promoter Score
OKR – Objectives and Key Results
ROI – Return on Investment
RPA – Robotic Process Automation
SOW – Statement of Work

TCO – Total Cost of Ownership
UAT – User Acceptance Testing
UX – User Experience
VC – Venture Capital
WIP – Work in Progress
WMS – Warehouse Management System
OPEX – Operating Expenses
CAPEX – Capital Expenditures
SFA – Sales Force Automation
SLA – Service Level Agreement
BCP – Business Continuity Planning
CMS – Content Management System
CPQ – Configure Price Quote
DRR – Daily Revenue Report
LTV – Lifetime Value
R&D – Research and Development
CTR – Click-through Rate
A/B Testing – Split Testing
P/L – Profit and Loss

SCM – Supply Chain Management
POS – Point of Sale
SMB – Small and Medium-sized Business
SME – Small and Medium-sized Enterprise
BPO – Business Process Outsourcing
CAGR – Compound Annual Growth Rate
CAC – Customer Acquisition Cost
CLV – Customer Lifetime Value
M&A – Mergers and Acquisitions
ROI – Return on Investment
CTA – Call to Action
RFP – Request for Proposal
RFI – Request for Information
NDA – Non-Disclosure Agreement
MVP – Most Valuable Player
CSR – Corporate Social Responsibility
BOD – Board of Directors
NPS – Net Promoter Score
PPC – Pay-per-Click
ARPU – Average Revenue Per User

Business के फ़ायदे


1. एक सफल बिज़नेस चलाने का मुख्य लाभ है की आप इसे आप बहुत सारा पैसा कमा सकते है इसमें पैसा कमाने की कोई लिमिट नहीं होती है।

2. एक बिज़नेस मालिक अपना काम कब-कैसे-क्यों करना है इसके लिए स्वतंत्रता होता है।

3. बिज़नेस पूरी तरह से आपके कण्ट्रोल में होता है इसलिए आपको अपने निर्णय लेने और अपने भाग्य बनाए की पूरी स्वतंत्रता होती है।

4. बिज़नेस की सबसे अच्छी बात है की आपको 9-to-5 नौकरी की नहीं करनी पड़ती बल्कि आप अपना शेड्यूल अपने आप सेट कर सकते हैं और कहीं से भी काम कर सकते हैं।

5. एक बिज़नेस शुरू करके आप रोजगार पैदा करने और लोगो को नौकरी देने की क्षमता होती है।

6. बिसनेस करने वाले व्यक्ति अक्सर रचनात्मक और अभिनव होते है जिसे वह अपने बिज़नेस में नए उत्पाद, सेवाएं और समाधान खोजते हैं।

7. बिज़नेस करने वालो को टेक्स्ट में लाभ और कटौती भी मिलती हैं।

Businesse Full Form Hindi में क्या है?

– “Business” का हिंदी में पूरा नाम “व्यापार” होता है।

Businesse Full Form English में क्या है?

– “Businesse” का कोई Full Form नहीं है यह एक पूर्ण शब्द है जिसका उपयोग एक वाणिज्यिक, औद्योगिक या पेशेवर गतिविधि को संदर्भित करने के लिए किया जाता है।

CM Business Full Form क्या है?

– RCM Business का का Full Form- Right Concept Marketing Business (राइट कॉन्सेप्ट मार्केटिंग बिजनेस) है तथा RCM Business एक मल्टी-लेवल मार्केटिंग (MLM) कंपनी है जो हेल्थ सप्लीमेंट्स, पर्सनल केयर प्रोडक्ट्स और घरेलू सामान सहित कई तरह के उपभोक्ता उत्पाद बेचती है।

MSC International Business full form क्या है?

– MSC International Business का Full Form “Master of Science in International Business” (मास्टर ऑफ साइंस इन इंटरनेशनल बिजनेस) है तथा यह एक स्नातकोत्तर डिग्री प्रोग्राम है जो वैश्विक व्यापार और वाणिज्य के अध्ययन पर केंद्रित है। कार्यक्रम में आमतौर पर अंतर्राष्ट्रीय विपणन, अंतर्राष्ट्रीय वित्त, वैश्विक व्यापार, क्रॉस-सांस्कृतिक प्रबंधन और अंतर्राष्ट्रीय अर्थशास्त्र जैसे विषय शामिल हैं।

MD Business full form क्या है?

– Business में MD का Full Form है- “Managing Director” (प्रबंध निदेशक) जो प्रबंध निदेशक एक कंपनी में सबसे वरिष्ठ कार्यकारी होता है और संगठन के दिन-प्रतिदिन के संचालन और रणनीतिक दिशा की देखरेख करते है। MD को आमतौर पर निदेशक मंडल द्वारा नियुक्त किया जाता है और बोर्ड की मंजूरी के अधीन कंपनी की ओर से निर्णय लेने का अधिकार होता है।

तो दोस्तों अब हम उम्मीद करते हैं कि अब आप जान चुके होंगे कि Business का Full Form क्या है और साथ ही साथ बिज़नेस क्षेत्रों में उपयोग किए जाने वाले कई शब्द हैं जो इस्तेमाल किये जाते है उनके बारे में भी जानकारी प्रदान की है।

चाहे आप किसी भी फील्ड में हो जैसे खेल, बिज़नेस, कानून, इकनोमिक, स्कूल, मेडिकल, कंप्यूटर औऱ विज्ञान इत्यादि हमने बिज़नेस क्षेत्रों में उपयोग किए जाने वाले सभी शब्द की फुल फॉर्म के बारे में लिस्ट प्रदान की है लेकिन अगर फिर भी कोई फुल फॉर्म इस आर्टिकल में नहीं है तो आप हमें कमेंट बॉक्स के माध्यम से जानकारी प्रदान कर सकते हैं हम उसे अपने आर्टिकल में जल्दी से जल्दी अपडेट करेंगे।

लेकिन अगर फिर भी आपकी इंडस्ट्रीज का फुल फॉर्म इस आर्टिकल में नहीं है तो आप हमें कमेंट बॉक्स के माध्यम से जानकारी प्रदान कर सकते हैं हम उसे अपने आर्टिकल में जल्दी से जल्दी अपडेट करेंगे।

हर जानकारी अपनी भाषा हिंदी में सरल शब्दों में प्राप्त करने के हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे जहाँ आपको सही बात पूरी जानकारी के साथ प्रदान की जाती है हमारे फेसबुक पेज को लाइक करे लाइक करने के लिए यहाँ क्लिक करे और साथ ही टेलीग्राम चैनल को भी ज्वाइन करे उसके लिए यहाँ क्लिक करें